चोंग साम और पारंपरिक चीनी वेश-भूषण

2017-10-12 10:22:22
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

चोंग साम और पारंपरिक चीनी वेश-भूषण

चोंग साम और पारंपरिक चीनी वेश-भूषण

और चीन के विभिन्न स्थानों और विभिन्न जातियों के वेशभूषण की अपनी अपनी पहचान और विशेषता होती है। उदाहरणार्थ, पेटी मध्य चीन और शैनशी प्रांत के उत्तरी भाग में प्रचलित एक परंपरागत वस्त्र है। पेटी रूप में वेस्ट का अग्र भाग जैसा है उस का एक लेस गर्दन पर बांधा जाता है और बीच में दो लेस कमर में पीछे से बांधे जाते हैं। उस के पहनने से बच्चों को सर्दी लगने से रोका जा सकता है और गर्मियों के दिन उसे पहने बच्चे बाहर खेलने विचरने में चंचल और प्यारा भी दिखते हैं। बच्चों के पेटी पर प्रायः बाघ का सिर नुमा चित्र या “पांच विषैला जंतु ”के चित्र काढे गए हैं, जिसमें बच्चों के स्वस्थ परवान चढ़ने के लिए बड़ों का मनोरथ निहित है। और चीन की एक अल्पसंख्यक जाति ई जाति के वस्त्र को लीजिए, उस की अपनी ठेठ अलग पहचान होती है। इस जाति की महिलाओं के शीर्ष आभूषण तीन टाइपों में हैं जिन में सिर पर बांधने वाला पगडी जैसा अलंकृत ब्रोकेड पहनाव, सिर पर बांधने वाला रूमाल और कशीदारी टोपी शामिल है। ह्वोंग ह नदी के घाटी क्षेत्र में रहने वाली ई जाति की महिलाओं के सिर पर पहने आभूषण खासा चमकदार और आंखों को चौंध देता है, चांदी का आभूषण सब से अधिक मूल्यवान और वैभव माना जाता है। ओढ़नी ई जाति के पुरुष व महिला दोनों के लिए पसंदीदा पहनाव है जो काले और नीले दो रंगों में जानवरों के चमड़े, बाल, ऊनी व रेशमी और पटसन के कपड़ों से बनाया जाता है।

HomePrev12345MoreTotal 5 pagesNext

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories