वांग यी यूएन मानवाधिकार परिषद के 46वें सत्र के उच्चस्तरीय सम्मेलन में उपस्थित

2021-02-23 15:13:27

चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने 22 फरवरी को पेइचिंग में वीडियो कॉन्फ्रेंस के रूप में संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के 46वें सत्र के उच्चस्तरीय सम्मेलन में भाग लिया और भाषण दिया।

वांग यी ने कहा कि सौ वर्षों के लिए अभूतपूर्व बदलाव और महामारी के सामने मानवाधिकारों की रक्षा कैसे बढ़ाए?चीन के चार प्रस्ताव हैं- पहला, मानवीय प्राथमिकता की अवधारणा पर कायम रहे; दूसरा, मानवाधिकारों की सार्वभौमिकता को सभी देशों की वास्तविकता से जोड़ने पर कायम रहे; तीसरा, व्यवस्थित तौर पर विभिन्न मानवाधिकारों को बढ़ाने पर कायम रहे; और चौथा, अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार संवाद और सहयोग पर कायम रहे।

वांग यी ने कहा कि चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के नेतृत्व में चीन ने चीनी विशेषता वाले समाजवाद के रास्ते को प्रशस्त किया, जिसे चीनी लोगों का व्यापक समर्थन मिला। साथ ही, चीन ने चीनी राष्ट्रीय परिस्थितियों के अनुकूल मानवाधिकारों के विकास के रास्ता को भी प्रशस्त किया।

वांग यी ने कहा कि कोविड-19 महामारी के सामने चीनी सरकार हमेशा लोगों की सुरक्षा व स्वास्थ्य को प्राथमिकता देती है और हर जान के मूल्य और गरिमा की रक्षा करती है। टीके लोगों के स्वास्थ्य, अस्तित्व और विकास के अधिकारों से जुड़े हुए हैं। दुनिया भर में टीकों का निष्पक्ष वितरण किया जाना चाहिए, विशेष रूप से विकासशील देशों में टीकों की सुलभता की गारंटी की जानी चाहिए।

वांग यी ने कहा कि चीन मानवाधिकार के बहाने से अन्य देशों के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप करने का विरोध करता है। शिनच्यांग में कभी भी कोई "नरसंहार", "मजबूर श्रम" या "धार्मिक उत्पीड़न" नहीं हुआ है। ये सनसनीपूर्ण कथन अज्ञानता और पूर्वाग्रह से उत्पन्न हैं और विशुद्ध रूप से दुर्भावनापूर्ण राजनीतिक प्रचार हैं, जो पूरी तरह से तथ्यों के विपरीत हैं।

(मीनू)

लोकप्रिय कार्यक्रम
रेडियो प्रोग्राम
रेडियो_fororder_banner-270x270