सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

भारत में रहने वाले चीनी लोग

2018-10-25 10:00:00
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

भारत में रहने वाले चीनी लोग

हाल ही में ज्यादा से ज्यादा चीनी लोगों ने भारत जाने का विकल्प लिया। कुछ चीनी लोग शादी करने की वजह से, कुछ चीनी लोग काम की वजह से, अन्य कुछ चीनी लोग सिर्फ पसंद की वजह से भारत आये हैं।

भारतीय अख़बार बिजनिस स्टेंडर्ड ने हाल में नी हाओ इंडिया नामक एक पेज का लेख जारी किया और भारत में रहने और काम करने वाले दसों चीनियों की कहानियां सुनायीं।

रिपोर्ट के मुताबिक हाल में बंगलुरू में चार सालों से ज्यादा समय के लिए रहने वाले चीनियों की संख्या कम से कम 500 तक पहुंची हैं। अन्य करीब 1000 चीनी लोग काम की वजह से बंगलुरू आते जाते हैं। भारत के गुड़गांव में 1000-1200 चीनी रहते हैं। चेन्नई में करीब 1000 चीनी लोग हैं, जो अधिकांश तेज़ आर्थिक विकास होने वाले उद्योग व बंदरगाह शहर श्री सिटी में रहते हैं। तो उपरोक्त शहरों में 5000 से ज्यादा चीनी लोग अकसर रहते हैं।

भारत में रहने वाले चीनी लोग

18वीं शताब्दी के अंत में भारत के कोलकाता में अनेक चीनी प्रवासियों ने आने लगे। जबकि आज भारत के एकमात्र चीनी सिटी में चीनियों की आबादी दिन ब दिन कम हो रही है। नयी पीढ़ी के चीनी लोग युवा और क्रियाशील हैं। उन के लिए बंगलुरू, गुड़गांव, चेन्नई, मुम्बई और पुणे सब से अच्छी जगहें हैं। एमा एक चीनी लड़की है। उन्होंने एक भारतीय से शादी की। पिछले दस सालों में उन्होंने भारत के मुम्बई, कोलकाता, बंगलुरू आदि अनेक शहरों का दौरा किया। उन के विचार में हाल में भारत में चीनियों के ठहरने के तीन कारण हैं।

पहला, कुछ चीनी लोग विवाहित जीवन आदि पारिवारिक संबंधों के कारण भारत में ठहरते हैं। आज चीनियों और भारतियों के बीच शादी करना सामान्य की बात बन चुकी है। वीचेट पर एमा का अपना एक सर्कल है, जिस में अनेक ऐसी चीनी लड़कियां हैं, जिस का विवाह भारतीय लड़कों से हुआ। उन में से कुछ लोग भारत में रहने का विकल्प लिया। इन चीनी लड़कियों के लिए भारत के अपेक्षाकृत अविकसित बुनियादी संरचनाएं एक बड़ी समस्या नहीं है। परिजनों की मदद से वे जल्द ही स्थानीय जीवन में शामिल हो सकती हैं।

12MoreTotal 2 pagesNext

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories