जापान के तोकुशिमा जिले में वृद्धपन से कलाकारों को आकृषित

2018-12-20 10:00:00
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/5

जापान के युवा आम तौर पर बड़े शहरों में नौकरी करना पसंद करते हैं, जिससे छोटे शहरों में आबादी निरंतर कम हो रही है। इसलिए जापान की कई स्थानीय छोटी सरकारों ने उपाय सोचकर लोगों को आकर्षित करने का प्रयास किया। जापान के तोकुशिमा जिले की कमियामा त्यो में वृद्ध लोगों की संख्या कुल आबादी के 50 प्रतिशत से ज्यादा होती है, लेकिन इस छोटे जिले में कुल 16 आईटी कंपनियां स्थित हैं। कई कलाकार और दस्तकार भी यहां ठहरने लगे। तो इस का क्या कारण है? सुनिये संबंधित एक रिपोर्ट।

तोकुशिमा जिले की कमियामा त्यो चारों ओर से पहाड़ घिरे होते हैं, जिस का मुख्य उद्योग कृषि है। वह पांच गांवों से गठित एक स्थल है। 1955 में यहां की आबादी 2.1 हजार थी, जबकि अब यहां सिर्फ 5400 लोग रहते हैं, जबकि 50 प्रतिशत से अधिक लोग 65 की उम्र से ऊपर वाले वृद्ध लोग हैं। लेकिन इधर के सालों में आईटी कंपनियों ने क्रमशः यहां वर्कशॉपों की स्थापना की। कई कलाकारों व दस्तकारों ने भी दूर से यहां स्थानांतरित किया, जिसने विभिन्न पक्षों का ध्यान खींचा है।

डिजाइनर हिरोसे कियोहरु ने सात साल पहले यहां वर्कशॉप की स्थापना हुई। तीन साल पहले उन्होंने ओसाका शहर की कंपनी को बंद कर पूरे परिवार को यहां स्थानांतरित किया। उन के विचार में यहां कम खर्च वाला जीवन होता है, साथ ही आरामदेह जीवन भी। सुबह उठने के बाद सब से पहले मछली पकड़ सकते हैं, फिर वर्कशॉप जाकर काम कर सकते हैं। उन के मुताबिक,जब मैं बड़े शहर में रहता था, रोज काम के लिए बहुत व्यस्त रहा था। बहुत कठिनाइयों से पैसे कमाने के बाद खर्च करने से दबाव कम करने की कोशिश की थी। कमियामा त्यो में द्वार निकालते ही प्रकृति से छून सकता हूं। यहां मुझे बहुत आरामदेह लगता है। ये सब पैसे से नहीं खरीदा जा सकता है।

फिल्म व टीवी प्रोग्राम बनाने वाली कंपनी पलेत ईज़ का मुख्यालय राजधानी तोक्यो में स्थित है। 2011 में तोक्यो भूकंप के बाद जोखिम को कम करने के लिए कंपनी ने कमियामा त्यो में दफ्तर की स्थापना की। हाल में कंपनी की 106 कर्मचारियों मे से 16 यहां काम करते हैं। हालांकि वे विभिन्न स्थलों में काम करते हैं, फिर भी उन के वेतन और काम बराबर है। कंपनी के सीईओ सुमिता तेस्जु ने कहा,विभिन्न कार्य वातावरण की रचना करने के लिए मैंने यहां दफ्तर खोला। चूंकि हरेक कर्मचारी अपने उचित वातावरण के प्रति भिन्न-भिन्न मांग हैं, इसलिए मैं कर्मचारियों को एक विकल्प देना चाहता हूं। वे लोग तोक्यो में काम कर सकते हैं, साथ ही यहां भी काम कर सकते हैं।

बाहर से आए इन लोगों ने इस स्थल को समुन्नत विचारधारा दी है, जिससे यहां पहले के संसाधनों का पूरा इस्तेमाल किया गया है और नये बाजार का विकास किया गया है। इसी वजह से कमियामा त्यो में बड़ा परिवर्तन भी आया है। हिरोसे कियोहरु के मुताबिक,

हमें लगता है कि यहां के लोग बहुत सक्षम हैं। वे धान उगाने के साथ साथ विविधतापूर्ण उपकरण भी बनाते हैं। जबकि हम डिजाइनिंग कर सकते हैं। हमारे बीच एक दूसरे की आपूर्ति है, जिससे और ज्यादा नये मूल्य पैदा हुए हैं।

आधुनिक समाज में चाहे आप कहां रहते हो, तो समान कार्य कर सकते हैं। कुछ लोग प्राकृतिक वायु पसंद करते हैं, जबकि अन्य कुछ आरामदेह वातावरण पसंद करते हैं। आजकल कुछ नयी पीढ़ी के लोगों ने बड़े शहरों से यहां स्थानांतिरत किया है। कमियामा त्यो की एक स्थानीय प्रशासनिक इकाई की हैसियत से आगे बरकरार रखने के लिए स्थानीय सरकार ने हर साल 44 आप्रवासियों को यहां ठहरने के लिए आकर्षित करने की योजना बनायी है।

शेयर