सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

013 शैतानी का चित्र बनाना आसान है

cri 2017-01-30 17:48:45
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

013 शैतानी का चित्र बनाना आसान है

भोला हिरन का शोचनीय अन्त 糊涂麋鹿

"भोले हिरन का शोचनीय अन्त"नाम की नीति कथा को चीनी भाषा में"हू थू मी लू"(hútu mílù) कहा जाता है। इसमें"हू थू"का अर्थ है"भोला", जबकि"मी लू"है हिरन। कहानी में भोले हिरन के शोचनीय अंत सुनाया जाता है।

बहुत पहले की बात है। लिनच्यांग नाम के एक स्थान में रहने वाले शिकारी ने एक छोटा दुधमुंहा हिरन का बच्चा पकड़ा। उसे प्यारे से हिरन के बच्चे पर दया आ गयी और उसे अपने घर लाकर पालने लगा।

जब वह हिरन के बच्चे को घर के दरवाजे पर लाया, तो उसके कई शिकारी कुत्तों की नज़र उस पर पड़ गई, उनके मुंह से लार निकलने लगी और वे हिरन के बच्चे को खाने को बेताब हो गए। शिकारी को बहुत गुस्सा आया और उसने कुत्तों को लात मार मार कर दूर भगा दिया।

हिरन के बच्चे और कुत्तों के बीच आत्मीयता और दोस्ती कायम करने के लिए शिकारी रोज हिरन को कुत्तों के साथ खेलने आंगन में ले जाने लगा, उसे लगा कि ऐसा करने से कुत्ते और हिरन एक-दूसरे से परिचित हो जाएंगे और उनके बीच दोस्ती कायम होगी। जब कभी भी कुत्तों की बुरी नज़र हिरन पर पड़ती तो शिकारी उन्हें खूब मारता।

कई दिन बीतने पर हिरन का बच्चा और कुत्ते एक दूसरे से पूरी तरह परिचित हो गए, वे अकसर मिल कर खेल करने लगे और बड़े आत्मीय बन गए। यूं तो कुत्ते हिरन का स्वादिष्ट मांस खाने को हमेशा आतुर रहते थे, पर अपने मालिक से डर के कारण उन्हें खुद पर नियंत्रण करना पड़ता था। और भोला-भाला हिरन का बच्चा, मालिक के प्यार और संरक्षण से डर को भूल गया और बड़ी लापरवाही से कुत्तों को अपना अच्छा मित्र समझने लगा। उसे यह भी ख्याल नहीं रहा कि कुत्ते हिरन के दुश्मन होते हैं।

तीन साल यूं ही गुजर गए। एक दिन हिरन खेलने के लिए आंगन से बाहर निकला, बाहर कुछ दूरी पर कुत्तों का एक झुंड आपस में खेल रहा था, छोटा हिरन दौड़कर कुत्तों के साथ खेलने चला गया। बाहरी कुत्तों ने जब देखा कि उनके बीच में एक हिरन आया है, तो वे तुरंत हिरण पर टूट पड़े और उन्होंने पलक झपकते हुए हिरन को ज़मीन पर गिरा दिया। बस क्या था जमीन पर हिरन की टूटी हड्डी और खून से रंगे बाल रह गए।

बेचारा हिरन का बच्चा मरते दम भी नहीं समझ पाया कि आखिर कुत्ते उसे मारकर क्यों खा रहे हैं।

छोटे हिरन की दुखांत कथा हमें बताती है कि किसी चीज के बाहरी स्वरूप से भ्रमित होने से बचना चाहिए, उस चीज की असलियत जानना बहुत जरूरी है। ताकि उसके साथ बर्ताव करने का उचित और सही तरीका अपनाया जा सके।

013 शैतानी का चित्र बनाना आसान है

शैतानी का चित्र बनाना आसान है 画鬼最易

"शैतानी का चित्र बनाना आसान है"नाम की नीति कथा को चीनी भाषा में इसे"हुआ गुइ च्वेइ यी"(huà guǐzuì yì) कहा जाता है। इसमें"हुआ"का अर्थ है चित्र बनाना, जबकि"गुइ"शैतान है, "च्वेइ"का अर्थ है"सब से"और"यी"का अर्थ है आसान।

प्राचीन काल की बात है, एक दिन एक चित्रकार छी राजवंश के राजा का चित्र बना रहा था।

राजा ने पूछा:"तुम्हारे विचार में किस चीज़ का चित्र बनाना मुश्किल है?"

चित्रकार ने जवाब दिया:"कुत्ते और घोड़े आदि का चित्र बनाना कठिन है।"

राजा ने फिर पूछा:"तो किस चीज़ का चित्र बनाना सबसे आसान है?"

चित्रकार ने कहा:"शैतान का चित्र बनाना ज्यादा आसान है"

चित्रकार के जवाब पर राजा को बड़ा आश्चर्य हुआ। चित्रकार ने राजा की नासमझ को दूर करते हुए कहा:"महाराज, आप देखें, कुत्ता और घोड़ा ऐसे जानवर है, जिसे सभी लोग जानते हैं, रोज देखने को मिलते हैं, उनका चित्र बनाने में जरा भी ग़लती हुई, तो कोई भी उसे बता सकता है, जहां तक शैतान की बात है, न उसका आकार किसी ने देखा है, ना ही उसकी छाया को कोई पकड़ सका है, सभी शैतानों के चित्र कल्पना से बनाए गए हैं, कौन जान सकता है कि मैंने जो शैतान का चित्र बनाया है, वह असली शैतान से मेल नहीं खाता, इसलिए शैतान का चित्र बनाना बहुत आसान है।"

"शैतानी का चित्र बनाना आसान है"यानी चीनी भाषा में"हुआ गुइ च्वेइ यी"(huà guǐzuì yì) नाम की कथा से हम यह शिक्षा ले सकते हैं कि किस भी प्रकार का काम करने के लिए कड़ी मेहनत की आवश्यकता होती है, काल्पनिक रूप से असली चीज नहीं बनायी जा सकती है।

12MoreTotal 2 pagesNext

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories