सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

हांगकांग की मातृभूमि की गोद में वापसी

cri 2017-07-03 09:46:02
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

इस साल के 1 जुलाई को हांगकांग के चीन की मातृभूमि की गोद में वापस लौटने की 20वीं वर्षगांठ थी। यह चीनियों के लिए एक यादगार दिवस है। वर्ष 1840 के जून माह में बरतानिया ने चीन के खिलाफ अफ़ीम युद्ध छेड़ा। 26 जनवरी 1841 को ब्रिटेन ने हांगकांग पर कब्ज़ा किया। 29 अगस्त 1842 को छिंग सरकार ने विवश होकर ब्रिटेन के साथ अपमानजनक नानचिंग संधि पर हस्ताक्षर किया और हांगकांग को ब्रिटेन को सौंप दिया।

वर्ष 1982 के सितम्बर माह में तङ श्याओफींग ने ब्रिटिश प्रधान मंत्री मार्गरेट थैचर से मुलाकात के समय हांगकांग समस्या के समाधान के लिए एक देश दो व्यवस्थाएं वाला उपाय पेश किया। इस के मुताबिक चीन हांगकांग में एक देश दो व्यवस्थाएं वाली नीति लागू करेगा, हांगकांग वासियों द्वारा हांगकांग पर प्रशासन किया जाएगा, हांगकांग में उच्च स्वशासन लागू होगा। चीन ने हांगकांग की पूर्व पूंजीवादी व्यवस्था एवं जीवन तरीके को 50 सालों के लिए न बदलने का वचन दिया। अनेक बार के सलाह मश्विरे के बाद वर्ष 1984 के 19 दिसम्बर को चीन व ब्रिटेन के बीच समझौता संपन्न हुआ और चीन व ब्रिटेन के बीच हांगकांग समस्या के बारे में संयुक्त वक्तव्य पर हस्ताक्षर किया गया। दोनों पक्षों ने घोषणा की कि चीन सरकार पहली जुलाई 1997 को हांगकांग पर अपनी प्रभुसत्ता बहाल करेगी और ब्रिटेन हांगकांग को चीन को वापस देगा।

30 जून 1997 की आधी रात, चीन व ब्रिटेन दोनों देशों की सरकारों के बीच हांगकांग में सत्ता के हस्तांतरण की भव्य रस्म आयोजित हुई। पहली जुलाई के शुन्य बजे, चीन लोक गणराज्य एवं हांगकांग विशेष प्रशासनिक क्षेत्र के झंडे हांगकांग में फेहराए गए। चीन लोक गणराज्य के राष्ट्राध्यक्ष च्यांग ज़मीन ने हांगकांग कन्वेशन ऐंड एक्सिबिशन केंद्र में संजीदगी से घोषणा की कि चीन व ब्रिटेन के बीच हांगकांग समस्या के संयुक्त वक्तव्य के अनुसार, चीन ने हांगकांग पर अपनी प्रभुसत्ता बहाल कर ली है। चीन लोक गणराज्य के हांगकांग विशेष प्रशासनिक क्षेत्र की औपचारिक स्थापना हुई। हांगकांग विशेष प्रशासनिक क्षेत्र के प्रथम प्रमुख प्रशासक तुंग च्यानह्वा ने पद ग्रहण की शपथ ली।

हांगकांग में ब्रिटेन की डेढ़ सदी का औपनिवेशक शासन समाप्त हुआ है। हांगकांग आख़िरकार मातृभूमि की गोद में वापस लौटा है।

पूर्व की मोती---हांगकांग

हांगकांग जू च्यांग नदी के डेल्टा के दक्षिणी भाग एवं नदी के मुहाने के पूर्व में स्थित है, जो अंतरराष्ट्रीय एवं एशिया प्रशांत क्षेत्र का व्यापार, वित्त, यातायात एवं पर्यटन केंद्र है। हांगकांग में अर्थतंत्र व्यापार प्रधान है और निर्माण उद्योग, वित्तीय उद्योग, रियल इस्टेट उद्योग एवं पर्यटन उद्योग आदि भी बहुत विकसित हैं।

दक्षिण चीन समुद्र में आने जाने के द्वार, सुदूर पूर्व के स्वतंत्र बंदरगाह, एशिया व प्रशांत क्षेत्र के व्यापार व जहाज़रानी केंद्र तथा अंतरराष्ट्रीय वित्तीय केंद्र के रूप में हांगकांग विश्वविख्यात है, इसमें हांगकांग द्वीप, च्युलोंग प्रायद्वीप, शिनच्ये व निकटस्थ द्वीप शुमार हैं। हांगकांग द्वीप और च्युलोंग प्रायद्वीप के बीच स्थित विक्टोरिया खाड़ी अमेरिका के सैन फ्रांसिस्को और ब्राजील के रियो डी जेनेरो के साथ मिलकर विश्व के तीन बड़े श्रेष्ठ प्राकृतिक बंदरगाह माने जाते हैं। बेहतरीन भौगोलिक स्थिति व श्रेष्ठ बंदरगाह के कारण हांगकांग एशियाई जल परिवहन का केंद्र बन गया है।

हांगकांग अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा जापान के तोक्यो हवाई अड्डे के बाद एशिया का दूसरा बड़ा हवाई अड्डा है, चेक लैप कॉक द्वीप पर स्थित हवाई अड्डे पर विशाल आकार वाले विमान उतर और उड़ान भर सकते हैं, हवाई मार्ग दिन रात खुला रहता है, हर पांच मिनट में एक विमान उड़ान भरता है या लैंडिंग करता है। यह विश्व में सबसे व्यस्त हवाई अड्डों में से एक है।

हांगकांग न्यूयार्क, लंदन और ज्युरिक की तरह विश्व में महत्वपूर्ण स्वर्ण बाज़ार व बैंकिंग केंद्र है। बैंकिंग उद्योग हांगकांग में सर्वोपरि व्यवसाय है जो हांगकांग व एशियाई देशों के आर्थिक विकास के लिए महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है।

हांगकांग का पर्यटन उद्योग बहुत विकसित है, जिसे"खरीदारी का स्वर्ग"व"स्वादिष्ट पाक शहर"माना जाता है। पर्यटन आय इस शहर के विदेशी मुद्रा भंडार का तीसरा बड़ा स्रोत है। वर्तमान में अधिक से अधिक हांगकांग वासी चीन के भीतरी इलाके की यात्रा पर जाते हैं।

हांगकांग में मनोरंजन उद्योग व फिल्म उद्योग का विशेष विकास है। मंत्रमुग्ध करने वाली एक्शन फिल्म विश्व के फिल्म जगत को हांगकांग का विशेष योगदान है। जैकी छङ समेत कई अभिनेता-अभिनेत्री विश्व स्तर के सितारा बन गए हैं।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories