सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

चीनी चाय

cri 2017-06-12 12:34:18
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

चीनी लोग चायपान बहुत पसंद करते हैं और इसे दोस्तों व मेहमानों के सत्कार में भी पिलाते हैं। चाय चीनियों के जीवन की नितांत आवश्यक चीज़ है।चीन चाय का प्रथम उत्पादक देश है। प्राचीन काल में चाय औषध जड़ी बूटी के रूप में प्रयोग की जाती थी और आहिस्ते आहिस्ते इसे पेय का रूप दिया गया। चीन में चाय बनाने के भिन्न भिन्न तरीके से चाय हरित चाय, काली चाय, वुलोंग चाय, चमेली चाय, थुओ चाय(कटोरा आकार में बनायी गयी चाय) और ईंट चाय आदि में बंट जाती है, विभिन्न किस्मों वाली चाय की भिन्न-भिन्न श्रेणियां होती हैं।

हरी चाय में खमीरा प्रक्रिया नहीं होने के कारण उस के पत्ते ताजा और हरे हरे होते है, चेच्यांग प्रांत की राजधानी हांगचो स्थित पश्चिम झील में उत्पादित लोंगचिंग चाय, च्यांगसू प्रांत की पीलोछुन चाय, आनह्वेइ प्रांत में होंगशान पर्वत पर उगी माओफ़ङ चाय और इस प्रांत की ल्युआन कांउटी में उत्पादित ल्युआन क्वाफ्यान चाय हरी चाय की श्रेणी में अत्यंत मशहूर है।

काली चाय खमीरीकृत चाय है, इस के पानी का रंग लाल है। चीन में आनह्वेइ प्रांत की छिहोंग चाय और युन्नान प्रांत की त्यानहोंग चाय बहुत मशहूर काली चाय है।

वुलोंग चाय एक किस्म की अर्ध खमीरी चाय है। चाय की पत्ती बड़ी और मोटी है और चाय के पानी का रंग सुनहरा है। सब से अच्छी वुलोंग चाय दक्षिण चीन के फ़ूच्यान प्रांत के ऊयी पर्वत क्षेत्र में उत्पादित ऊयीयेन चाय है।

चमेली चाय चीन में एक विशेष प्रकार की चाय है। चाय के पत्तों में सुगंधित चमेली फूल शामिल होने के कारण पीने में महक महक निकलता है। सब से मशहूर चमेली चाय फ़ूच्यान प्रांत में उत्पादित चमेली चाय है।

थुओ चाय युन्नान और सछ्वान दो प्रांतों में उत्पादित होती है, चाय की पत्तियों को दबाकर प्रोसेसिंग करने से उस का आकार गोल स्टीम ब्रेड सा लगता है।

ईंट चाय का आकार ईंट नुमा है। यह मंगोल और तिब्बती जातीय लोगों की पसंदीदा चाय है।

चाय पीने से प्यास और थकान मिट जाती है और पाचन शक्ति बढ़ जाती है, साथ ही कई किस्मों के रोगों की रोकथाम की जा सकती है। लम्बे समय से चाय पीना स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक होता है।

चायपान से अनुपम सुगंध निकलता----चोछ्यू होंगमेई

चोछ्यू होंगमेई चेच्यांग प्रांत की मशहूर ब्रांड वाली चाय है, जो छिंग राजवंश में ही विश्वविख्यात हो गयी थी। चोछ्यू होंगमेई का अनुपम स्वाद होता है जिस में आलूचे का सुगंध होने के साथ साथ लाल आलूचा फूल की विशेषता भी होती है। इसलिए इस चाय को चोछ्यू होंगमेई यानी नाइन ब्लेंड रेड प्लम का नाम दिया गया।

"सफेद जेड कप में गोमेद रंग की चाय महकती है, जो होंठ व जीभ को आलूचे की खुशबू से वासित करती है।" चश्मे के पानी में लाल चाय महकती है, जिस के साथ आधे दिन का अवकाश बिताने से दस सालों का सपना पूरा होगा। आइए, चोछ्यू होंगमेई चाय के लहरते सुगंध को अपने दिल में बसाए, आप का मन भी शांत चाय पानी की तरह सांसारिक दौड़धूप से अछूता होगा।

हरा आकर्षण मंद सुगंध के साथ शनै शनै लुप्त हुआ----वू लुंग चाय

छिंग चाय वू लुंग चाय का दूसरा नाम है, जो हरी चाय का सुगंध होने के साथ साथ लाल चाय जैसा सुवासित भी होता है। छिंग चाय को पानी में उबालने से प्राकृतिक पुष्प का महक निकलता है। मिंग राजवंश में इस के बाजार में आने के बाद वह हमेशा चीनी लोगों की पसंदीदा चाय बनी रहती है।

हरे रंग के चीनी मिट्टी के बर्तन चीन के"चीनी मिट्टी बर्तन नगर"के नाम से मशहूर च्यांग शी प्रांत के चिंग ते कस्बे में उत्पादित किये जाते हैं, जो ठेठ हरे रंग और उत्तम गुणवत्ता होने के कारण लम्बे समय में लोगों का मनपसंद पात्र बने हैं।

कुंगफू चाय व सूप सर्वोपरि है---कुंगफू चाय

चीन के फू च्यान, क्वांग तुंग व थाईवान में वू लुंग चाय का दूसरा नाम है"कुंगफू चाय", जिस के चाय सेट उत्कृष्ट और सूक्ष्म है, चाय बनाने की विधि अद्वितीय है, चाय पीने का तरीका विशिष्ट है। वह दैनिक जीवन में अवकाश गुजारने की एक प्रथा है और लोकाचार में स्वागत-सत्कार की प्रथम रस्म भी है। चाय बनाने के लिए सब से अच्छा पानी चश्मे से लाया जाता है। आम तौर पर लोग अर्द्ध खमीरीकृत व भूनी हुई चाय थ्येई ग्वुनयन का इस्तेमाल करते हैं। चाय उड़ेलने से पहले चायदान व चाय कप को गर्म पानी से गर्म करते हैं, फिर चाय को चायदान में पानी के साथ लगभग 70 प्रतिशत भरा जाता है। इस के दौरान" ऊपर से नीचे उड़ेलने","नीचे छिड़काने", "झाग हटाने","ढक्कन को गीला करने", "कप व चायदान को गर्म बनाने "और"पत्ते को निकालने" की सभी विधि में कुशल होना चाहिए।

कहावत है कि"दक्षिण पूर्व में जो सब से स्वादिष्ट खाद्य होता है, उन में कुंगफू चाय एवं सूप सर्वोपरि।"

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories