हरित दिवस में पर्यावरण के अनुकूल तरीकों से अपना प्यार दिखाएं

2022-08-13 22:46:02

हर साल 14 अगस्त को हरित दिवस (ग्रीन डे या ग्रीन वेलेंटाइन डे) मनाया जाता है। यह दिवस चेक गणराज्य, स्लोवाकिया आदि पूर्वी यूरोपीय देशों में उत्पन्न हुआ है, जिसका उद्देश्य हरित, पर्यावरण संरक्षण और लोहास की भावना की वकालत करना है। हरित दिवस को दुनिया भर में अधिकाधिक युवाओं द्वारा पसंद किया जाता है।

पारंपरिक वेलेंटाइन दिवस पर लोग उपहार और फूल देकर अपने प्यार का इजहार करते हैं। गुलाब, चॉकलेट, उपहार और फूल को पैक करने के बाद उनकी कीमतों में बहुत उछाल आया है, लेकिन यह दृष्टिकोण पर्यावरण पर भी भारी बोझ डालता है। खूबसूरती और रोमांस बनाने वाली इन पैकेजिंग के पीछे पर्यावरणीय बोझ है। यह गणना की जाती है कि प्रत्येक 2 हजार रैपिंग पेपर की खपत के लिए 1 पेड़ काटने की जरूरत पड़ती है। जबकि फूलों के 50 हजार गुलदस्ते में रैपिंग पेपर की 10 लाख शीट की आवश्यकता पड़ती है, जिसका अर्थ है 500 पेड़ों को काटना।

हरित दिवस में लोगों को क्या उपहार देना चाहिए? लोग गमले के पौधे या फूल भेज सकते हैं। यह न केवल सराहना के समय को बढ़ाया जा सकता है, बल्कि हवा को शुद्ध करने में भी भूमिका निभा सकता है। यह निश्चित रूप से पर्यावरणविदों के लिए सबसे अच्छा विकल्प है। यदि लोग गुलदस्ते प्राप्त करते हैं, तो लोग गुलदस्तों को खाद बना सकते हैं।

पारंपरिक वेलेंटाइन डे कार्ड कागज से बने होते हैं और कागज पेड़ों से बने होते हैं। पारंपरिक वेलेंटाइन डे कार्ड कुछ हद तक संसाधनों को बर्बाद कर देते हैं। इसलिए हरित दिवस में पारंपरिक वेलेंटाइन डे कार्ड के बजाय ई-कार्ड का उपयोग करने से कचरे को कम करने में मदद मिलती है।

हरित दिवस में प्रेमियों के बीच रिश्ते बढ़ाने के लिए अगर कोई अच्छे सुझाव हैं, तो वह एक साथ कुछ सार्थक करना ही है। जो लोग प्रकृति के करीब रहना पसंद करते हैं, तो वे अपने प्रेमी के साथ एक पर्यावरण संरक्षण स्वयंसेवक बन सकते हैं। वे एक साथ एक पेड़ लगाकर अपने स्वयं के "प्यार के फल" की छटांई करेंगे।

हरित दिवस में लोग टेकआउट की खरीद करने और रेस्तरां में खाना खाने के बजाय घर में अपने प्रेमी के लिए रोमांटिक भोजन बनाना चुन सकते हैं। खाना पकाने से पहले जरूरी सामग्रियों की गणना करना और भोजन की बर्बादी से बचने की कोशिश करना आदि बात पर्यावरण के अनुकूल हैं।

हरित दिवस में उपरोक्त उपहारों के अलावा लोग अपने प्रेमी के साथ सैर पर निकल सकते हैं, प्रकृति को गले लगा सकते हैं और अनोखे और पर्यावरण के अनुकूल तरीके से अपने प्रेमी के सामने अपनी भावनाओं को व्यक्त कर सकते हैं।

"हरित दिवस" की अवधारणा का पालन करने से लोग न केवल मधुर प्यार प्राप्त कर सकते हैं, बल्कि एक हरा पारिस्थितिक वातावरण बनाने के लिये सक्रिय योगदान दे सकते हैं।

 (हैया)

रेडियो प्रोग्राम