बाल नाटक《साल भर चीनी बाल कथा》मास्को में प्रस्तुत किया गया

2019-06-13 18:37:17
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/4

स्थानीय समयानुसार 26 मई को रूसी प्रसिद्ध बाल पुस्तक《साल भर चीनी बाल कथा》के अनुकूल बनाया गया बाल नाटक मास्को के मानव नामक थिएटर में पहली बार प्रस्तुत किया गया। गौरतलब है कि《साल भर चीनी बाल कथा》इस पुस्तक को जारी किया जाने के बाद रूसी बच्चों का स्वागत मिला। इस बार नाटक के तरीके से इस पुस्तक में शामिल कहानियों को दिखाया गया, जिससे रूसी पाठकों को चीन की परंपरागत परी कथाओं की सुन्दर को अच्छी तरह से महसूस करने का मौका मिला।

《साल भर चीनी बाल कथा》की लेखक सुश्री इरिना ज़ाखारोवा चीन में कई साल तक रह चुकी हैं। इस दौरान उन्हें चीन की परी कथाओं को लेकर बड़ी रुचि पैदा हुई। इसलिये उन्होंने यह पुस्तक लिखी। इस पुस्तक में चीनी जनता की बहुत परिचित लोक परी कथाओं को इकट्ठा किया गया। पाठकों को इसे पढ़कर चीन के बहुत परंपरागत दिवसों, रीति रिवाजों, राष्ट्रीय वीरों के अलावा चीनी साहित्य व नाटक के प्रसिद्ध भूमिका, चीनी बच्चों के सामान्य खेल आदि के बारे में तमाम जानकारियां मिल सकती हैं।

नाटक की पहली प्रस्तुति रस्म में इरिना ज़ाखारोवा ने कहा कि चाहें रूसी बाल कथा या चीनी बाल कथा, वे दोनों बच्चों को दयालु, आशावादी व सकारात्मक भावना सिखाती हैं। इस बार नाटक के तरीके से चीनी बाल कथा की प्रस्तुति की गयी, जो बहुत दिलचस्प है। बच्चे आसानी से इसे स्वीकार कर सकते हैं, और मज़े के साथ शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं।

रूस स्थित चीनी दूतावास के अधिकारी सू फ़ांगछ्यो ने रस्म में कहा कि《साल भर चीनी बाल कथा》को मंच पर प्रस्तुत करने का विचार बहुत अच्छा है। यह न सिर्फ़ चीनी परंपरागत संस्कृति को दिखा सकता है, बल्कि चीन व रूस की परंपरागत मित्रता को दोनों देशों की जनता के बीच जारी रख सकता है। खास तौर पर बहुत रूसी बच्चों ने आज का नाटक देखा। इस नाटक से वे चीन की संस्कृति, इतिहास व परंपरागत रीति-रिवाज़ आदि समझ सकते हैं, फिर दोनों देशों की संस्कृतियों के बीच समानता व भिन्नता को महसूस कर सकते हैं। आशा है इस बार की गतिविधि से चीन व रूस की जनता के बीच पीढ़ी दर पीढ़ी मित्रता को और मजबूत किया जा सकेगा।

शेयर