विश्व के युवाओं में एड्स की रोकथाम स्थिति गंभीर

2018-12-06 11:25:16
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

विश्व के युवाओं में एड्स की रोकथाम स्थिति गंभीर

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष द्वारा 29 नवंबर को जारी एक रिपोर्ट के अनुसार अगर एड्स की रोकथाम, जांच-पड़ताल व चिकित्सा पर पूंजी को नहीं बढ़ाया गया, तो वर्ष 2018 से वर्ष 2030 तक विश्व में लगभग 3.6 लाख युवा एड्स से जुड़े रोगों की वजह से मारे जाएंगे।

रिपोर्ट के अनुसार वर्तमान में विश्व के लगभग 30 लाख युवा व बच्चे एचआईवी वाहक हैं। संयुक्त राष्ट्र संघ के एड्स कार्यक्रम द्वारा निश्चित वर्ष 2030 तक एड्स की समाप्ति की इच्छा के तले हाल के दस सालों में हालांकि विश्व में 9 साल से कम उम्र के बच्चों में एड्स की रोकथाम में स्पष्ट प्रगति हासिल हुई है, लेकिन युवाओं में यह काम बहुत पीछे है।

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष के कार्यकारी अध्यक्ष हेनरिएत्ता फोरे ने कहा कि मां से शिशु तक एड्स के संक्रमण की रोकथाम करने में उपलब्धियां हासिल हुई हैं। लेकिन यह काफ़ी नहीं है। युवाओं में एड्स की चिकित्सा करने व इस के संक्रमण की रोकथाम करने का काम उचित स्तर पर नहीं पहुंचा।

रिपोर्ट में यह सुझाव पेश किया गया है कि एड्स की रोकथाम करने के लिये डिजिटल मंच द्वारा युवाओं में संबंधित जानकारियों का प्रसार-प्रचार करना चाहिये। साथ ही युवाओं को मैत्रीपूर्ण सेवा देने के साथ कारगर सामाजिक गतिविधि का आयोजन भी करना होगा।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories