नये युग में चीन-भारत संबंध पर संगोष्ठी पेइचिंग में आयोजित

2018-06-27 10:00:00
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

नये युग में चीन-भारत संबंध पर संगोष्ठी पेइचिंग में आयोजित

नये युग में चीन-भारत संबंध पर संगोष्ठी पेइचिंग में आयोजित

हाल ही में भारत स्थित चीनी राजदूत ल्वो च्याओह्वेई ने फानगू थिंक टैंक द्वारा आयोजित“हाथ मिलाकर आगे बढ़ें,  ड्रैगन-हाथी एक साथ नाचें —— नये युग में चीन-भारत संबंध”की संगोष्ठी में भाग लिया और थीम पर भाषण भी दिया। दक्षिण एशियाई और भारतीय समस्या के करीब 20 मशहूर विद्वानों ने संगोष्ठी में भाग लिया।

संगोष्ठी में ल्वो च्याओह्वेई ने कहा कि हालिया चीन-भारत संबंध के विकास के लिए कुछ श्रेष्ठ थिंक टैंकों की आवश्यकता है। फानगू थिंक टैंक की प्रणाली लचीली है, जिसने विभिन्न पक्षों के संसाधनों को इकट्ठा कर चीन-भारत संबंधों के लिए योगदान किया गया है। यह अन्य थिंक टैंक के लिए सीखने योग्य है। उनके विचार में चीन-भारत संबंधों के विकास के लिए खास तौर पर उच्च शिक्षालयों के थिंक टैंकों और समाज के थिंक टैंकों समेत विभिन्न अनुसंधान संस्थाओं के समर्थन की आवश्यक्ता है। थिंक टैंक, सरकार और मीडिया संस्थाओं को और ज्यादा आवाजाही करके चीन-भारत भावी सहयोग को बौद्धिक समर्थन देना चाहिए।

राजदूत ल्वो ने कहा कि हाल में अंतर्राष्ट्रीय परिस्थिति विकास की दो बड़ी प्रवृत्तियों का सामना कर रही है। एक, विकासशील देशों का जबरदस्त विकास हो रहा है। दूसरा, व्यापारिक संरक्षणवादी नजर आयी है। इसी परिस्थिति में विकासशील देशों को मित्रवत सहयोग से इन सब का निपटारा करना चाहिए। विश्व में दो सबसे बड़े विकासशील देश होने के नाते चीन और भारत को सहयोग, विकास से भविष्य के उन्मुख संपर्क और आदान प्रदान को मजबूत करना चाहिए।

123MoreTotal 3 pagesNext

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories