अफगानिस्तान में लड़कियों की शिक्षा एक प्रमुख मुद्दा

2021-09-10 20:02:49

अफगानिस्तान में लड़कियों की शिक्षा एक प्रमुख मुद्दा_fororder_4

33 वर्षीय महमूदा तक़वा मिलाद काबुल विश्वविद्यालय से मास्टर डिग्री करने साथ-साथ एक शिक्षक भी हैं, जो पश्तो भाषा और साहित्य पढ़ा रही हैं। वह हर दिन तीन कक्षाएं लेती है। हर कक्षा में कम से कम 50 छात्र होते हैं। लेकिन कुछ साल पहले वह केवल पहाड़ों में भेड़ चराने का काम करती थी, जो कि अधिकांश अफगान लड़कियों का भाग्य भी है। हालांकि तक़वा जैसी "उच्च गुणवत्ता वाली महिलाओं" को अब स्वतंत्रता मिल सकती है, लेकिन अधिकांश अफगान लड़कियों के लिए स्कूली शिक्षा का रास्ता अभी भी साफ नहीं है। यूनिसेफ की 2018 की रिपोर्ट के अनुसार, अफगानिस्तान में लगभग 37 लाख स्कूली बच्चे स्कूल नहीं जा पाते हैं, जिनमें से 60% लड़कियां हैं।

अफगान तालिबान शिक्षा विभाग ने पिछले सप्ताह के अंत में एक दस्तावेज जारी किया कि निजी विश्वविद्यालयों में छात्राओं को लंबे गाउन और अधिकांश चेहरे को ढकने वाले घूंघट पहनने होंगे। छात्राओं को महिलाओं द्वारा पढ़ाए जाने की जरूरत होगी। अगर महिला शिक्षक नहीं है तो उन्हें अच्छे आचरण के साथ वृद्ध पुरुषों द्वारा पढ़ाया जा सकता है। इसके अलावा, लड़कों और लड़कियों को कक्षा में अलग करना होगा, या कम से कम पर्दे से अलग किया जाना चाहिए, और अलग-अलग प्रवेश और निकास का उपयोग करने की आवश्यकता होगी। लड़कियों को लड़कों से मिलने से बचने के लिए लड़कों की तुलना में 5 मिनट पहले कक्षा से बाहर निकलना होगा।

अफगानिस्तान में लड़कियों की शिक्षा एक प्रमुख मुद्दा_fororder_6

हालांकि उपर्युक्त स्थितियां कठोर हैं, लेकिन 20 साल पहले तालिबान के प्रशासन के दौरान लागू किए गए "महिलाओं को सार्वजनिक जीवन और मनोरंजन गतिविधियों में भाग लेने की अनुमति नहीं है" नियमों की तुलना में महत्वपूर्ण सुधार हुआ है।

गरीबी और अशांति के अलावा, उच्च ड्रॉप-आउट दर का मुख्य कारण शिक्षकों की कमी है। 2017 में अफगानिस्तान के शिक्षा मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, अफगानिस्तान के अधिकांश स्कूलों में आमतौर पर शिक्षकों और पाठ्यपुस्तकों की कमी है। लड़कियों को महिला शिक्षकों द्वारा पढ़ाया जाना चाहिए। महिला शिक्षकों की कमी के कारण बड़ी संख्या में लड़कियों ने स्कूल छोड़ दिया है। इसे कैसे रोका जाए यह नई अफगान सरकार के सामने एक प्रमुख मुद्दा है।

(नीलम)

लोकप्रिय कार्यक्रम
रेडियो प्रोग्राम
रेडियो_fororder_banner-270x270