इज़राइल में खिल रहे हैं चीनी गुलाब

2018-12-13 11:22:50
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/7

दोस्तों, वर्ष 1992 में चीन व इजराइल ने राजनयिक संबंधों की स्थापना की। इस के बाद कई चीनी महिलाओं ने इजराइली पुरुषों के साथ शादी करके इजराइल में जीवन बिताना शुरू किया। अब तक लगभग सौ चीनी महिलाएं इजराइल में काम करती हैं, या जीवन बिताती हैं। वे आम तौर पर पर्यटन, हीरा व्यापार, तथा चीन-इजराइल के बीच व्यापारिक व सांस्कृतिक आदान-प्रदान से जुड़े काम करती हैं। वे मेहनत, बुद्धिमानी के साथ दयालु व आशावान भी हैं, जैसे इज़राइल में खिल रहे चीनी गुलाब हैं। साथ ही उन्होंने चीन की श्रेष्ठ संस्कृति व परंपराएं भी इजराइल में पहुंचायी, जिन्होंने चीन व इजराइल के बीच मानवीय आदान-प्रदान के लिये एक पुल की स्थापना की है।

ली खासू वर्ष 1992 में चीन व इजराइल के बीच राजनयिक संबंधों की स्थापना के बाद इजराइल में आने वाले पहले खेप वाले चीनियों में से एक हैं। वे कई दशकों में डायमंड प्रसंस्करण का काम कर रही हैं। उन्हें इजराइल का मौसम व वातावरण बहुत पसंद है। और उन्हें अपने काम भी बहुत पसंद है। लेकिन शुरूआत में वे इजराइली लोगों के काम करने के तरीके से परिचित नहीं थी, पर इससे अनुकूल होकर उन्होंने डायमंड प्रोसेसिंग व्यवसाय में अपना व्यापार मजबूत किया। वर्ष 2011 में उन्होंने चीनी दोस्तों के साथ इजराइल में चीनी संघ की स्थापना की। वे इस संघ की कानूनी व्यक्ति व निदेशक बनी। हर साल वे इजराइल में रहने वाले चीनियों के लिये वसंत दौरे, ड्रैगन बोट रेस, और चीन के राष्ट्रीय दिवस की पार्टी आयोजित करती हैं। ली खासू के अनुसार उन्होंने चीन व इजराइल दोनों देशों के मैत्रीपूर्ण संबंधों के धीरे धीरे विकसित होने की पुष्टि की। साथ ही चीन के प्रति इजराइली लोगों की समझ भी दिन-ब-दिन बढ़ रही है। पहले उन के ख्याल से चीन एक पिछड़ा देश है। लेकिन अब वे चीन का बहुत सम्मान करते हैं। उन्होंने कहा,जब मैं अभी अभी इज़राइल में आयी, तो यहां के लोगों ने मुझ से यह पूछा कि क्या चीन में इलेक्ट्रिक लाइट होती है?और ट्रेन या हवाई जहाज हैं या नहीं?मुझे बहुत अजीब लगता है। क्योंकि चीन के बारे में उन की जानकारी बहुत कम थी। उस समय इजराइली लोगों को चीन जाने के बहुत कम अवसर मिले। वे अपनी आंखों से चीन को नहीं देख सकते थे, इसलिये उन के विचार में चीन बहुत पिछड़ा था। लेकिन समय बीतने के साथ उन के विचार भी बदल रहे हैं। दोनों देशों के बीच राजनयिक संबंध स्थापना के 25 वर्षों में मैंने अपने आप यह महसूस किया। उदाहरण के लिये ओलंपिक खेलों में चीन ने कई पदक जीते, जिसकी इजराइली लोगों ने खूब प्रशंसा की। उन के अलावा उन के ख्याल से मकान व इमारत के निर्माण में चीनी लोगों की तकनीक बहुत ऊंची है। अब हर साल बहुत यहूदी लोग चीन में पर्यटन व व्यापारिक दौरा करते हैं। उन्होंने अपनी आंखों से शक्तिशाली चीन को देखा है। जैसे जब वे पेइचिंग व शांगहाई से वापस लौटे, तो कहा कि वह न्यूयार्क व टोक्यो से ज्यादा बेहतर हैं। वर्तमान में इज़राइली लोग चीनी लोगों का खूब सम्मान करते हैं।

इजराइल के चीनी संघ के और एक निदेशक ये चूज्वेन के जुड़वां बेटे हैं। बाद में जुड़वां बच्चों में बड़ा भाई आत्मकेंद्रित बीमीर से पीड़ित हुआ। बच्चे को बेहतर इलाज देने के लिये वर्ष 2009 में उन का परिवार हांगकांग से इजराइल गया। शुरू में सांस्कृतिक भिन्नता के कारण उन्हें इजराइल पसंद नहीं है। उन्हें लगा कि इजराइली लोग शिष्ट नहीं हैं, कोमल नहीं है। लेकिन बाद में उन के ख्याल से इजराइली लोगों के ऐसे सीधे बोलने से काम करने के लिये ज्यादा लाभदायक है।

ये चूज्वेन अनुवादक व फैशन डिजाइनर थी। अब वे ताल विमानन ग्रुप की एशिया शाखा की निदेशक हैं। साथ ही उन्होंने ये शी सलाहकार कंपनी की स्थापना भी की। यह कंपनी चीन व इजराइल के बीच वाणिज्य व पूंजी-निवेश के सहयोग के लिये सलाह दे सकती है। हालांकि काम बहुत व्यस्त है, लेकिन वे लगातार अपने बच्चे के साथ हैं। उन्होंने एक पुस्तक भी लिखी। इस पुस्तक में सामान्य बच्चे कैसे आत्मकेंद्रित बच्चे के साथ रहने की चर्चा की गयी। जिसे बहुत आत्मकेंद्रित बच्चों के परिजनों का स्वागत मिला। और एक खुशी की बात यह है कि एक आकस्मिक अवसर पर उन्होंने चीन व इजराइल के बीच आत्मकेंद्रित बाल चिकित्सा केंद्र के सहयोग कार्यक्रम को मजबूत किया। अब चीन के च्यांगसू प्रांत के वूशी शहर में इस की स्थापना की गयी है। इस की चर्चा में उन्होंने कहा,मुझे आशा है कि चिकित्सा के पक्ष में यह केंद्र एक मापदंड बन सकेगा। क्योंकि चिकित्सा में एक छोटी सी बात ने बच्चे की चिकित्सा प्रक्रिया को बदला । इसलिये इस से जुड़े आग्रह बहुत गंभीर हैं। बच्चों को अच्छी चिकित्सा मिलनी चाहिये। क्योंकि प्रारंभिक हस्तक्षेप बहुत महत्वपूर्ण है। इसलिये यह केंद्र छह वर्ष से कम बच्चों के लिये खोला गया। यह केंद्र न सिर्फ़ बच्चों का इलाज करता है, बल्कि उन के मां-बाप को चिकित्सा से जुड़े जानकारियां भी देता है। क्योंकि मां-बाप की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण है। बच्चे केंद्र में चिकित्सा लेने के बाद घर में वापस लौटते हैं, और उन के अधिकतर समय घर में बिताते हैं। इसलिये मां-बाप को यह जानना चाहिये कि घर में उन का इलाज कैसे किया जाता है।

ये चूज्वेन ने कहा कि चिकित्सा केंद्र को छोड़कर उन्हें भी आशा है कि भविष्य में जब आत्मकेंद्रित बच्चे बड़े होंगे, तो उन्हें काम करने के लिये उचित तकनीक सिखानी चाहिये। ताकि वे अपना पालन कर सकें। उन के अलावा वे चिकित्सकों व सॉफ्टवेयर इंजीनियरों के साथ ऐसे रोबोट का अध्ययन करना चाहती हैं, जो आत्मकेंद्रित बच्चों के साथ आदान-प्रदान कर सकें।

वांग चिंगवेन पहले चीन में एक पत्रिका की संपादक थीं। वर्ष 2008 में वे मौके पर इज़राइल आयी। उन्हें इजराइल बहुत पसंद आया, फिर वे वहां ठहरी। उसी समय चीन व इजराइल के बीच मानवीय आदान-प्रदान कम था। उन्होंने डायमंड व्यापार, आयात-निर्यात व्यापार करने के साथ उच्च विज्ञान व तकनीक कंपनी में भी काम करती थी। हाल के दो वर्षों में वे इजराइल-चीन मीडिया केंद्र में दोनों देशों के बीच संस्कृति व मीडिया के आदान-प्रदान से जुड़े काम करती हैं। वर्ष 2017 के आरंभ में उन्होंने इजराइल में अपने जीवन व अनुभव के आधार पर यरूशलेम के आसमान के नीचे नामक एक उपन्यास प्रकाशित किया। इस के बारे में उन्होंने कहा,उपन्यास में कहानी तो काल्पनिक है। लेकिन इस में इजराइल में मेरे जीवन व अनुभव, इजराइली संस्कृति के प्रति मेरी समझ आदि ज़रूर शामिल हैं। इजराइल में जीवन बिताने में मुश्किलों के साथ आसानी भी मिल सकती हैं। मुझे लगता है कि यहां जीवन की लागत थोड़ी महंगी है। और चीन में इतना सुविधाजनक नहीं है। लेकिन दूसरी दृष्टि से देखा जाए, तो यहां का जीवन बहुत सरल है। इसलिये अपने के लिये बहुत समय बाकी हैं। चीन के विकास के साथ साथ बहुत इजराइली लोगों को चीन का बड़ा शौक पैदा हुआ। वे सक्रिय रूप से चीनी लोगों के साथ आदान-प्रदान व साझा करना चाहते हैं। मुझे लगता है कि इजराइली लोगों की सोच बहुत खुली है। और उन की मूल्य अवधारणा बहुत मजबूत है।

शेयर