रंगारंग कंडील

2018-02-11 18:56:27
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/10

रंगारंग कंडील चीन में ह्वा तङ भी कहलाता है। हर वसंतोत्सव या य्युन श्याओ त्योहार आदि खुशगवार दिनों में चीन के शहरों व गांवों में घर घर में लालटेन टांगे जाते हैं।

चीन में रंगीन कंडील के निर्माण में आम तौर पर बांस, लकड़ी या धातु से ढांचा बनाया जाता है और बाहर से काग़ज़ या रेश्मी कपड़ा चिपकाया जाता है। कुछ लालटेन पर रंगीन प्राचीन या आधुनिक कहानियों से संबद्ध चित्र खींचे जाते हैं या पेपर कट भी चिपकाये जाते हैं।

चीन में दीप कंडील की विविध किस्में होती हैं। उदाहरणार्थ, त्योहार उत्सव में टांगे हुए विशाल लाल लालटेन, मोमबत्ती की लौ से चक्कर लगा सकने वाला च्वो मा कंडील और बच्चों में पसंदीदा मुर्गा लालटेन, सिंह लालटेन, सुनहरी मछली लालटेन, कमल लालटेन, गोभी लालटेन एवं फूल-कटोरा लालटेन आदि आदि। कहा जाता है कि क्वांग तुंग के फ़ो शान में एक विशेष प्रकार का कंडील है, जिस का नाम तिल लालटेन है। इस तरह के लालटेन पर चित्र छोटी छोटी तिलों से चिपकाकर बनाया जाता है। इसलिए, लोग उसे खाने के योग्य लालटेन भी कहते हैं।

अब नव वर्ष में चीन के विभिन्न स्थानों में भांति भांति के लालटेन मेले का आयोजन किया जाता है। मेले में विविध व रंगबिरंगे परम्परागत लालटेनों का प्रदर्शन करने के साथ साथ आधुनिक विज्ञान व तकनीक से बनाये गये लालटेन भी प्रदर्शित होते है, इस के अलावा, हारपीन जैसे उत्तरी चीन के शहरों में हर साल सर्दियों के मौसम में बर्फीली लालटेन मेले का भी आयोजन किया जाता है। मेले में विशाल हिम-खंडों से तराश कर बनाए गए आलीशान भवन और बल्डिंग देखते ही बनते हैं और बर्फ से तैयार प्यारे पशु-पक्षी और पौराणिक कथाओं की सुन्दर परी अप्सरा वाले कंडील रोशनी की चमचमाहट में मानो लोगों को एक अनोखी अलौकिक संसार में ले आते हो।

शेयर