सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

चीन ने बच्चों में निकट दृष्टि की रोकथाम पर बल दिया

2019-11-21 10:37:27
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

दोस्तों, चीनी किशोरों में ऊंची निकट दृष्टि दर पर निरंतर रूप से विभिन्न जगतों का ध्यान केंद्रित हुआ है। चीनी शिक्षा मंत्रालय के संबंधित प्रधान ने 5 नवंबर को पेइचिंग में कहा कि चीन में खेल शिक्षा और व्यायाम का समय बढ़ाने पर बल दिया जाएगा, और मिडिल व प्राइमरी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों के लिये अनावश्यक शैक्षणिक बोझ को हटाया जाएगा। साथ ही शिक्षक, स्थान, सुविधा व प्रणाली आदि पक्षों में विद्यार्थियों की स्वास्थ्य संवर्धन कार्रवाई की जाएगी।

आंकड़ों के अनुसार वर्ष 2018 में पूरे चीन में बाल व किशोर की अखिल निकट दृष्टि दर 53.6 प्रतिशत तक पहुंच गयी। वर्ष 2018 के 30 अगस्त को चीनी शिक्षा मंत्रालय समेत आठ विभागों ने संयुक्त रूप से《बाल व किशोर की निकट दृष्टि की व्यापक रोकथाम करने का कार्यान्वयन प्रस्ताव》जारी करके इस काम को सक्रिय रूप से मजबूत किया। शिक्षा मंत्रालय के खेल, स्वास्थ्य व कला शिक्षा ब्यूरो के प्रधान वांग तंगफ़ंग ने बताया कि बाल व किशोर की निकट दृष्टि पैदा करने के कारण बहुत जटिल हैं। उन में मुख्य कारण यह है कि आंखों का प्रयोग करने का समय ज्यादा लंबा है। इस की चर्चा में उन्होंने कहा, उन में एक स्पष्ट कारण यह है कि बच्चों का शैक्षणिक बोझ ज्यादा भारी है। विद्यार्थियों का हर दिन पढ़ाई करने का समय और आंखों का प्रयोग करने का समय ज्यादा लंबा होता है। और एक कारण इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों का दुरुपयोग है। बच्चों में मोबाइल फ़ोन, वीडियो गेम व अन्य इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों को खेलने का समय ज्यादा लंबा है।

वांग तंगफ़ंग ने कहा कि कसरत करने का अभाव, खास तौर पर बाहर खेलने के समय की कमी बाल व किशोर में निकट दृष्टि पैदा होने का और एक महत्वपूर्ण कारण है। इस वर्ष चीन ने स्वास्थ्य चीन कार्रवाई (वर्ष 2019-2030) की परियोजना जारी की। इस में स्पष्ट रूप से मिडिल व प्राइमरी स्कूलों में स्वास्थ्य संवर्धन कार्रवाई लागू करने की योजना पेश की गयी। साथ ही कार्रवाई के लक्ष्य व कदम पर तैनाती भी की गयी। वांग तंगफ़ंग ने कहा कि शिक्षा मंत्रालय एक पक्ष की वृद्धि, एक पक्ष की कटौती और एक पक्ष की सुनिश्चितता नामक कार्यक्रम लागू कर रहा है। ताकि मिडिल व प्राइमरी स्कूलों में विद्यार्थियों के स्वास्थ्य को मजबूत किया जा सके। उन में एक पक्ष की वृद्धि का मतलब यह है कि खेल शिक्षा और बाहर में कसरत करने के समय को बढ़ावा दें। एक पक्ष की कटौती का मतलब यह है कि अनावश्यक शैक्षणिक बोझ को कम करें। और एक पक्ष की सुनिश्चितता का मतलब यह है कि विभिन्न व्यवस्थाओं में सुधार करें, ताकि एक वृद्धि व एक कटौती को सुनिश्चित किया जा सके। इस की चर्चा में वांग ने कहा, खेल शिक्षा के पक्ष में सब से महत्वपूर्ण बात खेल क्लास का समय और कसरत करने का समय है। केंद्र सरकार के नंबर सात दस्तावेज में इस पर स्पष्ट आग्रह किया गया है कि प्राइमरी स्कूल में पहले साल से तीसरे साल तक के विद्यार्थियों को हर हफ्ते में चार घंटों का क्लास समय प्राप्त करना चाहिये। और चौथे वर्ष से छठे वर्ष तक के प्राइमरी स्कूलों और मिडिल स्कूलों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों को हर हफ्ते तीन घंटों की क्लास लेनी चाहिये। और हाई स्कूलों व विश्वविद्यालयों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों को हर हफ्ते दो घंटों का क्लास का समय लेना चाहिए। उन के अलावा हमने विद्यार्थियों को हर दिन स्कूल में एक घंटे तक कसरत करने का आग्रह भी किया है। हाल ही में जारी निकट दृष्टि की रोकथाम से जुड़े दस्तावेज में और एक अतिरिक्त आग्रह भी किया गया है कि स्कूल में एक घंटे की कसरत करने के आधार पर घर वापस लौटने के बाद विद्यार्थियों को एक से दो घंटे तक कसरत करने का समय प्राप्त करना चाहिये। जिसने पारिवारिक शिक्षा के प्रति एक स्पष्ट आग्रह भी किया गया है।

उक्त आग्रह को लागू करने के लिये चीन के च्यांगसू प्रांत के शीशान हाई स्कूल ने बड़ी कोशिश की। स्कूल के प्रधानाचार्य थांग च्यांगफंग ने परिचय देते हुए कहा कि वर्ष 2015 से इस स्कूल ने खेल क्लास की प्रणाली व संचालन व्यवस्था की स्थापना की गयी है। स्कूल की इंडोर व्यायामशाला में 1500 विद्यार्थी एक साथ खेल शिक्षा ले सकते हैं। उन के अनुसार, दक्षिण चीन में बारिश ज्यादा होती है। इसलिये विद्यार्थियों को बाहर खेलने का समय कम होता है। इसलिये हमने ज्यादा पैसा लगाकर पेशेवर और उच्च मानक वाली व्यायामशाला का निर्माण किया। ताकि विद्यार्थियों को इंडोर व्यायामशाला में कसरत करने का काफ़ी समय मिल सके। यह कई वर्षों से हमारा लक्ष्य था। हमारी बड़ी कोशिश और क्षेत्रीय सरकार के सकारात्मक समर्थन से अब हमारी स्कूल की व्यायामशाला एक विश्व स्तरीय व्यायामशाला बन चुकी है। इस में पेशेवर जिमख़ाना, स्विमिंग पूल, फेंसिंग हॉल, ताइक्वांडो हॉल, योग हॉल शामिल हुए हैं।

बताया जाता है कि अब लागू की जा रही प्राइमरी व मिडिल स्कूल में स्वास्थ्य संवर्धन कार्रवाई में स्कूलों से नीति-नियम के अनुसार खेल व स्वास्थ्य से जुड़ी पर्याप्त शिक्षा देने का आग्रह किया गया है। साथ ही परिवार, स्कूल व समाज को एक साथ कोशिश करके विद्यार्थियों के शारीरिक व मानसिक स्वास्थ्य की रक्षा करने का प्रोत्साहन दिया गया। ताकि बच्चे बचपन से ही स्वस्थ आदत प्राप्त करके निकट दृष्टि और मोटापा जैसे रोगों से दूर हो सकें।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories