हांगचोऊ एशियन गेम्स 2022 की उलटी गिनती शुरू

2021-09-15 17:02:19

हांगचोऊ एशियन गेम्स 2022 की उलटी गिनती शुरू_fororder_2

साल 2022 में चीन के शहर हांगचोऊ शहर में होने वाले 19 वें एशियन गेम्स की शुरुआत 10 सितंबर से होना है। 45 देशों वाले इन एशियाई खेलों की ओपनिंग सेरेमनी में अब सिर्फ 365 से भी कम दिन बाकी हैं और इसी मौके पर एशियाई गेम्स का पूरा कार्यक्रम जारी किया गया। इसके साथ ही इन खेलों के लिए विशेष रुप से डिज़ाइन की गई मशाल का भी अनावरण किया गया। 10 से 25 सितंबर तक चलने वाले इन एशियन गेम्स का ध्येय वाक्य ‘भविष्य में जुड़ें दिल से दिल’ है। हांगचोऊ एशियन गेम्स में कुल 40 खेलों की 482 ईवेंट्स (482 स्वर्ण पदक) होना है और इसमें सबसे ज्यादा एथलेटिक्स में पुरुष और महिलाओं को मिलाकर कुल 48 ईवेंट यानी 48 स्वर्ण पदक दांव पर होंगे। जबकि स्विमिंग में 41 ईवेंट यानी 41 स्वर्ण और शूटिंग में 33 ईवेंट में स्वर्ण पदक जीतने का मौका एथलीटों के पास होगा।

ये तीसरा अवसर है जब चीन के किसी शहर में एशियाई खेलों का आयोजन हो रहा है। इसके पहले 1990 में बीजिंग और 2010 में कुआंग्चोऊ शहर भी एशियन गेम्स की मेजबानी कर चुके हैं। वर्ष 2015 में ओलंपिक काउंसिल ऑफ एशिया की 34 वीं जनरल असेंबली बैठक में हांगचोऊ की मेजबानी पर मुहर लगी थी।

इन खेलों के तीन शुभंकर भी तय किए गए हैं जिनके नाम हैं कुंगकुंग, लियानलियान और छनछन । ये तीनों ही पुरुष रोबोटिक सुपरहीरो हैं जिनकी उत्पत्ति पुरातत्वकालीन लियांगचू सिटी, वेस्ट लेक और ग्रांड कैनाल से हुई है। शुभंकरों की इस स्मार्ट तिकड़ी को सम्मिलित रुप से ‘मेमोरिज़ ऑफ चिआंगनैन’ के नाम से भी जाना जाता है।

इन खेलों का आयोजन 44 अलग-अलग जगहों और स्टेडियमों में किया जाएगा। आयोजित होने वाले कुल 40 खेलों में से 28 उन खेलों का आयोजन भी होगा जो पेरिस 2014 ओलंपिक खेलों में भी शामिल किए गए हैं। इस बार एशियन गेम्स की खास बात ये है कि किसी भी तरह के खेलों के इतिहास में पहली बार ई-स्पोर्ट्स यानी कंप्यूटर पर खेले जाने वाले गेम्स को भी पदक जीतने की कैटेगरी में शामिल किया गया है। इसमें ई-स्पोर्ट्स खेलने वाले खिलाड़ियों के पास 8 स्वर्ण पदक जीतने का मौका होगा जिसमें लीग ऑफ लीजेंड्स, पीयूबीजी और स्ट्रीट फाइटर जैसे मशहूर गेम्स भी शामिल हैं। ई-स्पोर्ट्स करवाने की जिम्मेदारी हांगचोऊ आयोजन समिति के साथ ही एशियन इलेक्ट्रॉनिक स्पोर्ट्स फेडरेशन को सौंपी गई है। 2018 के एशियाई खेलों में ई-स्पोर्ट्स को सिर्फ डेमोन्स्ट्रेशन गेम्स या प्रदर्शन के रुप में ही शामिल किया गया था।

इसके अलावा ब्रेकडांस को भी पहली बार खेलों की श्रेणी में शामिल करते हुए इसका भी पदक जीतने का मौका खिलाड़ियों के पास होगा। वहीं एशियाई महाद्वीप में सबसे ज्यादा प्रचलित क्रिकेट को भी हांगचोऊ एशियाई खेलों में शामिल किया गया है। क्रिकेट के छोटे स्वरुप टी-20 के स्वर्ण, रजत और कांस्य पदक जीतने का मौका भारत, श्रीलंका, पाकिस्तान, बांग्लादेश, यूएई, अफगानिस्तान, ओमान जैसी प्रमुख एशियाई टीमों के पास होगा। साथ ही महिला और पुरुष दोनों  ही श्रेणियों में स्पर्धाएँ होंगी। वर्ष 2010 और 2014 में भी क्रिकेट को एशियाई खेलों में रखा गया था हालांकि 1998 के कुआलालंपुर कॉमनवेल्थ गेम्स में पहली बार क्रिकेट को मल्टीस्पोर्ट गेम्स में शामिल किया गया था।

एशियाई खेलों की सबसे महत्वपूर्ण बात ये होती है कि इन खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाले एथलीटों या टीमों को सीधे ही अगले ओलंपिक खेलों में हिस्सेदारी लेने की पात्रता मिल जाती है। इस बार एशियन गेम्स में ओशियानिया क्षेत्र के 14 देशों के खिलाड़ी वॉलीबॉल, बीच वॉलीबॉल, बास्केटबॉल, फुटबॉल और फेन्सिंग जैसे खेलों में भागीदारी करते हुए ओलंपिक खेलों के लिए क्वालिफाई कर सकेंगे।

लोकप्रिय कार्यक्रम
रेडियो प्रोग्राम
रेडियो_fororder_banner-270x270