हम फिलीपींस में चीनी भाषा सिखाती हैं

2019-02-15 09:11:37
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/3

दोस्तों, फिलीपींस की राजधानी मनीला के केंद्र में स्थित इनट्रामुरोस एक मशहूर दर्शनीय स्थल है, जिस की स्थापना 16वीं शताब्दी में फिलीपींस का आक्रमण करने वाले स्पेनिश उपनिवेशकों द्वारा की गयी। यहां एक आनंदमय बाल शिक्षा केंद्र स्थित है। हर दिन लगभग दो या तीन सौ से अधिक लोग यहां आकर चीनी भाषा सीखते हैं। वर्ष 2019 के वसंत त्योहार के दौरान चीनी पर्यटकों को यहां स्नेहपूर्ण शुभाकामनाएं मिली।

वसंत त्योहार मुबारक हो, सौभाग्य हो।

हां, ये शुभकामनाएं इनट्रामुरोस में रहने वाले फिलीपींस के छोटे बच्चों के मुंह से निकलीं। आप शायद आश्चर्य में पड़े होंगे कि वे कैसे सही उच्चारण से चीनी भाषा बोल सकते हैं। क्योंकि उन के शिक्षक चीन के हुनान प्रांत के छांगशा शहर और होनान प्रांत के आनयांग शहर में आई सुन्दर लड़की चो मिन व छिन छाओ हैं। वे दोनों स्वयंसेवक चीनी अध्यापिका हैं।

फिलीपींस आने से पहले चो मिन छांगशा की बोछाए स्वर्ण ईगल प्राइमरी स्कूल में पढ़ाती थी। उसे आनंदमय बाल शिक्षा केंद्र में भेजने की याद करती हुई उन्होंने कहा,वास्तव में अभी अभी यहां पहुंचते ही मुझे बड़ा आश्चर्य हुआ। अध्यापिका छिन को भी ऐसा लगा। क्योंकि हमारे विचार में चीनी भाषा सिखाने वाले स्कूल बहुत अच्छे होने चाहिये। लेकिन यहां आने के बाद पता चला है कि यह स्कूल विदेशों में स्थापित अन्य चीनी स्कूलों से अलग है।

आनंदमय बाल शिक्षा केंद्र फिलीपींस में रहने वाले प्रवासी चीनी जोहन गो होक द्वारा स्थापित एक गैर-लाभकारी गतिविधि केंद्र है। परंपरागत निज़ी चीनी स्कूलों में अधिकतर विद्यार्थी अमीर चीनी परिवारों से हैं, और विद्यार्थियों की गुणवत्ता भी अच्छी है। लेकिन यह स्कूल ऐसा नहीं है, वह इनट्रामुरोस में रहने वाले सामान्य परिवारों यहां तक कि गरीब परिवारों के फिलिपिनो बच्चों के उन्मुख है। यहां निःशुल्क से अंग्रेज़ी, वाद्य यंत्र, कंप्यूटर की शिक्षा देने के अलावा पाँच सालों से पहले फिलीपींस के चीनी भाषा शिक्षा केंद्र की सहायता से स्कूल में चीनी कक्षा की स्थापना भी की गयी। हर दिन पब्लिक स्कूल की कक्षा समाप्त कर दोपहर के दो बजे आसपास के बच्चे इस शिक्षा केंद्र के आँगन में इकट्ठे होते हैं। वे केंद्र के चीनी अध्यापकों के साथ ताई ची खेलते हैं, चीनी गीत गाते हैं, और चीनी भाषा का अभ्यास करते हैं। कभी कभार यहां आने वालों की संख्या तीन सौ से अधिक पहुंच जाती है।

22 वर्षीय होनान लड़की छिन छाओ चीन के मिननान नॉर्मल विश्वविद्यालय की एक ग्रेजुएट हैं। आठ महीनों तक यहां काम करने के बाद वे चीनी भाषा सीखने में स्थानीय बच्चों के जोश से प्रभावित हुईं। उन के अनुसार,यहां का प्रबंध परिवार जैसा है। बहुत गंभीर अनुशासन नहीं है। इसलिये विद्यार्थी अपने समय के अनुसार यहां आ सकते हैं। कुछ विद्यार्थी हर दिन यहां आते हैं, और ठीक समय पर यहां आते हैं, कभी देर नहीं हैं। इसलिये उन की सीखने की क्षमता तो ज्यादा बड़ी है, और उन्होंने ज्यादा से ज्यादा जानकारियां सीखीं।

आनंदमय बाल शिक्षा केंद्र में चीनी भाषा सिखाते समय आसपास के सभी लोग चो मिन व छिन छाओ इन दोनों चीनी अध्यापिकाओं का सम्मान करते हैं। उनसे मिलकर लोग बहुत दूर से नमस्कार बोलते हैं। इनट्रामुरोस में टैक्सियां बहुत कम हैं। जब अध्यापिकाओं को बाहर जाते देख स्थानीय लोग बहुत दूर जाकर उन के लिये टैक्सी बुलाते हैं। दो अध्यापिकाएं भी अकसर चीन से आए स्नैक्स व छोटे उपहार आसपास की जनता के साथ साझा करती हैं। कभी कभार वे पुराने दोस्त जैसे आसपास के नागरिकों के साथ बातचीत करती हैं।

कुछ दिन पहले चीनी पंचांग के अनुसार वसंत त्योहार था। फिलीपींस की सेमेस्टर व्यवस्था के अनुसार चो मिन व छिन छाओ के पास वसंत त्योहार की छुट्टी नहीं है। यह भी असंभव है कि वे घर वापस लौटकर वसंत त्योहार की खुशियां मनाती हैं। लेकिन स्कूल के स्नेहपूर्ण प्रबंध और चीनी नव वर्ष के प्रति फिलिपिनो द्वारा दिखाये गये जोश की वजह से वे दोनों अकेलापन महसूस नहीं करती। नव वर्ष की इच्छा की चर्चा में छिन छाओ को आशा है कि वे हर दिन खुशी के साथ अन्य लोगों को सकारात्मक शक्ति दे सकेंगी। उधर चो मिन ने हमें अपना एक छोटा गुप्त बताया। उन के अनुसार मुझे आशा है कि हम अपने काम यानी चीनी संस्कृति के प्रसार-प्रचार को अच्छी तरह से कर सकेंगी। और एक महत्वपूर्ण बात यह है कि नये साल में मेरी शादी हो सकेगी।

शेयर