श्रीलंकाई प्रधानमंत्री और आईडीसीपीसी प्रधान के बीच वीडियो वार्ता

2022-07-05 14:15:45

श्रीलंका की यूनाइटेड नेशनल पार्टी के अध्यक्ष, देश के प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने 4 जुलाई को चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की केंद्रीय समिति के अंतरराष्ट्रीय विभाग (आईडीसीपीसी) के प्रधान ल्यू च्येनछाओ के साथ वीडियो वार्ता की। 

विक्रमसिंघे ने कहा कि लंबे समय से श्रीलंकाई और चीनी लोगों के बीच मित्रवत संबंध रहे हैं। इस वर्ष दोनों देशों के बीच राजनयिक संबंधों की स्थापना की 65वीं वर्षगांठ और "राइस रबर समझौते" पर हस्ताक्षर किये जाने की 70वीं वर्षगांठ है, जो श्रीलंका-चीन संबंधों के विकास के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। लंबे समय में चीन श्रीलंका के आर्थिक और सामाजिक विकास के लिए मूल्यवान समर्थन करता है और सहायता देता है, इसके प्रति श्रीलंका चीन को धन्यावाद देता है। यूनाइटेड नेशनल पार्टी चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के साथ अपने संबंधों को बहुत महत्व देती है, और दोनों पक्षों के बीच आदान-प्रदान व सहयोग को और मजबूत करने, अंतर-पार्टी संबंधों के माध्यम से दोनों देशों के बीच विभिन्न क्षेत्रों में व्यावहारिक सहयोग को बढ़ावा देने के लिए तैयार है, ताकि दोनों देशों के लोगों को ज्यादा लाभ मिल सके। इस वार्ता में विक्रमसिंघे ने श्रीलंका की वर्तमान आर्थिक स्थिति का भी परिचय दिया।

वहीं, ल्यू च्येनछाओ ने कहा कि चीन-श्रीलंका मैत्री का इतिहास बहुत पुराना है। लंबे समय से दोनों देश अच्छे-पड़ोसी मित्रता, आपसी लाभ और उभय जीत पर डटे रहे हैं, और हमेशा एक-दूसरे के साथ खड़े रहते हुए सुख-दुख साझा करते हैं। चीन और श्रीलंका आपसी विश्वास और सहयोग के अच्छे भागीदार हैं। चीनी कम्युनिस्ट पार्टी का यूनाइटेड नेशनल पार्टी समेत श्रीलंका की प्रमुख पार्टियों के साथ मजबूत संबंध बना हुआ है, जो द्विपक्षीय संबंधों के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। नई स्थिति में चीनी कम्युनिस्ट पार्टी श्रीलंकाई यूनाइटेड नेशनल पार्टी के साथ मिलकर रणनीतिक संपर्क मजबूत करना, संस्थागत आदान-प्रदान को गहरा करना, लोगों को लाभ पहुंचाने वाले सहयोग का विस्तार करना, एकता व सहयोग का मार्गदर्शन करना चाहती है, ताकि समान रूप से शांतिपूर्ण और स्थिर अंतरराष्ट्रीय व क्षेत्रीय वातावरण की रक्षा कर सकें।

(श्याओ थांग)

रेडियो प्रोग्राम