सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

2018 में चीनी विशेषता वाला विदेशी राजनीति में अहम कार्य क्या हैं?

2018-02-07 06:00:00
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

2018 में चीनी विशेषता वाला विदेशी राजनीति में अहम कार्य क्या हैं?

2018 में चीनी विशेषता वाला विदेशी राजनीति में अहम कार्य क्या हैं?

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने 2018 के नव वर्ष के बधाई संदेश में कहा कि चीन संयुक्त राष्ट्र संघ की प्रतिष्ठा और स्थान की पूरी रक्षा करेगा, सक्रिय रूप से अपना अंतर्राष्ट्रीय कर्त्तव्य निभाएगा, वैश्विक जलवायु परिवर्तन के वचन का कड़ाई से पालन करेगा। सक्रिय रूप से एक पट्टी एक मार्ग के निर्माण को आगे बढ़ाएगा, हमेशा के लिए विश्व शांति का निर्माण करने, विश्व विकास का योगदान देने और अंतर्राष्ट्रीय व्यवस्था की रक्षा करने वाला देश बनेगा। तो 2018 में चीनी विशेषता वाला विदेशी राजनीति में अहम कार्य क्या हैं?

2017 में चीन ने दिन ब दिन विश्व मंच के केंद्र में प्रवेश करने लगा। पिछले साल चीन और दुनिया के बीच आपसी आवाजाही व्यस्त रही और सहयोग गहरा रहा। चीनी विदेश मंत्री वांग ई के मुताबिक,"हम ने सीपीसी की केंद्रीय कमेटी के नेतृत्व में पिछले पाँच सालों में चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग द्वारा पेश किये गये सिलसिलेवार नये विचार, नयी सोच और नये कदम का संजीदगी से पालन किया और चीनी विदेशी राजनीति को आगे बढ़ाया, जिसमें कई अहम प्रगतियां मिली हैं।"

वांग ई ने कहा कि 2017 में चीन ने एक पट्टी एक मार्ग के शताब्दी ब्लूप्रिंट की रचना की और वैश्वीकरण का नेतृत्व करने की आवाज़ सुनायी। चीन ने बड़े देशों के संबंधों को स्थिर बनाने में अहम भूमिका अदा की है, पड़ोसी परिस्थिति की स्थिरता और क्षेत्रीय सहयोग की रक्षा की। चीन ने ब्रिक्स देशों के सहयोग के दूसरे स्वर्णिम दस साल शुरू किया। चीन ने दृढ़ता से देश की प्रभुसत्ता सुरक्षा की रक्षा की, सक्रिय रूप से घरेलू खुलेपन के विकास की सेवा दी, सार्वजनिक राजनयिक तरीकों का नवाचार किया और विदेशी मामले के कार्य की प्रणाली सिस्टम में सुधार किया। 2018 के विदेशी मामलों के कार्य की चर्चा में वांग ई ने कहा,"चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने 19वीं कांग्रेस में कहा कि चीन नये ढंग वाले अंतर्राष्ट्रीय संबंधों को आगे बढ़ाएगा, मानव साझे भाग्य वाले समुदाय  की रचना को आगे बढ़ाएगा। यह दो पक्ष भविष्य में चीनी विदेशी नीति के प्रयास का जनरल लक्ष्य है।"

वांग ई ने बताया कि नये ढंग वाले अंतर्राष्ट्रीय संबंधों की रचना करने के लिए देश व देश के बीच आवाजाही करने के नये रास्ते की खोज करने की जरूरत है। मानव साझे भाग्य वाले समुदाय का निर्माण के लिए हमें विभिन्न वैश्विक कठिनाइयों को दूर करने का प्रस्ताव पेश करना चाहिए। नये ढंग वाले अंतर्राष्ट्रीय संबंधों की रचना करने के लिए बड़े देश प्राथमिक तत्व है। चीन रूस, अमेरिका और यूरोप आदि प्रमुख बड़े देशों और समूहों के साथ समन्वय सहयोग को मजबूत करता रहेगा, स्थिर और संतुलित बड़े देशों के संबंधों के ढांचे की रचना करेगा, विश्व शांत��� की रक्षा करेगा और विश्व के सामंजस्यपूर्ण विकास को आगे बढ़ाएगा।

वांग ई ने कहा कि चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने मानव साझे भाग्य वाले समुदाय की रचना करने का पहल पेश किया। प्राथमिक बात यह है कि हमें पड़ोसी देशों से प्रस्थान होकर विकासशील देशों के आधार पर स्थिर रूप से मानव साझे भाग्य वाले समुदाय के निर्माण को आगे बढ़ाएगा। उन के मुताबिक,"हम पड़ोसी देशों के साथ स्नेहपूर्ण, ईमानदार,उदार और मिलनसार की विदेशी विचारधारा के मुताबिक पड़ोसी देशों का अच्छा सत्कार करेंगे और पड़ोसी देशों के राजनीतिक संबंधों को और गहरा करेंगे। हम बोआओ एशिया मंच, शांगहाई सहयोग संगठन के छिनताओ शिखर सम्मेलन का अच्छी तरह आयोजन करेंगे और क्षेत्रीय सहमतियों और सहयोग को बढ़ाने की कोशिश करेंगे।"

इनके अलावा 2018 में चीन नये चीन-अफ्रीका सहयोग मंच का आयोजन करेगा। वांग ई के मुताबिक चीन एक पट्टी एक मार्ग पहल और अफ्रीका के 2063 कार्यक्रम से और घनिष्ट जोड़ेगा, ताकि एक पट्टी एक मार्ग का निर्माण चीन-अफ्रीका तमाम सहयोग की नयी प्रेरणा शक्ति बन सकेगा।


12MoreTotal 2 pagesNext

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories