चीन एक फैशनेबल देश है

2020-11-12 14:59:20

चीन एक फैशनेबल देश है

दोस्तों, इस वर्ष चीन में 13वीं पंचवर्षीय योजना का अंतिम वर्ष है। पाँच वर्षों में चीन के आर्थिक व सामाजिक विकास में व्यापक व उल्लेखनीय ऐतिहासिक उपलब्धियां हासिल हुई हैं। न सिर्फ़ चीनी जनता सुखमय जीवन बिता रही है, बल्कि चीन में स्थित विदेशी लोगों को भी विकास के ज्यादा से ज्यादा मौके मिल सकते हैं। इस रिपोर्ट में हम चीन में स्थित यूरोपीय संघ के वाणिज्य संघ की दक्षिण चीनी शाखा की जनरल मैनेजर फ्रांसिन हदीसोतिरौ की कहानी बताएंगे।

चीन के क्वांगतुङ प्रांत के शनचन शहर के नानशान क्षेत्र में स्थित अंतर्राष्ट्रीय छात्र उद्यम इमारत में जनरल मैनेजर सुश्री फ़्रांसिन ने संवाददाता का शानदार स्वागत किया। और बड़े उत्साह के साथ चीन में अपने जीवन के बारे में बताया। फ़्रांस से आई सुश्री फ़्रांसिन ने संवाददाता से कहा कि वर्ष 2003 में काम के कारण वे यूरोप से चीन के नानचिन शहर आयी। इस के बाद वे शनचन पहुंची, जो कि शक्ति व नवाचार से भरा हुआ है। काम करते हुए उन्हें शनचन में दस से अधिक साल बीत चुके हैं। उन की नज़र में चीन एक फ़ैशनेबल देश है। चीन को न सिर्फ़ नवाचार आता है, बल्कि नयी चीज़ों व विकास के नये रुझान पर चीन की अपनी समझ भी है। इस की चर्चा में उन्होंने कहा,उदाहरण के लिये सामान्य जीवन में एक विदेशी व्यक्ति के रूप में आप को नियमित रूप से अपने वीज़ा व निवास की अनुमति को नवीनीकृत करने की आवश्यकता है। अब आप वीचैट जैसे मिनी प्रोग्राम के माध्यम से सभी औपचारिकताओं को पूरा कर सकते हैं। लेकिन इस से पहले आप को संबंधित विभाग में जाकर लंबी कतार में इंतजार करना पड़ता था। इसलिये उद्यमों और व्यक्तियों के प्रति ऑनलाइन प्रसंस्करण बहुत सुविधाजनक है।

उन के अलावा हाल के कई वर्षों में ऑनलाइन भुगतान के विकास ने भी उन पर गहरी छाप छोड़ी। उनके अनुसार,अगर ऑनलाइन भुगतान नहीं है, तो जीवन आसान नहीं होगा। मेरी याद में कुछ साल पहले वीचेट भुगतान शुरू हुआ। उस समय यहां तक कि टैक्सी ड्राइवर के पास भी नकद नहीं मिल सकते थे। आप को इस रुझान से मेल खाना पड़ता है। जिससे आप के उपभोग के पैटर्न भी बदल गये हैं। गौरतलब है कि इन बदलावों से जीवन सचमुच ज्यादा सुविधाजनक व आसान बन गया। यूरोप में अभी तक लोग दुकानों में मोबाइल फ़ोन से भुगतान नहीं कर सकते। हालांकि यूरोप में ऑनलाइन भुगतान की स्थिति भी बदल रही है, लेकिन इस की गति चीन की अपेक्षा बहुत धीमी है। चीन में विकास बहुत तेज़ी से हो रहा है।

सुश्री फ्रांसिन ने संवाददाता से कहा कि चीन में बदलाव केवल यहीं तक नहीं है। यूरोपीय संघ के वाणिज्य संघ की दक्षिण चीन शाखा की प्रबंधक के रूप में उन्होंने विदेशी पूंजी वाले उद्यमों के साथ आदान-प्रदान के दौरान गहन रूप से यह महसूस किया कि उन उद्यमों ने चीन में व्यापारिक वातावरण का सुधार करने में चीन द्वारा की गयी कोशिशों की पुष्टि की है। इस की चर्चा में फ्रांसिन ने कहा,अगर 15 वर्ष पहले आप भी चीन में व्यापार करते थे। तो ज़रूर यह देख सकते हैं कि वर्तमान में चीन के कानून ज्यादा स्पष्ट हो गये हैं, और बहुत नये नीति-नियम भी मौजूद हैं। इस से पहले कानूनों की अस्पष्टता से विदेशी उद्यमों को संबंधित कानून व नीति-नियम को समझने के लिये बहुत संसाधन और समय का प्रयोग करना पड़ा। यह उद्यमों के प्रति एक बड़ी समस्या थी। यह तो बीते समय की स्थिति थी। वर्तमान में चीन सरकार ने ऐसे नीति-नियम बनाये हैं, जिसे समझने के लिये उद्यमों को ज्यादा समय नहीं लगता। मेरे ख्याल से निगरानी व प्रबंध कार्य में यह एक बड़ी प्रगति है।

शनचन में दस से अधिक वर्षों तक रहने वाली फ़्रांसिन ने क्वांगडोंग-हांगकांग-मकाओ ग्रेटर बे एरिया के निर्माण पर बड़ा ध्यान दिया। उन्होंने कहा कि बहुत विदेशी पूंजी वाले उद्यमों ने इस क्षेत्र के निर्माण से व्यापारिक मौका देखा है। उन्होंने कहा,क्वांगडोंग-हांगकांग-मकाओ ग्रेटर बे एरिया ने वाणिज्य पक्ष में लोगों को बहुत उम्मीदें दी हैं। वाणिज्य जगत को आशा है कि जल्द ही ज्यादा ठोस कदम मिल सकेंगे। क्योंकि बहुत यूरोपीय कंपनियां अपने उत्पादों को चीन में लाना चाहती हैं। उन्हें चीन के विस्तृत बाजार व व्यापार के अच्छे वातावरण से लाभ मिल सकेगा।

आम जीवन में फ़्रांसिन पर्यावरण संरक्षण पर बड़ा ध्यान देती हैं। उन्होंने इस पक्ष में चीन द्वारा की गयी कोशिशों की खूब प्रशंसा की। उन के अनुसार,मैंने बड़ी खुशी के साथ यह देखा है कि चीन ने प्लास्टिक मामले का समाधान करने के लिये वास्तविक कार्रवाई की। उदाहरण के लिये डिस्पोजेबल प्लास्टिक बैग के प्रयोग का निषेध आदि। पर्यावरण की रक्षा के लिये यह एक बहुत अच्छा कदम है। हालांकि कुछ पैकेजिंग सब्जियों की ताजगी के लिये मददगार है। लेकिन वह पर्यावरण में गंभीर प्रभाव डालेगी। पर्यावरण संरक्षण सभी लोगों के प्रति एक बड़ी समस्या है। न सिर्फ़ शनचन में चीन में, बल्कि सारी दुनिया में एक समस्या है।

इस वर्ष चीन में 13वीं पंचवर्षीय योजना का अंतिम वर्ष है। फ़्रांसिन ने संवाददाता से कहा कि वे चीन की इस पंचवर्षीय योजना को खूब समझती हैं। उन के ख्याल से योजना में पेश विकास की पाँच अवधारणाएं अब चीन में धीरे धीरे साकार हो रही हैं। इस की चर्चा में उन्होंने कहा,मेरी नज़र में 13वीं पंचवर्षीय योजना में चीन ज्यादा संतुलित, सहनशील व अनवरत विकास प्राप्त करना चाहता है। इस योजना में स्पष्ट रूप से नवाचार, समन्वय, हरित, खुलापन, साझा आदि विकास की अवधारणाएं पेश की गयीं। अब ये अवधारणाएं साकार हो रही हैं। उदाहरण के लिये शनचन के उच्च विज्ञान व तकनीक औद्योगिक पार्क में कुल नौ कंपनियां प्राप्त हैं, जिनका बाजार मूल्य एक अरब अमेरिकी डॉलर से अधिक है। जैसे: टेंसेंट, ह्वावेई और डीजेआई आदि। यहां लाखों हजारों उच्च तकनीकी कंपनियां स्थित हैं। इस वर्ष के अगस्त में शनचन शहर ने मूल रूप से 5जी नेटवर्क की पूर्ण कवरेज हासिल की है। मेरे विचार में ये तो वास्तविक उपलब्धियां हैं। हरित और अनवरत विकास जैसे अवधारणाएं शनचन में अच्छी तरह से साकार हो चुकी हैं।

फ़्रांसिन ने कहा कि उन्हें आशा है कि 14वीं पंचवर्षीय योजना के दौरान यूरोपीय कंपनियों को चीन के विकास में भाग लेने का ज्यादा मौका मिल सकेगा। और चीन भी विश्व के लिये ज्यादा से ज्यादा आश्चर्य प्रदान कर सकेगा।

लोकप्रिय कार्यक्रम
रेडियो प्रोग्राम
रेडियो_fororder_banner-270x270