पेइचिंग विमानन भोजन कंपनी की मानद बोर्ड अध्यक्ष वू शूछिंग

2019-01-02 09:07:06
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/3

दोस्तों, 40 वर्ष पहले 30 वर्षीय वू शूछिंग ने पहली बार भीतरी चीन में आकर सुधार व खुलेपन के काम में भाग लिया। चीन व अमेरिका के बीच सीधी उड़ान खोलने के ऐतिहासिक मौके पर वू शूछिंग ने अपने पिता जी की सहायता से मेइशिन ग्रुप का नेतृत्व करके चीनी नागरिक उड्डयन अखिल ब्यूरो के साथ चीन में पहले संयुक्त चीनी-विदेशी पूंजी वाले उद्यम की स्थापना की। जिस का नाम है पेइचिंग विमानन भोजन लिमिटेड कंपनी। इसने विदेशी पूंजी भीतरी चीन में आने का पर्दा खोला। 40 वर्षों में वू शूछिंग बारी बारी से हांगकांग व भीतरी चीन के बीच आती जाती रही हैं। उन्होंने सुधार व खुलेपन की प्रक्रिया की पुष्टि की, और अर्थव्यवस्था व समाज का बड़ा बदलाव महसूस किया। चीन में सुधार व खुलेपन की 40वीं वर्षगांठ पर पेइचिंग विमानन भोजन लिमिटेड कंपनी की मानद बोर्ड अध्यक्ष वू शूछिंग ने हमारे संवाददाता से कहा कि 40 वर्षों में सुधार व खुलेपन ने उन्हें जिन्दगी का नया अर्थ दिया है।

वर्ष 1978 के अंत में सुधार व खुलापन शुरू हुआ। ठीक उसी समय से ही वू शूछिंग पहली बार हांगकांग से भीतरी चीन में आयी। उस समय रेडियो में विदेशी व्यापारियों को चीन में पूंजी लगाने का स्वागत की आवाज़ निकलती थी। फिर वर्ष 1979 में चीन व अमेरिका के बीच राजनयिक संबंध स्थापना की गयी। इस के बाद वू शीछिंग की हांगकांग व भीतरी चीन के बीच आने जाने की जिन्दगी औपचारिक रूप से शुरू हुई। उन्होंने कहा,उस समय तंग श्याओफिंग ने वर्ष 1979 में अमेरिका की यात्रा की। वापस लौटकर उन्होंने चीन व अमेरिका के बीच सीधी उड़ान खोलने का फैसला किया। इसलिये नागरिक उड्डयन ब्यूरो के अध्यक्ष को चीन-अमेरिका सीधी उड़ान के लिये वर्ष 1980 में विमानन भोजन की तैयारी पूरा करने की आदेश मिली। वर्ष 1979 के मार्च में मैंने पहली बार पेइचिंग में आकर नागरिक उड्डयन ब्यूरो के संबंधित अधिकारियों से मुलाकात की। और वर्ष 1979 के जून में मैं मां-बाप के साथ पेइचिंग में नागरिक उड्डयन ब्यूरो के एक उपाध्यक्ष से मिली। उपाध्यक्ष ने कहा कि वे हमारे साथ विमानन भोजन की चर्चा करना चाहते हैं। क्योंकि चीन व अमेरिका के बीच उड्डयन खोला जाएगा। बाद में मैं ने पेइचिंग में आकर उन के साथ सहयोग के विषय और अनुबंध पर विचार-विमर्श किया।

चीन-अमेरिका सीधी उड़ान खोलने की समान इच्छा पूरी करने के लिये वू शूछिंग अपने पिता जी के प्रतिनिधि के रूप में कई बार हांगकांग व भीतरी चीन के बीच आती जाती थी। उस समय मिश्रित पूंजी वाली कंपनी की स्थापना करने में बहुत मुश्किलें सामने आईं। क्योंकि इससे पहले ऐसी कंपनी नहीं होती थी। दोनों पक्षों ने भाषा, प्रबंध व्यवस्था, विचारधारा आदि पक्षों की बाधाओं को दूर कर कंपनी की स्थापना करने के लिये बड़ी कोशिश की। क्योंकि भीतरी चीन में ऐसी कंपनी की स्थापना में कोई अनुभव या नीति-नियम नहीं था, इसलिये अनुमोदन की प्रक्रिया बहुत सावधानी से चलती थी। पर सीधी उड़ान खोलने का समय दिन-ब-दिन नज़दीक आ रहा था। नागरिक उड्डयन ब्यूरो के अध्यक्ष ने वर्ष 1979 के नवंबर में वू शूछिंग के पिता जी से संपर्क रखकर यह आशा जतायी कि वे 50 लाख हांगकांग डॉलर की पूंजी लगाकर उपकरण खरीदकर उत्पादन की तैयारी कर सकेंगे। इस बात की याद करते हुए वू शूछिंग ने कहा,मेरे पिता जी ने उस समय 30 सेकंड सोचने के बाद कहा कि हम सभी चीनी लोगों की भावी पीढ़ी हैं। और हम सभी श्री तन श्याओफिंग का सम्मान करते हैं। तो मैं हांगकांग में वापस लौटकर 50 लाख हांगकांग डॉलर इकट्ठा करूंगा। फिर पिता जी व नागरिक उड्डयन ब्यूरो के अध्यक्ष ने हाथ मिलाए। दोनों के बीच कोई हस्ताक्षरित दस्तावेज या पत्र नहीं था। केवल हाथ मिलाने व वचन देने से इस बात का फैसला किया गया।

पर इस वचन में चीन के प्रति हांगकांग बंधुओं का प्रेम और मुश्किलों के सामने साहस जाहिर हुआ है। साथ ही सुधार व खुलेपन के प्रति हांगकांग बंधुओं का दृढ़ संकल्प भी दिखाया गया। वू शूछिंग ने कहा कि उसी समय हमें बहुत मुश्किलें मिलीं। लेकिन सभी लोग एक समान लक्ष्य के लिये एक साथ कोशिश करते थे। वर्ष 1980 के अप्रैल में पेइचिंग विमानन भोजन लिमिटेड कंपनी को औपचारिक रूप से विदेशी पूंजी प्रबंध कमेटी से अनुमति दस्तावेज मिला। जिसे चीन के सुधार व खुलेपन की प्रक्रिया में मील का पत्थर जैसी बात मानी जाती है। वू शूछिंग ने कहा,मुझे लगता है यह एक बहुत खुशी की बात है कि मैंने पिता जी की सहायता देकर नागरिक उड्डयन ब्यूरो के साथ सहयोग कर चीन में विदेशी पूंजी का पहला अनुमति दस्तावेज प्राप्त किया। एक चीनी व्यक्ति के रूप में मुझे बहुत खुशी हुई, क्योंकि मैंने देश के सुधार व खुलेपन के लिये कुछ योगदान दिये हैं। इन योगदान में दोनों पक्षों की कोशिश शामिल हुई हैं। और हमने देश की मांग को पूरा किया।

पेइचिंग विमानन भोजन लिमिटेड कंपनी ने उस समय अपनी बड़ी भूमिका अदा की । इस के बाद विदेशी पूंजी सक्रिय रूप से चीन में आयी हैं। संबंधित आंकड़ों के अनुसार वर्ष 2017 के सितंबर के अंत तक भीतरी चीन में कुल मिलाकर 4.1 लाख हांगकांग पूंजी वाले कार्यक्रमों को अनुमति दी गयी। और कुल मिलाकर 10 खरब अमेरिकी डॉलर वाली हांगकांग पूंजी का वास्तविक प्रयोग किया गया। हांगकांग से आई पूंजी सभी विदेशी पूंजी की कुल रकम की 52.6 प्रतिशत तक पहुंच गयी। वू शूछिंग की नज़र में हांगकांग व भीतरी चीन एक परिवार जैसा है। और भीतरी चीन के प्रति हांगकांग एक बहुत अच्छा मंच है। उन्होंने कहा,उसी समय मैंने देखा कि हांगकांग पूंजी, बाजार, उच्च तकनीक व प्रबंध और सभी आधुनिक चीज़ों को आकर्षित करने के लिये एक बहुत सुविधाजनक जगह है। और हांगकांग भीतरी चीन की सहायता दे सकता है। क्योंकि सभी चीनी लोग हैं, आदान-प्रदान में बड़ी मुश्किल नहीं है। उसी समय हांगकांग के अधिकतर लोग कैंटोनीज़ बोलते थे। उधर भीतरी चीन में लोग मेंडारिन बोलते थे। पर सभी चीनी लोग हैं, सभी को आशा है कि चीन ज्यादा से ज्यादा अच्छा बनेगा।

ज्यादा सुन्दर चीन का निर्माण करने के लिये वू शूछिंग का ध्यान न सिर्फ़ व्यापार के क्षेत्र पर केंद्रित हुआ है, बल्कि शिक्षा व लोकोपकार पर भी केंद्रित हुआ है। उन्होंने कई शिक्षा कोष की स्थापना की है। ताकि ज्यादा से ज्यादा युवक अपने देख के इतिहास व संस्कृति को समझ सकें। साथ ही उन्होंने गरीबी क्षेत्रों में पूंजी लगायी और दान दिया, और स्थानीय लोगों को उच्च तकनीक व संसाधन दिया। उन के अलावा वे न सिर्फ़ हांगकांग व भीतरी चीन के बीच आती जाती हैं, बल्कि चीन व विश्व के बीच भी आती जाती हैं। वे विश्व व्यापार केंद्र संघ की पहली एशियाई महिला बोर्ड सदस्य हैं। उन्होंने चीनी विदेश व्यापार के अंतर्राष्ट्रीय आर्थिक व व्यापारिक सूचना नेट की स्थापना की।

शेयर