हांग चओ का पश्चिम झील

2020-05-29 11:00:00
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/5

आप को मालूम हुआ ही होगा कि पश्चिम झील चीन के सब से रमणीय पर्यटन स्थलों में एक जाना जाती है। प्राचीन काल से आज तक चीन की बड़ी तादाद में हस्तियां पश्चिम झील के दर्शनीय प्राकृतिक सौंदर्य पर मोहित हो जाती हैं। आज के इस कार्यक्रम में हम आप के साथ पश्चिम झील की खूब सूरत को देखने जा रहे हैं।

पश्चिम झील पूर्वी चीन के चच्यांग प्रांत की राजधानी हांग चओ शहर के केंद्र में खड़ी हुई है। चीन में एक कहावत है कि ऊपर आकाश पर स्वर्ग है, जबकि पृथ्वी पर सू चओ और हांग चओ शहर हैं। इस का अर्थ है कि पश्चिम झील का दर्शनीय दृश्य सिर्फ स्वर्ग जितना मनोहर है। ईस्वी 13वीं शताब्दी में यूरोप के प्रसिद्ध यात्री मार्को पोलो हांग चओ के दौरे पर गये थे। उन्होंने अपने यात्रा विवरण में हांग चओ की पश्चिम झील के दौरे का वर्णन किया।

पश्चिम झील का क्षेत्रफल 6.5 वर्गकिलोमीटर विशाल है। झील की चारों ओर पर्वतों से घिरी हुई हैं, पर्वतों पर छायादार पेड़े उगे हुए हैं, जबकि पेड़ों के बीच प्राचीन स्तूप और लाल रंग वाले भवन झांकते हुए नजर आते हैं। चीनी वास्तु शैलियों में बने यात्री नाव चुपचाप से झील में तैरते हुए दिखायी देते हैं। झील का स्वच्छ पानी और तटों पर अच्छादित हरिलायी दृश्य सुन्दर चीनी स्याही चित्र जान पड़ता है।

प्रचीन काल में चीनी लेखक व कवि कविता लिखने या चित्र बनाने के आदी थे। पश्चिम झील के सौंदर्य ने उन्हें अकसर रचनाएं रचने को प्रेरित किया, अतः चीन के अंगिनत विख्यात महान साहित्यकारों, कवियों और लेखकों ने पश्चिम झील के सौंदर्य से प्रभावित होकर जो ऐतिहासिक रचनाएं लिखीं। वे आज तक भी चीनी लोगों के जुबान पर हैं।

पश्चिम झील के पास सौ से ज्यादा विशेष मनोहर पर्यटन स्थल उपलब्ध हैं, जिन में पश्चिम झील के दस भू दृश्य सब से विख्यात हैं। इन दस भू दृश्यों में वसंत, गर्मी, शरद और सर्दी मौसमों के दृश्य, फिर नजदीक व दूर नजरें, नजदीक व दूर सुनाई और दिन व रात के दृश्य शामिल हैं।

पश्चिम झील हांग चओ शहर का प्रतीक ही नहीं, चीन का प्रतीक भी है। वह चीन के विशेष भू दृश्यों का द्योतक ही है। पुराना इतिहास, रहस्यमय कहानियां, विशेषता वाले सुन्दर निर्माण और प्राचीन चीन का पुराना इंजीनियरिंग कौशल अत्येंत आश्चर्य हैं।

पश्चिम झील का उद्रम आज से दो हजार वर्ष पहले हुआ था, पर चीन के दो प्रसिद्ध ऐतिहासिक हस्तियों ने पश्चिम झील के सौंदर्य के लिए भारी योगदान दिये थे। नवीं शताब्दी के थांग राजवंश के मशहूर कवि पाई च्यूई और 11वीं शताब्दी के सुंग राजवंश के महान साहित्यकार सू तुंगफो ने हांग चओ के शासनकाल में पश्चिम झील का सुधार किया और आज तक प्रशंसनीय सुरक्षित पाई बाँध व सू बाँध बनवाये।

पश्चिम झील के पास बहुत से पुराने ऐतिहासिक व सांस्कृतिक अवशेष पाये जाते हैं। 2002 में हांग चओ नगर पालिका ने पश्चिम झील की बहुदेशीय संरक्षित परियोजना कार्यान्वित की। 150 से ज्यादा ऐतिहासिक व सांस्कृतिक पर्यटन स्थलों का पुनर्निमाण किया और मुफ्त में झील परिक्रमित पार्क व म्युनिजय खोल दिये। नये पश्चिम झील का क्षेत्रफल विस्तृत हो गया है। संपूर्ण संरक्षित कदमों से झील की प्राकृतिक पारिस्थितिकी बहाली हो रही है। पश्चिम झील हांग चओ शहर का प्रतिनिधित्व करने लायक है, शहर का प्राण है, आत्मा है। यहां पर खूब सूरत प्राकृतिक दृश्य ही नहीं, अपनी विशेष संस्कृति और निर्माण भी हैं और वह चीन की विशेषताओं का एक पहलू भी है।

शेयर