बेलारूस ने यूएन मानवाधिकार परिषद में भाषण दिया

2021-06-23 14:49:28

स्थानीय समय के अनुसार 22 जून को जिनेवा में आयोजित संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के 47वें सम्मेलन में बेलारूस ने 65 देशों की ओर से भाषण दिया। बेलारूसी प्रतिनिधि ने जोर देते हुए कहा कि देशों की संप्रभुता, स्वतंत्रता और क्षेत्रीय अखंडता का सम्मान करना और संप्रभु देशों के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप न करना अंतर्राष्ट्रीय संबंधों का मूल मानदंड है। हांगकांग, शिनच्यांग और तिब्बत के मामले चीन के आंतरिक मामले हैं। बाहर की दुनिया को इसमें हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए। बेलारूस हांगकांग विशेष प्रशासनिक क्षेत्र में "एक देश, दो व्यवस्था" की नीति लागू करने के लिए चीन का समर्थन करता है।

इस भाषण ने संयुक्त राष्ट्र चार्टर के उद्देश्यों और सिद्धांतों का पालन करने के आधार पर सार्वभौमिकता, निष्पक्षता, और गैर-चयनात्मकता के सिद्धांतों का पालन करने, विभिन्न देशों के लोगों द्वारा अपनी राष्ट्रीय परिस्थितियों के अनुसार स्वतंत्र रूप से मानवाधिकार विकास का मार्ग चुनने का सम्मान करने की अपील की। भाषण ने बहुपक्षवाद और एकजुटता और सहयोग पर कायम रहने और रचनात्मक संवाद और सहयोग से मानव अधिकारों को बढ़ावा देने और उनकी रक्षा करने की अपील भी की।

इस भाषण के अलावा खाड़ी सहयोग परिषद के 6 सदस्य देशों ने सामूहिक रूप से चीन के रुख का समर्थन करने के लिए पत्र भेजा। 20 से अधिक अन्य देश भी अलग-अलग तौर पर बयान देते हुए चीन को समर्थन देने को तैयार हैं। कुल 90 से अधिक देशों ने   चीन के वैध रुख के लिए अपनी समझ और समर्थन व्यक्त किया है।

(वनिता)

लोकप्रिय कार्यक्रम
रेडियो प्रोग्राम
रेडियो_fororder_banner-270x270