जलवायु परिवर्तन का निपटारा करने के लिए विश्व में सब से बड़ा पोस्ट कार्ड बनाया गया

2019-01-02 10:00:00
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
8/8

गिनीज वल्ड रिकॉर्ड तोड़ने वाला एक पोस्ट कार्ड हाल में स्विट्जरलैंड में बनाया गया। यह पोस्ट कार्ड 1.25 लाख सामान्य पोस्ट कार्डों से बनाया गया है, जिसका कुल क्षेत्रफल 2500 वर्गमीटर है। इस पोस्ट कार्ड बनाने का मकसद विश्व से कदम उठाकर जलवायु परिवर्तन का निपटारा करने की अपील करना है।

स्विट्जरलैंड के विकास व सहयोग कार्यालय ने परिचय देते हुए कहा कि ये पोस्ट कार्ड 35 देशों से आए 6 से 20 की उम्र वाले 1.25 लाख बच्चों व युवाओं ने जलवायु परिवर्तन के टीम की रचना की है, जिनमें 80 प्रतिशत विकासशील देशों से हैं। आयोजन संस्था के जिम्मेदार थॉमस घास ने कहा कि हरेक कार्ड ने ग्लोबल वार्मिंग के लिए चिंता प्रतिबिंबित है। उन के मुताबिक,वर्तमान गतिविधि का मकसद है एक जबरदस्त सिगनल जारी करना है। यानी 1.25 लाख युवाओं ने मौसम परिवर्तन का सुधार करने का कर्तव्य निभाने की आशा जताई। कारण यह है कि हमारा सिर्फ एक पृथ्वी है। हम देख सकते हैं कि हरेक कार्ड पर वचन लिखा गया है। कुछ ने कहा कि मैं पानी की किफायत करूंगा, कुछ ने कहा कि मैं सार्वजनिक यातायात साधनों का इस्तेमाल करने की कोशिश करूंगा। कुछ ने कहा कि मैं समय पर लाइटिंग को बंद करूंगा। अन्य कुछ ने कहा कि मैं प्लास्टिक बोतलों का प्रयोग नहीं करूंगा। हमें अपने पोते-पीतियों के लिए पर्यावरण संरक्षण करना चाहिए।

यह विशाल पोस्ट कार्ड स्विट्जरलैंड के दर्शनीय पर्यटन स्थल पुराने अलेछ हिमनद पर प्रदर्शित किया गया है। यह चेतावनी देने का अर्थ भी है। वैश्विक जलवायु परिवर्तन का एक प्रत्यक्ष परिणाम है कि हिमनद पिघलता है। घास ने कहा कि यदि हम कारगर कदम नहीं उठाते, तो अलेछ हिमनद एक दिन लापता होगा। उन के मुताबिक,नहीं तो, पोस्ट कार्ड बनाने वाले 1.25 लाख युवा 80 सालों के बाद यहां सिर्फ चट्टान देख पाते हैं, जबकि हिमनद नहीं देख सकेंगे। जबकि यह हिमनद आज स्विट्जरलैंड के सब से गहरे हिमनदों में से एक माना जाता है।

घास ने यह भी बताया कि कुछ पोस्ट कार्डों को दिसम्बर माह में संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन की ढांचागत संधि के 24वें संस्थापक पक्षों के सम्मेलन में भाग लेने वाले प्रतिनिधियों को देने के लिए पोलैंड भी भेजा गया। ताकि विभिन्न देशों के नेताओं व निर्णय निर्माताओं से बच्चों की आवाज सुनने की अपील कर सके। घास ने कहा,यह नयी पीढ़ी के लोगों का आह्वान है कि मौजूदा नेताओं को अपने कर्तव्य निभाने चाहिए। हमें आर्थिक प्रचलन के तरीकों, उपभोग के तरीकों और यातायात के तरीकों का सिलसिलेवार अहम सुधार करने चाहिए। इस के अलावा कार्ड पर सूचनाएं हरेक आदमी और हरेक देश की सरकार से संबंधित है।

गौरतलब है कि 29 पोस्ट कार्ड चीन के हांगकांग से आये हैं। घास ने वैश्विक जलवायु प्रशासन में चीन की सक्रिय भागीदारी का उच्च मूल्यांकन भी किया। उन के मुताबिक,चीन ने पेरिस जलवायु परिवर्तन समझौते के हस्ताक्षर करने में कुंजीभूत भूमिका अदा की है। अब हमारा समान विजन, समान लक्ष्य और समान योजना है। लेकिन इस मकसद को पूरा करने के लिए बहुत मुश्किल है, चूंकि हमें गरीबी से संघर्ष करना है और बुनियादी संरचनाओं को सुनिश्चित करना है। हमें हमारी पीढ़ी के लिए रहने योग्य उचित पृथ्वी को बरकरार रखना चाहिए।

शेयर