युन्नान में पर्यटन के विकास से लोगों को गरीबी से छुटकारा

2020-07-29 12:00:00
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/5

दक्षिण चीन के युन्नान प्रांत के तीछिंग तिब्बत स्वायत्त प्रिफेक्चर के शंगरिला शहर का फुदाजोव राष्ट्रीय पार्क विश्व प्राकृतिक धरोहर का एक स्थल है, जहां चीन की तीन महा नदियों का संगम है। वहां ऊंचे पहाड़, तालाब, बर्फीले पर्वत और घास मैदान, आदिम वन, भूवैज्ञानिक अवशेष, जातीय रीति-रिवाज और धार्मिक संस्कृति आदि सुन्दर दृश्य मौजूद हैं। पार्क में विविध जीव, दृश्य और संस्कृतियां हैं, जिस का बहुत ऊंचा संरक्षण मूल्य और प्रदर्शन मूल्य होता है।

फुदाजोव राष्ट्रीय पार्क के पारिस्थितिकी संरक्षण के साथ साथ स्थानीय लोगों के जीवन ने भी गरीबी से समृद्ध बनने लगा है। 2019 में इस पार्क ने कुल मिलाकर 94.5 लाख यात्रियों का सत्कार किया और 18.19 अरब रुपये की कमाई की, जिस का बहुत अच्छा सामाजिक, पारिस्थितिकी और आर्थिक लाभांश है।

फुदाजोव राष्ट्रीय पार्क में आसपास की 23 गांवों के किसान समूहों ने नौकरी हासिल की है। पार्क ने स्थानीय बुनियादी संरचनाओं के निर्माण में भी 600 लाख रुपये की पूंजी दी।

पहले राष्ट्रीय पार्क के आसपास कम्युनिटी शिंगरिला का गरीब क्षेत्र था, जहां रहने वाले लोग भरपेट भी नहीं खा पाते थे। इधर के वर्षों में वहां के लोग बुनियादी तौर पर गरीबी से छुटकारा पा चुके हैं।

पार्क की फुदाजोव पर्यटन कंपनी के 300 कर्मचारियों में से 32 प्रतिशत स्थानीय नागरिक हैं। वे मुख्यतः पर्यावरण संरक्षण गाड़ियों के ड्राइवर, स्वच्छता कार्मिक और गाईड के रूप में काम करते हैं। जिसने कुछ हद तक स्थानीय रोजगार का दबाव कम हुआ है।

साथ ही नागरिकों के पार्क के पर्यावरण संरक्षण आदि कार्यों में शामिल होने से उन की पारिस्थितिकी विचारधारा को मजबूत किया गया है। स्थानीय लोगों की आमदनी बढ़ने के साथ उन की परम्परागत विचारधारा भी बदल गयी है। भविष्य के रोजगार के लिए एक अच्छी नींव रखने के लिए अब ज्यादा से ज्यादा युवा विभिन्न उच्च शिक्षालयों और पेशेवर कॉलेजों में पढ़ने लगे हैं।

शेयर