छिंगताओ में भारतीय इंफोसिस कंपनी

2018-07-04 10:00:00
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn


छिंगताओ में भारतीय इंफोसिस कंपनी

छिंगताओ में भारतीय इंफोसिस कंपनी

एससीओ छिंगताओ शिखर सम्मेलन ने विश्व की नजर खींची है। छिंगताओ शहर के लाओशान डिस्ट्रिक्ट छिंगताओ चिप वैली माना जाता है, जहां विश्व के विभिन्न देशों से आए आईटी उद्यम इकट्ठे हुए हैं। इंफोसिस उन में से एक है। छिंगताओ शहर में शाखा कंपनी की स्थापना के बाद इस आईटी कंपनी ने छिंगताओ में मेहनत से बाजार बनाने की कोशिश की और इस के व्यवसाय ने यहां से चीन के और ज्यादा क्षेत्रों में फैलाया।

हाल में इंफोसिस कंपनी के पूर्वोत्तर चीन के जिम्मेदार अवनी शिवारी ने एक साक्षात्कार में चीन में इंफोसिस के विकास के बारे में बताया।

पिछले नौ वर्षों में उन्होंने चीन-भारत संस्कृति के टक्कर और चीन के तेज़ विकास को महसूस किया। उन्होंने कहा कि चीन और भारत के नेताओं की वू हान अनौपचारिक भेंटवार्ता में खास तौर पर आईटी क्षेत्र में द्विपक्षीय सहयोग की चर्चा की। यह उन के लिए बड़ी खुशी की बात है। इंफोसिस भारत के सॉफ्ट वेयर, परामर्श सेवा और आउटसोर्सिंग क्षेत्र का नेतृत्व उद्यम है, जो भारतीय इतिहास में अमेरिकी शेयर बाजार में प्रवेश करने वाला पहला भारतीय उद्यम है। 2017 में इंफोसिस की ऑपरेटिंग आय करीब 11 अरब अमेरिकी डॉलर थी। चीन में भारतीय इंफोसिस का व्यवसाय 2003 में शुरू हुआ था। उस ने चीन के शांगहाई के मिंगहांग डिस्ट्रिक्ट में 15 करोड़ अमेरिकी डॉलर की पूंजी देकर भारत के बाहर सब से बड़े केंद्र की स्थापना की। यह चीन में विदेशी आईटी उद्यम का सब से बड़ा निवेश भी है। हाल में भारतीय इंफोसिस ने चीन के शांगहाई, छिंगताओ, पेइचिंग, हांगचो, शनजंग और ताल्यान आदि स्थलों में विकास केंद्रों की स्थापना की।

1234MoreTotal 4 pagesNext

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories