एक नया फैशन बन चुका है दौड़ते समय व्यायाम करना

2018-09-25 10:00:00
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/7

यदि आप सड़क पर ये आदमी देखते कि वे रबर दस्ताने पहनते हुए और कचरा बैग लेते हुए दौड़ते हैं और कचरों को इकट्ठा करते हैं, तो आप को आश्चर्य नहीं लगता है। वे लोग फैशनबल व्यायाम प्लोगिंग“Plogging”कर रहे हैं। शब्द प्लोकिंग स्वीडिश भाषा में प्लोका (plocka)और जॉगा(jogga)दो शब्दों का जोड़ है, जिस का अर्थ है दौड़ते समय कचरों को इकट्ठा करना है।

कहा जाता है कि स्वीडन एरिक अर्सत्रन स्वीजन के उत्तरी छोटे कस्बे में रहते हैं। 2016 में उन्होंने राजधानी स्टॉकहोम वापस लौटकर रहने का साहसिक निर्णय लिया। लेकिन जब वे राजधानी पहुंचे, तो उन्होंने देखा कि वहां प्लास्टिक की बोतल नदी में तैरती थी और कचरे के बैग हवा में उड़ते थे। सड़कों पर कचरा भी अकसर दिखायी देता था। बड़े शहर के पर्यावरण प्रदूषण को देखकर एरिक बहुत निराश हुए। लेकिन वे सोचते थे कि शायद वे कुछ कर सकते हैं।

एरिक को जॉगिंग करने की आदत है। वे दौड़ते समय कचरे को इकट्ठा करने लगे। धीरे धीरे यह भी एक आदत बन गयी है। कचरा बैग और दस्ताने एरिक के व्यायाम करने के आवश्यक उपकरण बने। उन्होंने अपने मित्रों को बुलाकर भी इस तरह व्यायाम करने के लिए कहा।

कुछ लोगों ने दौड़ने के बाद अपने सोशल मीडिया इंस्टाग्राम पर अपने द्वारा इकट्ठा किये गये कचरे को दिखाया, जिन्हें नेटीजनों द्वारा शेयर किया गया। प्लोगिंग पर्यावरण के लिए अच्छा है, साथ ही लोगों के स्वास्थ्य के लिए भी लाभदायक है। कचरा इकट्ठा करते समय लोग शारीरिक अभ्यास भी कर सकते हैं।

बीबीसी और वाशिंगटन पोस्ट आदि विश्व की अनेक मीडिया ने प्लोगिंग की रिपोर्ट दी। अब जर्मनी, अमेरिका, थाईलैंड, चीन और भारत आदि देशों में प्लोगिंग करने वाले लोग नजर आने लगे हैं। वे सिर्फ यात्री नहीं हैं, बल्कि शहरों की छवि को बदल रहे हैं। वे लोग अपने प्रयास से शहरों को और सुन्दर बनाते हैं। तो आइए, आप भी अपने परिजनों और दोस्तों के साथ प्लोगिंग करने में हिस्सा लें।

 

 

शेयर