सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

चीन ने व्यापक खुलेपन की नयी परिस्थिति खोली है

2018-03-14 12:00:00
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

चीन ने व्यापक खुलेपन की नयी परिस्थिति खोली है

चीन ने व्यापक खुलेपन की नयी परिस्थिति खोली है

पिछले कुछ वर्षों में चीन आधुनिक आर्थिक सिस्टम का निर्माण करता रहा है। चीन में व्यापक खुलेपन की नयी परिस्थिति पैदा हो रही है। 

एक पट्टी एक मार्ग का निर्माण चीन द्वारा विदेशों के साथ खोलने का अहम सामरिक कदम है, साथ ही चीन के खुलेपन कार्य का महत्व भी है। पिछले कुछ वर्षों में एक पट्टी एक मार्ग पहल को अंतर्राष्ट्रीय समुदाय का व्यापक समर्थन मिला है। कई देशों का सहयोग इरादा निरंतर मज़बूत किया जा रहा है। अपूर्ण आंकड़े बताते हैं कि अभी तक चीन ने 86 देशों और अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के साथ 100 सहयोगी दस्तावेजों पर हस्ताक्षर किया है। चीन ने विभिन्न पक्षों के साथ आपसी संपर्क और व्यापार और खुलेपन की उपलब्धियों का साझा लाभ उठाया है।

चीनी अंतर्राष्ट्रीय आदान-प्रदान केंद्र के उप मुख्य अर्थशास्त्री श्वू होंगछ्येई ने कहा कि एक पट्टी एक मार्ग पहल से आर्थिक भूमंडलीकरण की विचारधारा लोगों के दिलों में ठहरी है। इसने चीन के खुलेपन के क्षेत्र और स्तर को असामान्य ऐतिहासिक मौका भी दिया है।

श्वू के अनुसार, नीतिगत संपर्क, सड़क संपर्क, व्यापार संपर्क, मुद्रा परिसंचरण और जनता की आवाजाही की विचारधारा लोगों के दिलों में खड़ी हो चुकी है। चीन ने बुनियादी संरचनाओं के आपसी संपर्क से पूंजी निवेश से व्यापार का विस्तार किया है, वैश्विक आर्थिक विकास को प्रेरित कर नयी प्रेरणा शक्ति डाली है। इस प्रक्रिया में चीनी मुद्रा रनमिनबी के अंतर्राष्ट्रीयकरण और उत्पादन क्षमता के सहयोग में भी नयी प्रेरणा शक्ति डाली गयी है।

हाल ही में चीन ने शांगहाई, क्वांगतुंग और थ्येनचिन समेत कई स्थलों में 11 स्वतंत्र व्यापार प्रशिक्षण क्षेत्रों की स्थापना की है। अर्नेस्ट एंड यंग कंपनी ने हमारे पत्रकार के साथ साक्षात्कार में कहा कि चीनी बाज़ार में प्रवेश करने वाली सबसे पुरानी अंतर्राष्ट्रीय पेशेवर सेवा कंपनियों में से एक होने के नाते इस कंपनी को चीन के खुलेपन से लाभांश मिला है। कंपनी के अधिकारी तितुस वोन देम बांगर्त ने कहा, पिछले कई सालों में चीन ने स्वतंत्र व्यापार क्षेत्र की स्थापना की। अब हमारे ग्राहक स्वतंत्र रूप से चीनी बाजार में प्रवेश कर सकते हैं। हम भी और अच्छी तरह संबंधित सेवा प्रदान कर सकेंगे। साथ ही हम ने यह भी देखा है कि और ज्यादातर विदेशी कंपनियां चीन में प्रवेश करने की कोशिश कर रही हैं।

खुलेपन को और गहरा करने की नीति के मुताबिक शांगहाई और क्वांगतुंग जैसे स्थल स्वतंत्र व्यापार बंदरगाहों का निर्माण करने पर भी सोच विचार कर रहे हैं। चीनी वाणिज्य मंत्रालय की अनुसंधान संस्थान के उपप्रधान चांग च्येनफिंग के मुताबिक, अब स्वतंत्र व्यापार परिक्षण क्षेत्रों में कर वसूली का प्रबंध नहीं है। भविष्य में यदि स्वतंत्र व्यापार बंदरगाह दुबई बंदरगार और सिंगापुर बंदरगाह के फ़ार्मूले से प्रचलन करता है, तो कर वसूली और पोर्ट स्पेस को बड़ा बनाने की आवश्यक्ता है। अब शांगहाई ने योजना को केंद्र सरकार को पेश किया है। क्वांगतुंग और चच्यांग आदि प्रांत भी अपनी योजनाएं बना रहे हैं। भविष्य में स्वतंत्र व्यापार बंदरगाह चीन के खुलेपन का फ्रंट स्थल बन सकेगा।

वित्तीय बाजार में प्रवेश करने की शर्तों को ढीला करना चीन के खुलेपन की नीति का एक अहम भाग है। गत वर्ष चीन ने घोषणा की कि चीन विदेशों के लिए ��ैंक, स्टॉक मार्केट और बीमा आदि वित्तीय बाजार खोलेगा। चीनी बैंक के सर्वोच्च अनुसंधानकर्ता चोंग ल्यांग ने विश्लेषण करते समय कहा कि वित्तीय बाजार में खुलेपन न सिर्फ़ आरएमबी की अंतर्राष्ट्रीय प्रक्रिया को आगे बढ़ा सकता है, साथ ही चीन विश्व की पूंजी को आकर्षित करने के स्थान को बरकरार रखेगा। चीन को विश्व पूंजी को आकर्षित करने का वाईब्रेंट देश बनाने के लिए किस तरह के माहौल की तैयारी की जानी चाहिए। चीनी वाणिज्य मंत्रालय की अनुसंधान संस्थान के उप प्रधान पेई मिंग की नजर में चीन का खुलापन व्यापक है। यानी चीन को आयातित करना और निर्यात करना दोनों पर महत्व देने की जरूरत है। पेई के मुताबिक, भविष्य में हम द्वार के बाहर क्षेत्र का विस्तार करेंगे, जबकि द्वार के अंदर आधार को मज़बूत बनाएंगे। उदाहरण के लिए, हम दूसरों देशों के साथ स्वतंत्र व्यापार समझौते पर हस्ताक्षर करेंगे। चीन द्वारा प्रस्तुत एक पट्टी एक मार्ग पहल की अनेक देशों की प्रतिक्रियाएं मिली हैं। जबकि देश में मेड इन चाइना 2025 योजना चीन की प्रतिस्पर्द्धा शक्ति को उन्नत करेगी। चीन की प्रतिस्पर्द्धा शक्ति के उन्नत करने से विदेशों के साथ खुलापन और विस्तृत हो सकेगा।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories