सीपीपीसीसी सदस्य लीन फानरूः निजी कंपनी को आर्थिक लाभ उठाने के साथ सक्रियता से सामाजिक जिम्मेदारी निभानी चाहिए

2020-05-25 10:43:12
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

कोविड-19 महामारी फैलने के बाद सभी चीनी लोग एकजुट होकर महामारी की रोकथाम कर रहे हैं। सीपीपीसीसी के सदस्य भी सक्रियता से भाग लेते हैं। चीन के शानतोंग प्रांत की श्यांगयू कंपनी के अध्यक्ष, सीपीपीसीसी के सदस्य लिन फानरू उनमें से एक हैं। इस साल संसदीय सत्र में वे निजी कंपनी के विकास के बारे में सुझाव देंगे। आइए, हम जानते हैं उनके विचार।

“दवाख़ाना के कर्मचारियों ने महामारी की रोकथाम में बड़ा योगदान दिया है। लेकिन अस्पताल और चिकित्सकों की तुलना में दवाख़ाना और यहां काम करने वाले कर्मचारियों पर हमारा ध्यान नहीं जता है। हम उनके दबाव को समझ नहीं पाते हैं और न ही उनके योगदान को कोई ख़ास महत्व देते हैं।”

महामारी फैलने के बाद लीन फानरू ने शानतोंग प्रांत के औषधि वाणिज्य संघ की ओर से सबसे पहले हूपेई प्रांत के क्वांगकांग और श्याओकान शहर को 1 करोड़ 40 लाख युआन की दवाइयां भेंट कीं। 23 जनवरी को उन्होंने पूरे शानतोंग प्रांत के दवा जगत के साथियों को दवा की गुणवत्ता सुनिश्चित करने और कीमत न बढ़ाने की पहल की।

“चिकित्सकों की दया, दवा-विक्रेताओं की अंतरात्मा। राष्ट्रीय संकट में हमें धन के बारे में नहीं सोचना चाहिए। हमारी कंपनी की रनहथांग नामक दवाख़ाना ने वचन दिया कि दवा पर्याप्त रहेगी, दाम में बढ़ोतरी न होगी और न ही दुकान कभी बंद होगी। दवा की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए हमने वसंत त्योहार की छुट्टियों में ही कर्मचारियों को वापस बुला लिया था और लगातार 24 घंटे उत्पादन किया। हमारी दवाख़ानों के 3,000 से अधिक कर्मचारी छुट्टी से वापिस आकर अपने कामकाज में जुट गए।”

महामारी की स्थिति में चीन की अर्थव्यवस्था के सामने मुश्किलें और चुनौतियां पैदा हुईं, जो पहले कभी इस तरह नहीं आई थी। इस साल की पहली छमाही में चीन की जीडीपी में 6.8 प्रतिशत की कटौती हुई, जो साल 1992 से अब तक पहली बार नकारात्मक रही। निजी उद्यमों के लिए आर्थिक दबाव और स्पष्ट रुप से दिखता है। लीन फानरू ने कहा कि दबाव ज्यादा है, लेकिन विभिन्न स्तरीय सरकारों ने टैक्स की उदार नीति अपनाई। इससे महामारी की रोकथाम और व्यापार के विकास में कंपनियों को बड़ा समर्थन मिला।

“हमारी कंपनी ने सरकार की उदार नीतियों से डेढ़ करोड़ युआन का लाभ उठाया है। इससे हमारी लागत कम हुई और कठिन समय में सहायता मिली। इसके अलावा, महामारी के दौरान उद्यमों का सामान्य व्यापार सुनिश्चित करने के लिए विभिन्न वित्तीय संगठनों ने आवेदन की प्रक्रिया सरल बनाई। कई बैंकों ने सहायता देने के लिए हमें विशेष ऋण भी दिया।”

साल 2018 से चीन सरकार ने निजी उद्यमों का विकास बढ़ाने के लिए सिलसिलेवार कदम उठाए, जिससे निजी उद्यमों को विकास का मौका मिला। लीन फानरू के विचार में निजी कंपनी को आर्थिक लाभ उठाने के साथ बदले में देना भी चाहिए।

“जब भी देश और समाज को हमारी जरूरत पड़ती है, तब हम निजी कंपनियों को समय पर आगे आकर अपनी सामाजिक जिम्मेदारियां निभानी चाहिए।”


शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories