अखिल रूसी मीडिल स्कूल के विद्यार्थियों की चीनी प्रतियोगिता आयोजित

2020-09-17 09:00:00
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
9/9

दोस्तों, हाल ही में 13वें “चाइनीज़ ब्रिज” विश्व मीडिल स्कूल के विद्यार्थियों की चीनी प्रतियोगिता के रूसी डिवीजन का फ़ाइनल मैच मॉस्को में सफलतापूर्वक संपन्न हुआ। मॉस्को, सेंट पीटर्सबर्ग, कज़ान, येकातेरिनबर्ग आदि क्षेत्रों से आए 16 विद्यार्थियों ने श्रेष्ठ प्रस्तुति देते हुए अपनी अच्छी चीनी भाषा व आकर्षण को प्रदर्शित किया।

कोविड-19 महामारी के कुप्रभाव से इस बार की प्रतियोगिता का आयोजन ऑनलाइन व ऑफ़लाइन दोनों तरीकों से किया गया। प्रतियोगिता में भाषण, कला प्रस्तुति, अपना परिचय, चीन-रूस संस्कृति का सवाल-जवाब चार भाग शामिल थे। उनमें भाषण व कला प्रस्तुति ऑफ़लाइन के ज़रिये रिकॉर्ड किया गया और अपना परिचय व प्रश्नोत्तरी ऑनलाइन आयोजित किया गया। भाषण देने के दौरान विद्यार्थियों ने “युवा उम्र में चीनी भाषा के पीछे दौड़ें” के विषय पर अपने अपने विचार पेश किये। उनके भाषण में चीन-रूस सहयोग करके कोविड-19 महामारी का मुकाबला, चीन की परंपरागत संस्कृति के प्रति तीव्र जिज्ञासा, चीन की यात्रा में दिलचस्प कहानी आदि विषय शामिल थे। कला प्रस्तुति में उन्होंने टॉक शो, वूशू प्रस्तुति, कुजेंग वाद्ययंत्र, कवि, गीत, नाटक आदि कार्यक्रम प्रस्तुत करने से अपनी विशेष आकर्षण दिखाया।

चौथी अखिल रूसी मीडिल स्कूल के विद्यार्थियों की चीनी प्रतियोगिता में अच्छी उपलब्धि प्राप्त रूसी लड़की खा यूडे को भी इस बार के मैच में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया गया। उन्होंने सभी प्रतियोगियों के साथ पुरस्कार मिलने के बाद उनकी चीन में पढ़ाई के दौरान प्राप्त अनुभव साझा किये। इसकी चर्चा में उन्होंने कहा, हाई स्कूल से स्नातक होने के बाद मुझे सौभाग्य से चीन में पढ़ाई करने का मौका मिला। मैंने चीन में सबसे अच्छी यूनिवर्सिटी छिंगह्वा यूनिवर्सिटी में दाखिला लिया। चीन में पढ़ाई व जीवन से मुझे न सिर्फ़ बहुत पेशेवर ज्ञान प्राप्त हुए, बल्कि मेरी चीनी भाषा का स्तर भी बड़ी हद तक उन्नत हुआ। रंगारंग मौके प्राप्त करके मैंने अपना विकास किया। “चाइनीज़ ब्रिज” प्रतियोगिता मेरी जिन्दगी में एक मोड़ जैसा है।

रूस स्थित चीनी दूतावास के शिक्षा विभाग के कॉसिलर छाओ शीहाई ने इस बात की प्रशंसा की कि महामारी के दौरान रूस में स्थित चीनी भाषा के शिक्षकों व रूसी विद्यार्थियों ने अपनी शिक्षा जारी रखी। उन के अनुसार, वर्ष 2020 चीन-रूस संबंधों के आठवें दशक का आरंभिक वर्ष है। नये युग में चीन-रूस संबंधों के सामने नया मौका मौजूद होगा। चीनी भाषा सीखने वालों के प्रति उज्ज्वल संभावना भी होगी। आशा है रूसी विद्यार्थी चीन व रूस के बीच मित्रता और विभिन्न क्षेत्रों में संबंधों के विकास को मजबूत करने के लिये योगदान दे सकेंगे।

रूस-चीन मैत्री संघ की कार्यकारी सचिव, चीनी भाषा की विशेषज्ञ सुश्री अल्ला वेरचेंको ने कहा कि आशा है सभी प्रतियोगी अपने ज्ञान से दोनों देशों की जनता के बीच मित्रता को मजबूत करने के लिये योगदान दे सकेंगे। उन्होंने कहा, चीनी भाषा अच्छी तरह से सीखने के बाद आप लोग न सिर्फ़ हमारे मैत्रीपूर्ण पड़ोसी देश के इतिहास, संस्कृति, कला व उपलब्धियां समझ सकते हैं, बल्कि रूस-चीन दोनों देशों की जनता के बीच परंपरागत मित्रता को मजबूत करने के लिये योगदान दे सकेंगे। आशा है विश्व चाइनीज़ ब्रिज प्रतियोगिता में भाग लेने वाले विद्यार्थी मैच में अच्छी उपलब्धियां हासिल कर सकेंगे।

इस बार की मैच में व्यक्तिगत और समूह पुरस्कारों की स्थापना की गयी। अंत में टिपिसेवा, किम लादा, शपाकोव समेत छै विद्यार्थी व्यक्तिगत पुरस्कारों के पहले, दूसरे व तीसरे स्थान पर रहे। उन्हें चीन में पढ़ाई करने की छात्रवृत्ति मिली। रूसी व्लादिवोस्तोक, सेंट पीटर्सबर्ग और मास्को तीन क्षेत्रों को पहले तीन समूह पुरस्कार मिले।

शेयर