चीनी छोटे फुटबाल खिलाड़ियों ने फ्रांसीसी युवा क्लब की टीम के साथ मैच खेला

2019-06-19 10:56:21
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/3

दोस्तों, वर्ष 2019 महिला फुटबाल विश्व कप स्थानीय समयानुसार 7 जून को फ़्रांस की राजधानी पेरिस में उद्घाटित हुआ। इस बार के महिला विश्व कप में लोगों ने चीन से आए 34 युवा ध्वजवाहकों को देखा । वे कौन हैं?

फ़्रांसीसी राष्ट्रीय फुटबाल ट्रेनिंग केंद्र पेरिस के पास के क्लैरेफ़ोनटैन में स्थित है। 7 जून की सुबह एक कैम्पस फुटबाल मैत्री प्रतियोगिता वहां आयोजित हुई। दोनों पक्ष क्रमशः चीन से आई एक कैंपस फुटबाल टीम और फ़्रांसीसी युवा क्लब की टीम थी। हालांकि उस दिन मौसम बहुत खराब था, तेज़ हवा के साथ बारिश भी आयी। तापमान केवल दस डिग्री था। लेकिन इतने खराब मौसम में बच्चों के उत्साह में कोई कमी नहीं थी। उन्होंने मैदान में पूरी कोशिश की। अंत में चीनी कैंपस फुटबाल टीम ने 3:0 से फ्रांस की टीम को हराया।

मैच के बाद सब से पहले गोल करने वाले छोटे चीनी खिलाड़ी शांग थ्येनयू के ख्याल से उन और साथियों का प्रदर्शन बहुत अच्छा रहा। उन्होंने कहा,मुझे लगता है कि हमारा प्रदर्शन बहुत अच्छा रहा। व्यक्तिगत तकनीक शक्तिशाली होने के साथ टीम का सहयोग भी बहुत अच्छा था। सभी लोगों ने अपनी पूरी कोशिश की है।

11 वर्षीय चीनी खिलाड़ी थ्येन रोंगयाओ ने खुशी के साथ खेद भी व्यक्त किया। उन के अनुसार,आज हमने फ़्रांस के युवा खिलाड़ियों के साथ एक मैच खेला। हालांकि हमारी टीम ने 3:0 से मैच जीता, लेकिन मेरे लिये एक खेद बाकी है। क्योंकि मैंने गोल नहीं किया। इसलिये बाद में मैं ज़रूर अभ्यास की और कोशिश करूंगा।

फ़्रांसीसी युवा फुटबाल टीम के कोच ने भी चीनी टीम की खूब प्रशंसा की। उन्होंने कहा,उन के बीच सहयोग बहुत अच्छा है। साथ ही कौशल व तकनीक भी अच्छी है। अगर इस तरह से वे विकसित होंगे, तो चीनी फुटबाल का भविष्य उज्जवल होगा।

ये चीनी छोटे खिलाड़ी चीनी कैंपस फुटबाल टीम से आए हैं। गौरतलब है कि वर्ष 2014 से चीनी शिक्षा मंत्रालय के नेतृत्व में चीनी राष्ट्रीय युवा कैंपस फुटबाल कार्य शुरू किया गया। चार साल की कोशिश से वर्ष 2019 के जनवरी में कैंपस फुटबाल की राष्ट्रीय टीम की स्थापना औपचारिक रूप से की गयी। कैंपस फुटबाल राष्ट्रीय टीम में कुल 239 सदस्य हैं। आयु, लिंग व स्तर के अनुसार उन्हें प्राइमरी स्कूल की दो पुरुष टीमें, प्राइमरी स्कूल की दो महिला टीमें, और प्राइमरी स्कूल की मिश्रित टीम, जूनियर हाईस्कूल की दो पुरुष टीमें व दो महिला टीमें, और हाई स्कूल की पुरुष टीम व महिला टीम समेत कुल 11 फुटबाल टीमों में विभाजित किया गया। वे चीनी कैंपस फुटबाल टीम की ओर से देशी-विदेशी प्रतियोगिताओं व आदान-प्रदान गतिविधियों में भाग लेते हैं। उन के प्रतिद्वंद्वी देशी विदेशी के पेशेवर क्लब में एक ही उम्र वाली युवा टीम और विदेशी कैंपस फुटबाल राष्ट्रीय टीम हैं।

इस बार की फ़्रांसीसी यात्रा चीनी कैंपस फुटबाल राष्ट्रीय टीम व विदेश के बीच आदान-प्रदान की गतिविधियों में से एक ही है। फ़्रांस की यात्रा के दौरान चीनी कैंपस फुटबाल राष्ट्रीय टीम के 34 छोटे खिलाड़ी 7 जून को उद्घाटित वर्ष 2019 महिला फुटबाल विश्व कप के मैच में ध्वजवाहक बने। उन के अलावा उन्होंने क्लैरेफ़ोनटैन में स्थित फ़्रांसीसी राष्ट्रीय फुटबाल ट्रेनिंग केंद्र में अभ्यास किया, और चीन-फ्रांस कैंपस फुटबाल मैत्री प्रतियोगिता में भाग लिया।

फ़्रांसीसी फुटबाल संघ ने चीनी कैंपस फुटबाल टीम की इस यात्रा के लिये बड़ी सहायता दी। क्लैरेफ़ोनटैन में अभ्यास करने का गहरा महत्व है। क्योंकि गत वर्ष फिर एक बार विश्व कप ट्रॉफी उठाने वाली फ़्रांसीसी टीम में क्यलियेन मुबाप्पे, पौल लाबिले पोगबा, एन गोलो कांटे, अंटोने ग्रिएज़मान आदि सभी यहां से निकलते हैं। पेइचिंग स्थित फ़्रांसीसी फुटबाल संघ के कार्यालय के अध्यक्ष रोमुआल्द नगुयेन ने कहा कि,यह पहली बार है कि हमने क्लैरेफ़ोनटैन में चीनी युवा फुटबाल खिलाड़ियों का स्वागत किया। हमने चीनी शिक्षा मंत्रालय के साथ फुटबाल शिक्षा के क्षेत्र में बहुत सहयोग किया है। चीन की राजधानी पेइचिंग में फ़्रांसीसी फुटबाल संघ ने अपने कार्यालय की स्थापना भी की। हम चीनी साथियों के साथ युवा खिलाड़ियों व कोचों को प्रशिक्षण देते हैं। फ़्रांस तमाम विश्व प्रसिद्ध फुटबाल खिलाड़ियों के प्रशिक्षण के लिए मशहूर है। उदाहरण के लिये क्यलियेन मुबाप्पे, पौल लाबिले पोगबा, एन गोलो कांटे, अंटोने ग्रिएज़मान आदि। उन के अलावा कई प्रसिद्ध कोच भी यहां से निकले हैं।

चीनी कैंपस फुटबाल टीम के जनरल कोच यू तुंगफंग ने कहा कि इस बार की फ़्रांस यात्रा चीनी युवा खिलाड़ियों के लिए बहुत लाभदायक है। उन के अनुसार,इस यात्रा से छोटे खिलाड़ियों की दृष्टि और विस्तृत होगी। उन्होंने फ़्रांस की संस्कृति, फुटबाल की संस्कृति व वातावरण देखा, जिसने उन्हें बड़ी मदद व प्रेरणा दी। उन के लिये इस यात्रा का बड़ा महत्व है।

उन के अलावा विश्व के फुटबाल शक्तिशाली देशों के बीच आदान-प्रदान चीनी प्रशिक्षकों के स्तर को उन्नत करने के लिये भी लाभदायक है। इस की चर्चा में यू तुंगफंग ने कहा,हमने फ़्रांसीसी टीम का अभ्यास देखा। हमारे साधारण अभ्यास की तुलना में बड़ा अंतर था। ज्यादा से ज्यादा आदान-प्रदान करने व सीखने से हमारे देश की युवा फुटबाल टीम, खास तौर पर हमारे कोचों को ज़रूर लाभ मिलेगा।

शेयर