निवास क्षेत्रों को नया बनाने में संस्कृति की रक्षा

2020-11-12 15:46:34

निवास क्षेत्रों को नया बनाने में संस्कृति की रक्षा

चीन की राजधानी पेइचिंग का इतिहास 3000 वर्ष से भी पुराना है। पेइचिंग में आधुनिक संस्कृति और ऐतिहासिक सभ्यता जुड़ी हुई है। इस बड़े अंतर्राष्ट्रीय शहर में न सिर्फ़ प्राचीन सांस्कृतिक मूल्यवान अवशेष और पुराने भवन मौजूद हैं, बल्कि बहुत सारी आधुनिक इमारतें भी देखने को मिलती हैं। समृद्ध ऐतिहासिक और सांस्कृतिक विरासत पेइचिंग का स्वर्ण नाम-कार्ड माना जाता है। नए चीन की स्थापना के बाद पिछले 70 सालों में पेइचिंग नगर-दीवार को तोड़-फोड़ कर गिराने और पुराने शहर का रूपांतर करने आदि दौर से गुजरा। हाल के वर्षों में पेइचिंग ने पुराने नगर की रक्षा में सक्रिय कदम उठाया और रहने का वातावरण सुधारने, निवास क्षेत्रों को नया बनाने, ऐतिहासिक अवशेष की रक्षा करने आदि को जोड़कर विकास किया।

पेइचिंग के तोंगछंग जिले की यूअर गली ऐतिहासिक सांस्कृतिक ब्लॉक में स्थित प्रतिनिधित्व गली है। कुछ साल पहले यूअर गली का रूपांतर किया गया। पुनर्निर्माण के दौरान हर परिवार की वस्तुगत स्थिति के अनुसार योजना बनाई गई और हर मकान में आधुनिक रसोई घर, वॉशरूम और बाथरूम का निर्माण किया गया।

पुनर्निर्माण के बाद न सिर्फ़ गली का सार्वजनिक वातावरण बेहतर हो गया है, बल्कि सामान रखने, खाना पकाने, वॉशरूम जाने, नहाने और कार पार्क करने समेत निवासियों की आवश्यकता भी पूरी हुई। इसके साथ मकान की परंपरागत शैली बहाल हुई, जिससे ऐतिहासिक संस्कृति दिखाई जाती है। पुरानी गली में रहने वाले निवासी आधुनिक जीवन बीतने लगे। पुनर्निर्माण परियोजना के जिम्मेदार श्यू क्वांगली ने कहाः

“हमने मकानों की पुरानी शैली और पुरानी नाप के अनुसार पुनर्निर्माण किया। उद्देश्य है कि मकानों की दिखावट न बदले। अभी जो ईंट, खपरैल और छत आप देख रहे हैं, कुछ पुरानी हैं। नई वाली हमने पुरानी की ही तरह बनाई।”

यूअर गली के बूढ़े निवासी ली चिंग के मकान निर्मित हो रहे हैं। आज वे अपने पति और पोतों के साथ पुराने मकान देखने आईं। उन्होंने कहा कि रूपांतर से पहले मकान में जगह बहुत छोटी थी, अब नए वॉशरूम का निर्माण भी किया गया। ली चिंग ने कहाः

“पहले यहां अव्यवस्थित और पुराना था। सर्दियों में हमें कोयला जलाना पड़ता था। कोयले की ईंट रखने की जगह नहीं होती। साइकिल और कार पार्क करने की जगह भी नहीं थी। टॉयलेट जाना असुविधाजनक था। रूपांतर के बाद बड़ा परिवर्तन हुआ। अब कमरा लंबा-चौड़ा है और रहने में सुविधाजनक है।”

अब यूअर गली की खाली जगह पर सुंदर बगीचे देखने में मिलते हैं। लोग बहुत खुशी और सुखमय तरीके से यहां रहते हैं। रहने का वातावरण सुधारने के साथ साथ आसपास का पारिस्थितिक पर्यावरण भी बेहतर बन रहा है, जिसकी लोगों ने प्रशंसा की। वर्ष 2018 में पेइचिंग के शीछंग जिले के वानिकी और उद्यान विभाग ने आर्द्रभूमि पार्क का निर्माण शुरू किया। इसका उद्देश्य शहर के मध्य में स्थित इस प्राकृतिक जल क्षेत्र को मुख्य इलाके में एकमात्र आर्द्रभूमि पार्क बनाना था। पार्क की प्रमुख ली ह्वी ने कहाः

“हमारे इस पार्क के 30 से अधिक एंट्रेंस और निर्गम हैं। हम चाहते हैं कि यहां पर्यटकों के लिए घूमने की जगह बने और आसपास के निवासियों के लिए आराम करने का स्थान भी।”

आर्द्रभूमि के पास में रहने वाली सुश्री छन ने कहा कि पार्क का निर्माण पूरा होने के बाद वे रोज़ घूमने आती हैं। सुंदर दृश्य देखते हुए वे बहुत खुश हैं। सुश्री छन ने कहाः

“पार्क का निर्माण करने के बाद यहां का वातावरण बेहतर हो चुका है। सरकार ने पर्यावरण संरक्षण के लिए बहुत पैसे, जन शक्ति और भौतिक साधन स्रोत का खर्च किया। हम निवासियों को लगता है कि वातावरण सचमुच सुंदर बन गया है। इतने अच्छे वातावरण में रहने से हम बहुत खुश हैं।”

बताया जाता है कि आर्द्रभूमि पार्क में 120 सीसीटीवी कैमरे, वाईफाई उपकरण, वायु शोधन व्यवस्था, मोबाइल फोन चार्ज करने और स्मार्ट निगरानी मशीनें लगाई गई हैं। पूरी सड़क पर वाईफाई की सुविधा उपलब्ध है।

अब पेइचिंग शहर का परिवर्तन हो रहा है। इस प्राचीन शहर में नई जीवन शक्ति का संचार हो रहा है।

लोकप्रिय कार्यक्रम
रेडियो प्रोग्राम
रेडियो_fororder_banner-270x270