कोविड-19 महामारी में चीनी कांसल कार्य चीनी नागरिकों के हितों की सुरक्षा पर केंद्रित रहता है

2020-12-22 09:45:19

कोविड-19 महामारी में चीनी कांसल कार्य चीनी नागरिकों के हितों की सुरक्षा पर केंद्रित रहता है

वर्ष 2020 में अचानक आयी कोविड-19 महामारी से विदेश में रह रहे चीनयों पर गंभीर प्रभाव पड़ा ।विदेशों में स्थित चीनी दूतावासों और वाणिज्यदूतावासों ने बाहर में कठिनाई में फंसे चीनियों को मदद देने की पूरी कोशश की और बड़ी संख्या वाले बंधुओं को स्वदेश लौटाया और बाहर आने वाले संक्रमित मामले की रोकथाम में योगदान भी दिया ।चीनी विदेश मंत्रालय के कांसल विभाग के निदेशक त्वी आईमिन ने हाल ही में एक संवाददाता सम्मेलन में चीन के कांसल कार्य में कोविड-19 से लड़ने की कहानी सुनायी ।

जून 2020 में नाइजीरिया स्थित चीनी उद्यम का एक कर्मचारी कोविड-19 से संक्रमित हुआ और उस की स्थिति जल्दी से गंभीर हो गयी ।स्थानीय अस्पताल में अनेक दिन के बचाव के बावजूद उस की स्वास्थ्य में सुधार नहीं आया ।चीनी विदेश मंत्रालय के कांसल विभाग ने आपात रूप से चीन और नाइजीरिया के संबंधित विभागों और स्थानीय सरकारों का समंव्य किया और सब से कम समय में चार्टर विमान के उड़ने और उतरने की परमिट प्राप्त की ।अंत में यह कर्मचारी समय पर स्वदेश लौटा और उस का सफल बचाव भी हुआ ।

कोविड-19 महामारी में चीनी कांसल कार्य चीनी नागरिकों के हितों की सुरक्षा पर केंद्रित रहता है

यह मामला पिछले एक साल चीनी कांसल कार्य में महामारी से युद्ध करने का एक लघुचित्र है ।महामारी के बीच बाहर रह रहे बड़ी संख्या वाले चीनी लोगों को कठिनाइयों का सामाना करना पड़ा ।उन को स्वदेश लौटने की तीव्र इच्छा थी ।विभिन्न चीनी वाणिज्य दूतावासों ने सक्रियता से विभिन्न विभागों से संपर्क कर चीनी नागरिकों के लिए स्वदेश लौटने का एक हवाई गलियारा निर्मित किया ।चीनी विदेश मंत्रालय के कांसल विभाग के निदेशक त्वी आईमिन ने बताया ,महामारी के बाद वाणिज्य फ्लाइट को छोड़कर हम ने 351 फ्लाइटों का प्रबंध कर ईरान ,ब्रिटेन ,अमेरिका ,इटली समेत 92 देशों से 73 हजार बंधुओं को स्वदेश लौटाया।इस बार बाहर के चीनी नागरिकों को स्वदेश लौटाने का कार्य लंबे समय तक चला और उस का दायरा व्यापक था और लोगों की संख्या भी काफी ज्यादा है  ,जो नये चीन के इतिहास में एक नया रिकार्ड है ।

महामारी पैदा होने के बाद कई देशों में चिकित्सक सामग्रियों की किल्लत हुई ।विदेश में रह रहे बहुत चीनी नागरिकों को मास्क और दवा उपलब्ध नहीं थी ।उन को बड़ी चिंता थी। चीनी विदेश मंत्रालय के कांसल विभाग ने पहले समय पर देश के संबंधित विभागों और उद्यमों से संपर्क कर आपात रूप से बड़ी मात्रा वाली महामारी विरोधी सामग्री तैयार की और स्वास्थ्य बैग व प्रेम बैग के रूप में विदेशों में रहने वाले चीनियों के बीच बांटा ।कांसल विभाग के निदेशक त्वी आईमिन ने बताया ,हम ने सौ से अधिक देशों में रह रहे 50 लाख से अधिक चीनियों को लगभग 5 करोड़ मास्क ,60 लाख दस्ताने ,7 लाख बाक्स आफ परंपरागत चीनी दवा ल्येन हुआ छिन वेन वितरित किये ।

कोविड-19 महामारी में चीनी कांसल कार्य चीनी नागरिकों के हितों की सुरक्षा पर केंद्रित रहता है

सामग्री प्रदान करने के अलावा विदेशों में स्थित चीनी राजदूतों और महावाणिज्य दूतों ने स्थानीय चीनी छात्रों और प्रवासी चीनियों के प्रतिनिधियों के साथ आनलाइन पर विचारों का आदान प्रदान किया ।घरेलू  इंटरनेट स्वास्थ्य मंचों ने मुफ्त रूप  से विदेशों में रह रहे चीनियों के लिए परामर्श प्रदान किया । चोंग नान शान और च्यांग प ली समेत मशहूर चीनी चिकित्सा विशेषज्ञों ने आनलाइन पर विदेशों में रह रहे छात्रों के साथ बातचीत की और उन के प्रश्नों का उत्तर दिया ।

कोविड-19 महामारी में चीनी कांसल कार्य चीनी नागरिकों के हितों की सुरक्षा पर केंद्रित रहता है

सीमा पार संक्रमण की रोकथाम के लिए चीन ने सब से पहले रिमोट एंड नियंत्रण शुरू किया ।पिछले अप्रैल के शुरू से संक्रमण का बड़ा खतरा होने वाले 27 देशों में स्वास्थ्य क्यू आर कोड का अंतरराष्ट्रीय संस्करण लागू हुआ ।यात्री लगातार 14 दिन तक स्वास्थ्य की स्थिति का फार्म भरने के बाद ग्रीन स्वास्थ्य कोड दिखाकर विमान पर होकर कर चीन आते हैं ।इस के अलावा चीन ने रिमोर्ट एंड में न्यूक्लियर ऐसिड और सीरम-एंटीबॉडी दोनों परीक्षाओं की मांग के जरिये सीमा पार संक्रमण की रोकथाम की दीवार खड़ी की । त्वी आईमिन ने बताया , अब तक दोनों परीक्षाओं की नियमावली विश्व में 160 से अधिक देशों में लागू हुई है ।विदेशों में स्थित चीनी दूतावासों और वाणिज्यदूतावासों ने लगभग 5 लाख 30 हजार परीक्षा के परिणामों के पेपर की जांच की है और 38 हजार से अधिक यात्रियों को रोका ,जिन में संक्रमण होने की संभावना है ।उल्लेखनीय बात है कि हम ने उन लोगों को यथासंभव सहायता की ,जिन को रोका गया था ।

दूसरी लहर की महामारी के प्रति कांसल विभाग निदेशक त्वी आईमिन ने लोगों से अंतरराष्ट्रीय यात्रा पर सतर्क रहने का सुझाव दिया ।उन्होंने बताया ,मेरा सुझाव है कि इस सिद्धांत के मुताबिक अपनी गतिविधि का प्रबंधन करें कि गैरजरूरी है ,तो यात्रा न करें ।विदेशों में रह रहे लोग लंबी दूरी की यात्रा से बचें खासकर विदेशी यात्रा से बचें ।घरेलू लोग विदेशी यात्रा से बचें ताकि यात्रा के दौरान संक्रमित न हो या कहीं न फंसे ।(वेइतुंग)        

 

लोकप्रिय कार्यक्रम
रेडियो प्रोग्राम
रेडियो_fororder_banner-270x270