छुंगछिंग शहर के हुंगया तुंग का दौरा

2019-10-09 09:00:00
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

दक्षिण पश्चिम चीन स्थित छुंगछिंग शहर अपनी विशेष भू सूरत पहाड़ी शहर के नाम से जाना जाता है, जिससे साल भर अंगिनत देशी विदेशी पर्यटकों को अपनी ओर खिंचा जाता है। चीन की प्रसिद्ध प्रथम नदी यांत्ज़ी नदी और चालिन नदी इसी शहर से चीरकर आगे बह जाती हैं और इन दोनों नदियों का संगम भी यहां पर मिलता है। इतना ही नहीं, उक्त दोनों नदियों ने छुंगछिंग शहर को चार तटों में विभाजित भी कर दिया है। अतीत के हजारों सालों में इन चार तटों पर लकड़ियों से तैयार काष्ठ मकान कतारों में दिखायी देते हैं। स्थानीय लोग इन मकानों को झुलती इमारत कहते हैं, जिन में हुंगया तुंग क्षेत्र में खड़ा हुआ झुलती इमारत समूह सब से उल्लेखनीय है और वह छुंगछिंग शहर में घाटी संस्कृति का एक जीवंत जीवाश्म कहा जा सकता है।

हुंगया तुंग की झुलती इमारत समूह पहाड़ से सटकर निर्मित हुआ है। इमारतों की समूची वास्तु शैलियां इतनी सरल व अनूठी हैं कि प्राचीन इमारतों को और आधुनिक वास्तु शैलियों से जोड़ा जाता है।

हुंगया तुंग झुलती इमारत समूह यांत्ज़ी नदी व चा लिन नदियों के संगम स्थित छाओ थ्येन मन क्षेत्र और चा लिन नदी के तट के पिन च्यांग रोड पर है। समूचे झुलती इमारत समूह की लम्बाई 600 मीटर है और सभी झुलती इमारतें ऊबड़ प्राकृतिक पहाड़ी सूरतों के अनुसार 11 मंजिलों पर नजर आती हैं, सब से ऊंचे स्थान व नीचले स्थान पर निर्मित इमारतों के बीच का अंतर 75 मीटर है। स्थानीय वासियों ने इन अर्द्ध आकाश रूपी प्राचीन सड़कें भी निर्मित की हैं। उन में से एक जमीन से 30 मीटर और अन्य एक जमीन से 47 मीटर दूर है। कहा जाता है कि वर्तमान दुनिया के सभी निर्मित इमारत समूहों में उस का विशेष स्थान बना लेता है। और तो और इन इमारतों पर सुन्दर डिजाइनों का सूक्ष्म रूप से चित्रण किया गया है। इस अद्धुत दृश्य को देखकर पर्यटक दांतों तले उँगली दबाये बिना नहीं रह सकते।

यह भवन निर्माण समूह छुंगछिंग शहर के एक ऐताहिसिक व सांस्कृतिक काल का द्योतक है, उसका सब से बड़ा मूल्य पर्यटन में है। क्योंकि पर्यटक यहां आने के बाद छुंगछिंग शहर के असाधारण ऐतिहासिक माहौल ही नहीं, बल्कि केंद्र शासित छुंगछिंग शहर का आधुनिक पर्यावरण महसूस कर सकते हैं। साथ ही हुगया तुंग सांसारिक पर्यटन क्षेत्र ने इस नये केंद्र शासित शहर में चार चाँद भी लगा दिया है।

कुछ साल पहले चा लिन नदी के पिन च्यांग रोड के निर्माण के चलते हुंगया तुंग क्षेत्र के आसपास टूटी फूटी झोपड़ियों को हटाया गया है और यहां छुंगछिंग शहर की विशेषता वाले सांसारिक शैलियों से युक्त नया क्षेत्र निर्मित हो गया है। पहाड़ों से सटकर अंगिनक झुलती इमारतें सीढ़ीनुमा कतारों में सुव्यवस्थित रूप से दिखायी देती हैं, जिसे देखकर लोग चमत्कृत रह जाते हैं। पर्यटकों को इस सांसारिक पर्यटन क्षेत्र जाने के लिए काफी सुविधाएं उपलब्ध हैं। नदी पर जहाज से सीधे हुंगया तुंग सांसारिक पर्यटन क्षेत्र में प्रवेश कर सकते हैं। फिर पर्यटन भवन के लोबी में लिफ्त के जरिए पर्यटन स्थल की सब से ऊपरी मंजिल यानी 11वीं मंजिल पर स्थापित बरामदे पर पहुंच सकते हैं।

पर्यटक इस सात हजार वर्गमीटर क्षेत्रफल वाले बरामदे पर खड़े होकर छुंगछिंग शहर के पिन च्यांग रोड का सौंदर्य और पूरे पहाड़ी शहर की रौनकदार चहल पहल आंखे भरकर देख सकते हैं। यांत्ज़ी नदी और चा लिन दोनों नदियों के संगम का बहाव तेजी से आगे बहकर जाता नजर आता है और पानी का फिका फिका स्वाद हवा के झोंकों से महसूस हो सकता है। यदि पर्यटक टेढ़ी मेढ़ी पत्थर सीढ़ियों के सहारे नीचे पहुंच जाये, तो एक छोटी पगडंडी सड़क सुव्यवस्थित झूलती इमारत समूह और खड़ी चट्टानों के बीच झलकता हुआ नजर आता है, यही हुंगया तुंग सांसारिक पर्यटन क्षेत्र ही है।

यह विदेशी विशेषताओं से युक्त सड़कों का नमूना कहा जा सकता है। पर्यटक इस सड़क पर दक्षिण अमेरिका के क्रिस्टोन, लातिन अमेरिका के मुखौता, तुर्की के दीवारी कालीन और ओशिनियाई महा द्वीप के लेजर व जापान की कुठपुतली कला कृतियां जैसी मजेदार वस्तुएं बेची जाती हैं। इतना ही नहीं, इस सड़क पर छुंगछिंग शहर के नाना प्रकार के स्वादिष्ट पकवान भी खाने को मिलते हैं।

खाना, पीना, रहना, मनोरंजन करना और खरीदना पर्यटकों की जरूरत और पर्यटन कार्य के सतत विकास के लिए अत्यावश्यक है। पर्यटकों को दसेक मंजीलों वाले हुंगया तुंग केंद्र में बड़े आराम से नाना प्रकार के स्वादिष्ट खाना खाने को मिलता ही नहीं, बल्कि खरीददारी, मनोरंजन और रहने की सुविधाएं उपलब्ध भी हैं।

इस सड़क पर सारी दुनिया के प्रसिद्ध स्वादिष्ट खाना खाने को मिलते हैं। पर्यटक भिन्न भिन्न स्वाद वाले खाने का मजा ले सकते हैं। मसलन पेइचिंग के प्रसिद्ध भुने हुए छ्वानच्यूते बतख, पूर्वी चीन की शांगहाई पन पांग तरकारी, हांगकांग और यूरोप व एशिया के अलग अलग स्वाद वाले खाना इतने अधिक हैं कि न जाने पेट भरने के लिए क्या क्या स्वादिष्ट खाना चुना जाता है। इस सड़क पर छोटे बड़े रेस्त्राओं को छोड़कर चाय घर भी पाये जाते हैं। पर्यटक पेट भरकर खाना खाने के बाद चाय घर में सुगंधित चाय की चुस्की लेते हुए मित्रों के साथ गपशप भी मार सकते हैं।

हुंगया तुंग पर्यटन क्षेत्र की पा य्यू सड़क भी बहुत चर्चित है। पर्यटक इसी सड़क पर स्थानीय परम्परागत रेशमी कपड़े और ऐसे महीन रेशमी कपड़ों से तैयार दस्तकारी वस्तुएं खरीद सकते हैं।

उल्लेखनीय है कि इन दोनों सड़कों पर घूमते हुए पर्यटकों को सछ्वान प्रांतीय ओपेरा और लोकप्रिय कलाबाजियां और अन्य रूचिकर मनोरंजक कार्यक्रम देख सकते हैं। सड़क पर दिन में छुंगछिंग शहर की विशेष स्थानीय और यादगार वस्तुएं तथा प्रसिद्ध स्थानीय चित्रकारों के चित्र खरीदने को मिलते हैं। जबकि रात को पचास हजार से अधिक दीपकों से सुसज्जित हुंगया तुंग पर्यटन भवन चमचमाते हुए बहुत सुन्दर लगता है।

ऐसे वक्त पर पर्यटक रौनकदार रात्रि दृश्य का आन्द उठाने के साथ साथ विभिन्न शैलियों से सजधज बारों में शराब पीने में मजा लेते हुए छुंगछिंग शहर की स्थानीय शराब पर्यावरण महसूस भी कर सकते हैं।

कहा जाता है कि छुंगछिंग शहर का हुंगया तुंग सांसारिक पर्यटन क्षेत्र विश्व में सब से बड़ा शहरीय खड़ी चट्टान वाला शहर माना जाता है।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories