सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

ITU - 2016 में विश्व में औसत व्यक्ति के ई-कचरे 6.1 किलोग्राम

2018-01-17 06:00:00
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

ITU - 2016 में विश्व में औसत व्यक्ति के ई-कचरे 6.1 किलोग्राम

ITU - 2016 में विश्व में औसत व्यक्ति के ई-कचरे 6.1 किलोग्राम

स्विट्जरलैंड स्थित अंतर्राष्ट्रीय दूरसंचार संघ (आईटीयू) ने 13 दिसम्बर को 2017 विश्व ई-कचरे निगरानी नामक रिपोर्ट जारी की। रिपोर्ट से जाहिर है कि 2016 में विश्व में ई-कचरे की कुल मात्रा 447 लाख टन थी, जो औसत व्यक्ति के लिए करीब 6.1 किलोग्राम थी। डिजिटलीकरण के आगे विकास के साथ अनुमान है कि ई-कचरे की मात्रा में भारी इज़ाफ़ा होगा। 2021 में इस संख्या में 17 प्रतिशत की वृद्धि दर होगी।

अंतर्राष्ट्रीय दूरसंचार संघ, संयुक्त राष्ट्र संघ के विश्वविद्यालय और अंतर्राष्ट्रीय ठोस अपशिष्ट एसोसिएशन ने संयुक्त रूप से यह रिपोर्ट बनायी। रिपोर्ट में पेश किए गए ई-कचरे मुख्यतः बैटरी या पावर प्लग आदि का इस्तेमाल करने वाली सामग्री हैं, जिनमें मोबाइल फ़ोन, कंप्यूटर, टीवी सेट, फ्रीज और इलैक्ट्रॉनिक खिलौने आदि शामिल हैं।

रिपोर्ट में बताया गया कि 2016 में विश्व के ई-कचरे की कुल मात्रा 447 लाख टन थी, जो 6700 एफ़िल टॉवर के भार से भी बड़ा है, जिनमें केवल 20 प्रतिशत यानी 89 लाख ई-कचरे का पुनः इस्तेमाल किया गया था। अनुमान है कि 2021 तक विश्व में ई-कचरे की मात्रा में 17 प्रतिशत की वृद्धि आएगी, जो 522 लाख टन तक पहुंचेगी। पारिवारिक कचरों में ई-कचरे की वृद्धि सबसे तेज़ है। आईटीयू की तकनीक विशेषज्ञ वानेसा ग्रेई ने जैनेवा में आयोजित एक न्यूज़ ब्रीफिंग में परिचय देते समय बताया, आमदनी बढ़ने से ज्यादा से ज्यादा लोग फ्रिज, मोबाइल फ़ोन और कंप्यूटर खरीदेंगे। और यह वृद्धि प्रवृत्ति बढ़ती रहेगी। साथ ही यह इस बात का द्योतक है कि ई-कचरे की समस्या का हल करने की बड़ी आवश्यक्ता है।

123MoreTotal 3 pagesNext

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories