कागज़ कटिंग

2018-02-14 10:00:00
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/10

कागज़ कटिंग का दूसरा नाम है ख जी( कागज तराश), जो चीन की हान जाति की सब से पुरानी लोक कलाओं में से एक है। लाल कागज़ व दूसरे रंग के कागज़ को कैंची व चाकू से भांति भांति के बेलबूटे और तस्वीरें काटी जाती हैं। चीन में इस कला का इतिहास कोई दो हज़ार से अधिक वर्ष पुराना है और चीनी लोक कलाओं में व्यापक लोकप्रिय कला कृति है। कागज कटिंग एक जालीदार कलाकृति है, जो दृष्टि में लोगों को परिप्रेक्ष्य का अनुभव और कलात्मक उपभोग दे सकती है। लोग कागज, सोने व चांदी की पन्नी, पत्ते छिलका, कपड़ा, चमड़ा व मानव निर्मित चमड़ा आदि सपाट सामग्रियों पर कागज कटिंग करते हैं।

कागज़ कटिंग चीन में व्यापक प्रचलित परम्परागत सजावट की लोक कलाओं में से एक है। सुलभ सामग्री, कम खर्च, फौरी प्रभाव और व्यापक इस्तेमाल से इस कला का व्यापक स्वागत किया जाता है। कागज कटिंग की कृति आम तौर पर ग्रामीण महिलाएं फ़ुरसत के समय बनाती हैं, जो व्यवहारिक उपयोग की चीज़ के रूप में इस्तेमाल की जा सकती है और साथ ही जीवन को अलंकृत भी किया जा सकती है। देश के विभिन्न स्थलों में कागज कटिंग देखने को मिलती है, विभिन्न स्थलों की भिन्न भिन्न स्टाइल पर भिन्न भिन्न शाखाएं भी पैदा हुई हैं। कागज कटिंग में सौंदर्य बोध के बारे में लोगों की रुचि-पसंद और राष्ट्र का सामाजिक मनोभाव प्रतिबिंबित होता है। वह सब से स्पष्ट राष्ट्रीय विशेषता रखने वाली कलाओं में से एक है। क्योंकि वह न केवल खूबसूरत और उत्कृष्ट है, साथ ही पूर्व की विशेष मोहन शक्ति भी संजोए रखती है, जिससे लोगों को जीवन में खुशहाली और प्रसन्नता व उल्लास का माहौल भी महसूस होता है।

चीन में कागज कटिंग की परंपरा आम जनता से उत्पन्न हुई है। क्योंकि कागज़ काटने का साधन सरल है, आकृति सुन्दर है, शैली विशेष है व सजावट के लिए अनुपम है, तथा देखने में रूपवान एवं उपयोग के लिए सुविधापूर्ण है, इसलिए हज़ारों सालों में वह श्रमिक लोगों में अत्यन्त लोकप्रिय है। श्रमिक लोग अपने आदर्श, अभिलाषा व भावना को कैंची के जादू पर अर्पित कर देते हैं और अपनी जानी पहचानी वनस्पतियों व जानवरों, लोक कथाओं, नाटक ऑपेरा के पात्रों तथा दैनिक जीवन के आधार पर रंगबिरंगी कृतियों और जीवन के माहौल से भरी ���ागज कटिंग की कृतियां तैयार करते हैं, जिनसे श्रमिक लोगों की सीधी सादी भावना और स्वस्थ सौंदर्य बोध और विशुद्ध व आदिम कलात्मक सौंदर्य अभिव्यक्त हुआ है।

वर्तमान में चीन की लोक कलाओं में कागज कटिंग के कलाकारों की संख्या सब से ज़्यादा है, जो दक्षिण चीन से उत्तरी चीन तक, ग्रामीण क्षेत्रों से शहरी क्षेत्रों तक फैलते हैं। पुरुष हो या महिला, बड़े हो या छोटे, जगह जगह कागज कटिंग के कलाकार नज़र आते हैं। भिन्न भिन्न स्थानों में भिन्न भिन्न जीवन तौर तरीके के कारण कागज़ कटिंग के क्षेत्र में उन की अलग अलग शैली देखने को मिलती है। चीन के शैनशी प्रांत में खिड़की पर चिपकने वाली कागज़ कटिंग, हपेई प्रांत की वेइ कांउटी में नाटक ऑपेरे के पात्रों की कागज़ कटिंग कृतियां तथा दक्षिण चीन के अल्पसंख्यक जातीय आबादी क्षेत्रों में कढ़ाई के लिए कागज़ नमूना आदि ज्यादा मशहूर हैं। विविध प्रकारों की रंगबिरंगी कागज़ कटिंग चीनी लोगों के जीवन को और अधिक सुन्दर बना देती है।

विविध प्रकारों की रंगबिरंगी कागज़ कटिंग में गहरी व स्पष्ट राष्ट्रीय पहचान दिखती है, वह चीनी जनता के जीवन को सुन्दर बनाने की कलाकृति है। उसे बेशुमार विदेशी लोगों की पसंद भी प्राप्त हुई है।

 

शेयर