चीनी बच्चों की पुस्तक दुनिया

2019-10-17 14:44:31
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
4/7

दोस्तों, 14 सितंबर को कंफ्यूशियस कॉलेज के मुख्यालय की मेज़बानी में रूसी राष्ट्रीय व्यावसायिक नॉर्मल विश्वविद्यालय की रेडियो कंफ्यूशियस कक्षा द्वारा आयोजित चीनी बच्चों की पुस्तक दुनिया नामक बाल चित्र पुस्तक प्रदर्शनी रूस के यूराल पहले बाल व युवा पुस्तक मेले में उद्घाटित हुई। इस बार की प्रदर्शनी में कुल 68 श्रेष्ठ चीनी मूल बाल चित्र पुस्तकें दिखायी गयीं, जिन्होंने बहुत बच्चों व मां-बाप को आकर्षित किया। वे बड़े मज़े के साथ उन पुस्तकों को पढ़ते थे। यूराल पहले बाल व युवा पुस्तक मेले का उद्देश्य है बच्चों व युवाओं के प्रति पुस्तकों का परिचय देना व पेश करना, और पढ़ने की संस्कृति का प्रसार-प्रचार करना। इस दौरान यूराल क्षेत्र के बाल पुस्तक के लेखक व आलोचक, और पुस्तक के प्रकाशन, शिक्षा शास्त्र, पुस्तकालय व संग्रहालय समेत विभिन्न क्षेत्रों के पेशेवर व्यक्तियों ने इकट्ठा होकर बाल पुस्तकों के मुद्दे पर सिलसिलेवार गतिविधियों का आयोजन किया।

रूसी राष्ट्रीय व्यावसायिक नॉर्मल विश्वविद्यालय की रेडियो कंफ्यूशियस कक्षा ने मेले के दो स्थलों में क्रमशः चित्र पुस्तकों की प्रदर्शनी और संबंधित गतिविधि का आयोजन किया। येका शहर के स्थापत्य कला संग्रहालय की दूसरी मंजिल पर स्थित रीडिंग रूम में कंफ्यूशियस कक्षा के चीनी शिक्षकों ने 40 से अधिक बच्चों व उन के मां-बाप को चीनी पेपर कटिंग और चीनी शुभ गांठ बनाना सिखाया। उन के अलावा रूम में चित्र पुस्तकों के साथ खरगोश भगवान की मूर्ति, पतंग, गिरो, कैंडिड हॉ, और चित्र पुस्तकों से संबंधित पोस्टकार्ड आदि चीज़ें भी दिखायी गयीं। साथ ही वहां खड़े हुए मल्टीमीडिया टीवी में चीनी बच्चों की पुस्तक दुनिया नामक प्रमोशनल फिल्म, नमस्कार चाइना का रूसी भाषा संस्करण, और रूसी उपशीर्षक के साथ चीनी कार्टून निरंतर रूप से प्रसारित किये गये। जिन्होंने बहुत अच्छी भूमिका निभायी।

येका शहर के केंद्र में स्थित ईसेट नदी के किनारे पर भी बहुत भीड़-भाड़ थी। कुछ लोग अपने बच्चे के साथ चीनी चित्र पुस्तकों को पढ़ रहे थे। और कुछ लोग पेइचिंग ऑपेरा मास्क पर रंग डालने और कागज़ से गाड़ी बनाने आदि खेल कर रहे थे। एक मां ने लंबे समय तक प्रदर्शन स्टैंड के पास रखी चित्र पुस्तकें पढ़ीं। उन्होंने कहा कि यह पहली बार है कि मैंने चीनी चित्र पुस्तकें पढ़ी। हालांकि मुझे चीनी भाषा नहीं आती, लेकिन केवल चित्र देखने से पुस्तक का मतलब मेरी समझ में आ गया। मेरे ख्याल से यह छोटे पाठकों के लिये बहुत अच्छी बात है। क्योंकि बच्चे तेजी से पुस्तक में कहानी समझ सकते हैं। हालांकि मैं एक बच्ची नहीं हूं, लेकिन उन चित्र पुस्तकों ने गहन रूप से मुझे आकर्षित किया है। उदाहरण के लिये ज़मीन के उपर व नीचे छिपे गुप्त नामक यह पुस्तक बहुत दिलचस्प है। जिस में चीन की पेपर कटिंग कला दिखायी गयी है। अगर हो सके, तो मैं सचमुच इसे खरीदना चाहती हूं।

येका शहर के बाल साहित्य लेखक संघ की अध्यक्ष, प्रसिद्ध बाल पुस्तक लेखक ओल्गा कोलपाकोवा ने अपनी आंखों में चीनी चित्र पुस्तकों के बारे में बताया। उन के अनुसार हमें उन चित्र पुस्तकों को पढ़कर बहुत अच्छा लगा। हर पुस्तक की अपनी कहानी व तरीका होता है। रूस व सोवियत संघ की परंपराओं के अनुसार हम पुस्तक के विवरण पर बड़ा ध्यान देते हैं। वर्तमान में हमारे चित्र पुस्तकों में चीनी चित्र पुस्तकों की शैली का प्रयोग नहीं किया गया। लेकिन यह शैली बच्चों की पसंदीदा शैली है। यह चीनी बाल साहित्य की मुख्य विशेषता होगी। चीनी पुस्तकों में चित्र रचने का तरीका असाधारण है। रूसी पुस्तक पढ़ने में क्षैतिज रीडिंग करनी चाहिये। लेकिन बहुत चीनी पुस्तकों में वर्टिकल रीडिंग करनी चाहिये। ऐसे पुस्तकों में बहुत चित्र शामिल हुई हैं। शब्द कम है। अगर वे चीनी पुस्तकें रूसी बाजार में प्रवेश कर सकेंगी, तो विस्तृत पाठकों को ज़रूर पसंद आएंगी। कोलपाकोवा ने कहा कि वर्तमान में रूस सक्रिय रूप से अपनी बाल पुस्तकों को अंतर्राष्ट्रीय बाजार में प्रसार-प्रचार करने की गति को तेज कर रहा है। रूस को प्रदर्शनी करने, और प्रतियोगिता में भाग लेने जैसे आदान-प्रदान व सहयोग कार्यक्रमों में भाग लेने का बड़ा शौक है।

वर्ष 2015 में बाल साहित्य का नामांकन मास्टर पुरस्कार पाने वाली ओल्गा वासफ रूस में नाटक व बाल साहित्य की प्रसिद्ध अनुवादक हैं। उन्होंने कहा कि इस बार प्रदर्शित चीनी बाल पुस्तकों की गुणवत्ता बहुत अच्छी है। न सिर्फ़ कागज़ के चयन बल्कि पुस्तक के लेआउट व डिजाइन दोनों बहुत अच्छे हैं। खास तौर पर पुस्तकों में कुछ खाली जगह रखी गयी है, जो देखने में बहुत भरी हुई नहीं लगती है। वे सभी पुस्तकें मुझे बहुत पसंद हैं। उन्हें पढ़कर लोग आनंदमय होंगे।

चीनी बच्चों की पुस्तक दुनिया नामक प्रदर्शनी में दिखाई गयी सभी पुस्तकें चीन के सौ से अधिक प्रकाशन गृहों से चुनी गयी श्रेष्ठ चीनी मूल पुस्तकें ही हैं। उन में स्याही व पेपर कट पुस्तकें, लोक कहानियां, चीन की पुरातन चित्र पुस्तकें, कॉमिक स्ट्रिप, और हाल के दो वर्षों में लोगों के पसंदीदा चित्र पुस्तकें आदि शामिल हुई हैं। पुस्तकों की किस्में बहुत समृद्ध हैं। और विषय भी रंगारंग हैं। जिन्हें विश्व की विभिन्न प्रकाशन संस्थाओं व पाठकों का प्यार मिला। बाद में रूसी राष्ट्रीय व्यावसायिक नॉर्मल विश्वविद्यालय की रेडियो कंफ्यूशियस कक्षा येका शहर में स्थित मिडिल व प्राइमरी स्कूलों, और पुस्तकालयों के साथ पुस्तक प्रदर्शनी और सांस्कृतिक गतिविधि का आयोजन करेगी, ताकि स्थानीय लोगों की चीनी भाषा सीखने की रूचि बढ़ सके।

शेयर