क्वांगतुंग प्रांत के ह्वेईचाउ शहर में कार्यरत अक्रीबैक

2020-09-20 17:49:09
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

शिनच्यांग वेइगुर स्वायत्त प्रदेश का 19 वर्षीय युवक अक्रीबैक एक साल पहले दक्षिणी चीन के क्वांगतुंग प्रांत के ह्वेईचाउ शहर में काम करने आया। अक्रीबैक ने बताया कि उस के पिता जी का बहुत पहले ही निधन हो गया था। घर पर उसकी मां, एक छोटी बहन और वह खुद है। अपने परिवारजनों को अच्छा जीवन दिलाने के लिए अक्रीबैक मिडिल स्कूल में अपनी पढ़ाई पूरी कर क्वांगतुंग में काम करने आया है।

अक्रीबैक ने कहा कि जब घर पर रहता था तब मुझे भी अपने लिए एक मोबाइल-फोन खरीदने का स्वप्न था। क्योंकि मेरे सभी सहपाठियों के पास मोबाइल फोन है और वे मोबाइल फोन का इस्तेमाल करने का आनन्द उठाते हैं। लेकिन मेरे घर में आर्थिक हालत अच्छी नहीं थी। मेरी मां एक महीने में केवल एक दो हजार युवान ही कमा पाती थी, घर में मेरे पास मोबाइल फोन खरीदने के पैसे नहीं थे। तब मुझे अपने सहपाठियों से मोबाइल फोन उधर लेना पड़ा।

क्वांगतुंग प्रांत की एक इलेक्ट्रिक फैक्टरी में काम करने के तीसरे महीने में अक्रीबैक ने अपनी कमाई से एक मोबाईल फोन खरीदा। अक्रीबैक ने अपनी आय का अधिकांश भाग मां को वापस भेज दिया, शेष भाग से अक्रीबैक ने रोजाना खर्च में प्रयोग किया और एक मोबाइल फोन खरीदा। मोबाइल फोन श्रेष्ठ है और इससे अक्रीबैक को इंटरनेट पर बहुत जानकारियां मिल जाती है।

अब अक्रीबैक की मां को खुशी है, घर में सब कुछ खरीद सकते हैं। मां ने अक्रीबैक को धन्यवाद कहा। मां की बात सुनकर अक्रीबैक भावुक हो गया। लेकिन अक्रीबैक ने अपनी बहन के लिए एक और मोबाइल फोन खरीदने से इनकार किया। उसने कहा कि बहन अब छोटी है, केवल छठी कक्षा में पढ़ती है। ऐसी उम्र में मोबाइल फोन रखना अच्छा नहीं है। हाई स्कूल में पढ़ने के बाद मैं उसे एक मोबाइल फोन खरीद कर दूंगा।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories