शी चिनफिंग और मातृ नदी हुआंग ह

2020-09-18 18:00:51 CRI

हुआंग ह चीन की दूसरी सब से लंबी नदी है और चीनी राष्ट्र की मातृ नदी मानी जाती है ।चीनी नेता बनने के बाद राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने हुआंग ह नदी पर बड़ा ध्यान दिया और अनेक बार हुआंग ह नदी के आसपास के क्षेत्रों का दौरा किया ।18 सितंबर 2019 को हुआंग ह नदी के बारे में आयोजित एक संगोष्ठी में हुआंग ह नदी क्षेत्र का पारिस्थितिकी संरक्षण और उच्च गुणवत्ता विकास महत्वपूर्ण राष्ट्रीय रणनीति बन गयी ।

शी चिनफिंग और मातृ नदी हुआंग ह

हुआंग ह नदी का उद्गम स्थल छिंग हाई प्रांत के सान च्यांग य्वेन( तीन नदियों के उद्गम स्थल) क्षेत्र में है ।चीन की सब से लंबी नदी यांग त्सी नदी और लांग छांग च्यांग नदी का उद्गम स्थल सान च्यांग य्वेन में भी स्थित है ।सान च्यांग य्वेन चीन की जल मीनार के लिए मशहूर है ।वर्ष 2016 में शी चिनफिंग ने छिंग हाई का दौरा करते समय विशेष कर हुआंग ह नदी के उद्गम स्थल के पारिस्थितिकी संरक्षण पर जोर दिया ।उन्होंने कहा ,चीन का जल मीनार देश के जीवन का स्रोत है ।सान च्यांग य्वेन का अच्छी तरह संरक्षण करना चीनी राष्ट्र के विकास के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है ।इस क्षेत्र में विकास पर प्रतिबंध या पाबंदी लगाना विकास को बाधित करना नहीं है ,बल्कि विकास के लिए लाभदायक है ।

वर्ष 2016 में सान च्यांग युएं क्षेत्र में चीन के पहले राष्ट्रीय पार्क की स्थापना का परीक्षात्मक कार्य शुरू हुआ ,जिसका कुल क्षेत्रफल 1 लाख 20 हजार वर्ग किलोमीटर है ।इस विशाल क्षेत्र में यांग त्सी नदी का उद्गम स्थल ,हुआंग ह उद्गम स्थल और लान छांग च्यांग उद्गम स्थल समेत तीन उप क्षेत्र शामिल हैं ।

शी चिनफिंग और मातृ नदी हुआंग ह

तीन साल के बाद सान च्यांग य्वेन राष्ट्रीय पार्क में पहली बार बर्फीले तेंदुए का फोटो खींचा गया । बर्फीला तेंदुआ ऊंचे पठार पर पारिस्थितिकी व्यवस्था की स्वस्थता का एक अहम संकेत माना जाता है ।स्थानीय पारिस्थितिकी संरक्षण स्टेशन के प्रमुख मा क्वी ने मीडिया बताया ,हमारी काउंटी इतिहास की पुस्तक में स्नो लेपोर्ड का उल्लेख किया गया था। लेकिन मैं ने यहां लगभग 20 साल तक काम किया था और पहले कभी नहीं स्नो लेपोर्ड का फोटो या वीडियो देखा था ।पिछली सर्दी में हम ने सचमुच स्नो लेपोर्ड का फोटो खींचा ।

हुआंग ह नदी के ऊपरी भाग में स्थित छी ल्येन पहाड़ क्षेत्र में खनिजों के प्रचुर भंडार हैं ।लेकिन कुछ साल के पहले खनिजों के गैरकानूनी विकास से वहां के पर्यावरण पर गंभीर नुकसान पहुंचा था ।इस मुद्दे को लेकर शी चिनफिंग ने कई बार निर्देश दिये ।अब छि ल्येन पहाड़ में सभी खनिज के विकास व खुदाई की परियोजनाएं बंद की गयी हैं और वहां रह रहे नागरिक भी बाहर स्थानांतरित किये गये हैं ।

शी चिनफिंग और मातृ नदी हुआंग ह

पिछले अगस्त में शी चिनफिंग ने कान सू प्रांत की यात्रा में विशेष तौर पर छी ल्येन पहाड़ के पारिस्थितिकी संरक्षण क्षेत्र के केंद्रीय भाग शान तान घोड़े मैदान जाकर स्थर पर्यावरण बहाली की स्थिति का निरीक्षण किया ।उन्होंने खासकर निरंतर विकास के लिए पारिस्थितिकी संरक्षण के महत्व पर जोर दिया ।उन्होंने कहा ,हमारा आर्थिक विकास ऐसे चरण से गुजर रहा है कि हमें उच्च गुणवत्ता पूरा करना है ।स्वच्छ पानी और हरित पहाड़ अनमोल संपत्ति हैं।

शी चिनफिंग और मातृ नदी हुआंग ह

छिन लिंग यांग त्सी नदी क्षेत्र और हुआंग ह नदी क्षेत्र का जल-संभर क्षेत्र है, जो महत्वपूर्ण पारिस्थितिकी रक्षा आवरण है ।2014से 2018 तक छिंग लिंग में बसे गैरकानूनी विला (villa)सवाल के बारे में शी चिनफिंग ने लगातार 6 बार निर्देश दिये ।अब हजार से अधिक गैरकानूनी निर्माण हटाये गये हैं ।इस अप्रैल में शी चिनफिंग ने स्थल पर छिनलिंग के पारिस्थितिकी संरक्षण की स्थिति का जायजा लिया ।

हुआंग ह नदी चीन के 6 प्रांतों से गुजरती है ।इस क्षेत्र में 30 प्रतिशत चीनी लोग रहते हैं ।चीनी आर्थिक व सामाजिक विकास तथा पारिस्थितिकी सुरक्षा के लिए हुआंग ह का बड़ा महत्व है ।पिछले साल के 18 सितंबर को आयोजित विशेष संगोष्ठी में शी चिनफिंग ने बल दिया कि हुआंग ह नदी की सुरक्षा चीनी राष्ट्र के महान पुनरुत्थान से संबंधी दीर्घकालिक रणनीति है ।उन्होंने कहा ,हुआंग ह नदी क्षेत्र के पारिस्थितिकी संरक्षण और गुणवत्ता विकास को बढ़ाना रातों-रात नहीं हो सकता ।ऐतिहासिक और रणनीतिक धैर्य होना चाहिए ।हमें ऐतिसाहिक जिम्मेदारी संभालनी है । पीढ़ी दर पीढ़ी को एक ही रूपरेखा को लागू करना है ।

(वेइतुंग)

लोकप्रिय कार्यक्रम
रेडियो प्रोग्राम
रेडियो_fororder_banner-270x270