Web  hindi.cri.cn
    चूहों का बोलबाला
    2017-03-14 19:57:06 cri

    चूहों का बोलबाला 老鼠猖獗

    "चूहों का बोलबाला"कहानी को चीनी भाषा में"लाओ शू छांग च्वे"(lǎo shǔ chāng jué) कहा जाता है। इसमें"लाओ शू"चूहा है, जबकि"छांग च्वे"का अर्थ है अनियंत्रित स्थिति में आना, यहां बोलबाला कहा जाता है।

    कहा जाता है कि पुराने समय में चीन के युङ चाओ नगर में एक अंधविश्वासी आदमी रहता था। चीनी परम्परा के अनुसार उसका जन्म चूहा वर्ष में हुआ था। इसलिए वह चूहा को अपना पूज्य देवता समझता था। उसके घर में चूहा पकड़ने वाला बिल्ली नहीं पाला जाता था और चूहों को अनाज के गोदाम और रसोइघर में मनमानियां करने छोड़ा जाता था। इसी के कारण बड़ी संख्या में चूहे नगर के कोने कोने से उसके घर आ बसे।

    दिनदहाड़े चूहे झुंड के झुंड में मकानों में घूमते फिरते थे और हुंकार मचाते थे। उन्हें घर के मालिक के आगे भी घूमने खेलने की हिम्मत भी आयी थी। रात में चूहों में खाना छीनने के लिए झगड़ा भी होता था और ची-ची की आवाज से लोगों की नींद को खराब देते थे ।

    इस अंधविश्वासी आदमी के घर के सभी फर्निचरों को चूहों से बदहाल काटा गया था और अलमारियों में कपड़ों की चिथड़े ही चिथड़े पड़े नजर आते थे। यहां तक घर के तीन वक्त के खाना भी चूहों के भोजन के बाद छूटा बासी चीजें बन गए। लेकिन मालिक इस सब पर आंखें मूंद कर कुछ नहीं करता था और घर वालों को चूहा मार करने की अनुमति नहीं देता था ।

    यों कुछ साल गुजरे थे। इस आदमी का घर दूसरी जगह स्थानांतरित हुआ। नया आया घर के मालिक को मकानों में चूहों की बोलबाला देखकर अत्यन्त आश्चर्य हुआ। उसने कहा:"चूहा बड़ा घृणाजनक जीव है, उन्हें इतना हंगामा मचाने को क्यों दिया जाता है?"

    उसने चूहा पकड़ने के लिए पांच शक्तिशाली बिल्लियां लाईं और कुछ मजदूर भी बुलाए। घर के तमाम दरवाजें और खिड़कियां सील कर दी गई और मकानों की छतों पर से खपरियां हटाई गई। जहां भी चूहा के बिल्ल पाये गए, वही उसके अन्दर धुँआ झोंका गया। फिर अन्दर पानी डाला गया, अंत में सभी चूहा बिल्लों को बन्द कर दिया गया। इस तरह मारे गए चूहों की लाशें एक छोटी पहाड़ी सी बनी नज़र आयी। उन्हें दूर जगह ले जाये गए और सड़ने गलने का बदबू महीनों तक फैलता रहा।

    यह कथा हमें बताती है कि किसी भी हानिकर वस्तु पर किसी भी कारण से दया या प्यार नहीं आना चाहिए और अंधविश्वास से दूर रहना चाहिए।

    1 2 3
    © China Radio International.CRI. All Rights Reserved.
    16A Shijingshan Road, Beijing, China. 100040