खबरें

तिब्बत में विकास का नया युग

​सन 1959 में नये चीन की सरकार ने तिब्बत में लोकतांत्रिक रुपांतर शुरू किया। जिससे तिब्बत में राजनीतिक और धार्मिक एकीकरण की सामंती भूदास व्यवस्था को भंग किया गया और तिब्बती भूदासों, जो तिब्बती जनसंख्या के 95 प्रतिशत भाग रहता था, की मुक्ति की गयी। तिब्बती जनता एकता, समृद्धता और सभ्यता वाले नये तिब्बत का निर्माण करने वाले युग में प्रविष्ट हो गयी। उस समय से आज तक के साठ सालों में चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के नेतृत्व में तिब्बत में विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय उपलब्धियां हासिल की गयी हैं।

तिब्बत में वृद्ध सेवा से संबंधित कार्यों में सुधार

हाल ही में तिब्बत स्वायत्त प्रदेश की सरकार ने बूढ़ापे की देखभाल की सेवा में अधिक सुधार लाने के प्रति एक दस्तावेज़ तैयार की है जिसके मुताबिक तिब्बत में बूढ़ों की सेवा में अधिक सुधार लाया जाएगा।

माउंट चोमोलंगमा का सदैव संरक्षण

हिमालय पर्वत की रिज पर खड़े माउंट चोमोलंगमा, जिसका दूसरा नाम है माउंट एवरेस्ट, को विश्व में सबसे ऊँचा पहाड़ माना जाता है। और वह चीन और नेपाल के बीच की सीमा पर स्थित है। 8848 मीटर ऊंची यह चोटी अपने अद्भुत दृश्यों से विश्व भर के पर्वतारोहियों को आकर्षित है।  

(फोटो)तिब्बत की फोटो प्रदर्शनी मकाओ में आयोजित

तिब्बत में भूदास मुक्ति की 60वीं वर्षगांठ मनाने के लिए मकाओ में तिब्बती सांस्कृतिक-आर्थिक विकास प्रोत्साहन समिति ने 9 अप्रैल को मकाओ के मैत्री स्क्वायर में तिब्बत की फोटो प्रदर्शनी आयोजित की।

तिब्बती हस्तशिल्प कला का जी-जान से विकास

चीन के तिब्ब्त स्वायत्त प्रदेश की राजधानी ल्हासा शहर के उपनगर में स्थित तुंगगा गांव में स्थापित पारंपरिक तिब्बती हस्तशिल्प कंपनी के कुल अठावन कर्मचारियों में से अड़तालीस लोग अपाहिज होते हैं। वे इस कारखाने में कौशल सीखकर अपनी सपना को साकार कर चुके हैं।  

मीलिन कस्बे में अच्छा जीवन बिता रहे हैं तिब्बतवासी

दक्षिण पूर्वी तिब्बत स्वायत्त प्रदेश के न्यिंग-ची शहर की मीलिन काउंटी के मीलिन कस्बे में लोग आर्थिक सहकारिता के माध्यम से धनी रास्ते की ओर आगे बढ़ रहे हैं, और वे अच्छा जीवन बिताने लगे।  

तिब्बत की राजधानी ल्हासा शहर में 8848 नवाचार पार्क स्थापित

गत वर्ष के दिसंबर में तिब्बत स्वायत्त प्रदेश की राजधानी ल्हासा शहर में 8848 नवाचार पार्क स्थापित हुआ जहां पूंजीनिवेश, उत्पादन वस्तुओं का प्रसार, उद्यमी विनिमय तथा प्रशिक्षण आदि की सेवाएं प्रदान की जाती हैं। बहुत से तिब्बती उद्यमियों ने यहां अपना सपना साकार किया है।

तिब्बत में ल्वोपा संस्कृति का संरक्षण और उत्तरवर्तन

दक्षिण पूर्वी तिब्बत स्वायत्त प्रदेश के न्यिंग-ची शहर में मीलिन काउंटी के नानई ल्वोपा जातीय जिले में 132 परिवार के 553 लोग बसे हुए हैं, जिनमें 98 परिवार के 417 लोग ल्वोपा जाति के हैं। इस जिले के अधीन छ्योंगलिन गांव और छाईचाओ गांव चीनी अल्पसंख्यक जाति ल्वोपा जाति बहुल गांव है। 

गार्ज़े तिब्बती स्वायत्त प्रीफेक्चर में द-ग सूत्र मुद्रण संग्रहालय का निर्माण शुरू

दक्षिण पश्चिमी चीन के सिचुआन प्रांत के गार्ज़े तिब्बती स्वायत्त प्रीफेक्चर में द-ग सूत्र मुद्रण संग्रहालय का निर्माण शुरू होने वाला समारोह हाल ही में आयोजित हुआ। 

तिब्बत स्वायत्त प्रदेश में वर्ष 2019 विदेश व्यापार का लक्ष्य निर्धारित

तिब्बत स्वायत्त प्रदेश की सरकार की एक कार्य रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2018 में तिब्बत स्वायत्त प्रदेश की विदेश व्यापार रकम चार अरब अस्सी करोड़ युआन तक रही, उनमें सीमांत व्यापार की राशि 9 करोड़ 90 लाख युआन भी शामिल हुई।  

2019 में तिब्बत के अति गरीब क्षेत्रों में ग्रिड निर्माण परियोजना शुरू

हाल में तिब्बत के नाछ्वू शहर की नीमा काउंटी में 10 किलोवोल्ट से कम ग्रिड की सुधार परियोजना का निर्माण शुरू हुआ। यह इस बात का द्योतक है कि 2019 तिब्बत के अति गरीब क्षेत्रों में ग्रिड निर्माण परियोजना शुरू हो चुकी है।

पंचन अरडेनी च्वोग्यीग्याकॉः लोकतांत्रिक सुधार तिब्बती बौद्ध धर्म के विकास व प्रगति का अहम मोड़

सीपीपीसीसी की स्थायी सदस्य और चीनी बौद्ध धर्म संघ के उपाध्यक्ष 11वें पंचन अरडेनी च्वोग्यीग्याकॉ ने हाल में पेइचिंग में कहा कि चीन में लोकतांत्रिक सुधार लाखों भूदासों की मुक्ति पाने की महान क्रांति है। साथ ही तिब्बती बौद्ध धर्म के विकास व प्रगति का अहम मोड़ भी है।

HomePrev1234NextEndTotal 4 pages