मार्सेल गांव के बच्चों ने पहली बार रेल गाड़ी से यात्रा की

2018-10-10 18:29:00
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/8

दोस्तों, केन्या की राजधानी नैरोबी से मोम्बासा तक रेल मार्ग ने 20 सितंबर को कुछ विशेष छोटे मेहमानों का स्वागत किया। वे हैं नैरोबी के मार्सेल गांव में स्थित ओलमा कम्युनिटी स्कूल से आए बच्चे। उन्होंने पहली बार रेल गाड़ी से बाहरी दुनिया का दौरा किया। बच्चे रेल गाड़ी में खुशी से गाना गाते थे, और खेल खलते थे। उन्होंने तेजी से दौड़ रही रेल गाड़ी को महसूस किया। उन के प्रति इस यात्रा से उन्होंने न सिर्फ़ आधुनिक वाहन को महसूस करने का अनुभव प्राप्त किया, बल्कि बाहरी दुनिया की ओर जाने का एक द्वार भी खोला।

11 वर्षीय मसाई लड़की फ़्रीदाह नामायिना का घर नैरोबी रेल स्टेशन के नजदीक स्थित है। रेल गाड़ी फ़्रीदाह के दिल में एक छोटा सा सपना बन गयी। उन्होंने कहा,मैं रेल स्टेशन के पास रहती हूं। मैं अकसर रेल गाड़ी को देखती थी।

फ़्रीदाह ने संवाददाता से कहा कि वे नैरोबी से बाहर कभी नहीं गयी। पर रेल गाड़ी से बाहर यहां तक कि चीन को देखना चाहती हैं। उन के अनुसार,यह पहली बार है कि मैंने मोम्बासा का दौरा किया। मुझे बहुत खुशी हुई। मैं ज्यादा से ज्यादा बाहरी दुनिया को देखना चाहती हूं। भविष्य में मैं केन्या से बाहर जाना चाहती हूं।

मोम्बासा-नैरोबी रेल मार्ग को केन्या में एक शताब्दी कार्यक्रम माना जाता है। इस का इस्तेमाल करने से पहले केन्या में केवल एक रेल मार्ग था, जिस का निर्माण वर्ष 1901 में किया गया। पर केवल तीन साल के बाद मोम्बासा-नैरोबी रेल मार्ग का निर्माण समाप्त हुआ, और वर्ष 2017 के मई में इस का इस्तेमाल सुचारू रूप से शुरू हुआ। जैसा केन्या के राष्ट्रपति उहुरू केन्यात्ता ने कहा था कि नया रेल मार्ग भविष्य में केन्या के एक सौ वर्षों का इतिहास रचेगा। उन की बातों में वह भविष्य केन्या के बच्चे हैं। मार्सेल गांव के प्राइमरी स्कूल के बच्चों ने कहा कि पहले उन्होंने रेल मार्ग को कभी नहीं देखा था, और रेल गाड़ी को भी। उन्हें आशा है कि इस यात्रा से वे ज्यादा नयी चीज़ें देख सकेंगे। एक लड़की ने कहा,मुझे रेल गाड़ी बहुत पसंद है। पहले केन्या में रेल गाड़ी नहीं थी। मुझे आशा है कि इस यात्रा में मैं रेल गाड़ी को देख सकूंगी, पहाड़, पेड़ व वनों को देख सकूंगी।

पूरी यात्रा में मार्सेल गांव के बच्चों ने खुद उन अनुभवों को महसूस किया कि लोग रेल स्टेशन में कैसे प्रवेश करते हैं?टिकट को कैसे चेक करते हैं?और रेल गाड़ी कैसे चलती है?ये अनुभव उन के प्रति अभूतपूर्व हैं। मार्सेल गांव की ओलमा कम्युनिटी स्कूल के अध्यापक सामुएल सेनटेरियन के अनुसार उस दिन कुल मिलाकर 40 से अधिक बच्चों ने रेल गाड़ी से यात्रा की। यह यात्रा बच्चों के विकास में बड़ा प्रभाव डालेगी। उन के अनुसार,बच्चे बहुत उत्साही हैं। वे रेल गाड़ी पर सवार नहीं थे, और किसी ने मोम्बासा-नैरोबी रेल मार्ग से कभी यात्रा नहीं की। आज की यात्रा के लिये उन्होंने बहुत धन्यवाद दिया। यह यात्रा बच्चों के विकास के लिये बहुत महत्वपूर्ण है। उन्होंने खूब जानकारियां सीखीं। वे अपनी जगहों से बाहर जाकर भिन्न-भिन्न लोगों से मिले, जैसे आज। और वे विभिन्न लोगों की संस्कृति से विभिन्न जानकारियां प्राप्त कर सकते हैं।

मोम्बासा-नैरोबी रेल मार्ग न सिर्फ़ केन्या का शताब्दी सपना है, बल्कि उसने स्थानीय लोगों के लिये 46 हजार रोजगार के मौके भी दिये, और 1.5 प्रतिशत की आर्थिक वृद्धि हासिल हुई। पूर्वी अफ़्रीका के सब से बड़े आर्थिक समुदाय के रूप में केन्या तेजी से विकसित हो रहा है। मोम्बासा-नैरोबी रेल मार्ग की संचालन कंपनी के केन्या कर्मचारी एरिक ने चीन में चीनी भाषा सीखी थी। 24 वर्षीय एरिक अब केन्या में पहले खेप वाले रेल मार्ग से जुड़े सुयोग्य व्यक्ति बन गये। उन के ख्याल से इस यात्रा से स्थानीय बच्चों ने रंगारंग बाहरी दुनिया को देखा, और अपने देश के विकास को भी गहन रूप से महसूस किया। उन्होंने कहा,बच्चे उन जानकारियों को सीख सकते हैं, जो कक्षा में नहीं मिलती। उन की दृष्टि भी विस्तृत हो गयी है। उन्हें पता है कि देश के विकास से उन्हें ज्यादा से ज्यादा मौके मिल सकेंगे। इसलिये वे अपने देश से बहुत प्यार करते हैं। वे अपने देश के सुन्दर भविष्य के लिये काम करना चाहते हैं।

इस गतिविधि के आयोजन के लक्ष्य की चर्चा में मोम्बासा-नैरोबी रेल मार्ग की संचालन कंपनी के उप महाप्रबंधक डाए यूनचे ने कहा कि दक्षिण नैरोबी स्टेट के आसपास बच्चे अकसर गेट के बाहर दूर दूर से रेल गाड़ी को देखते हैं। इसलिये उन्हें आशा है कि कुछ गतिविधियों के आयोजन से स्थानीय बच्चों को मोम्बासा-नैरोबी रेल मार्ग जानने का मौका मिल सकेगा। डाए यूनचे ने कहा कि इस गतिविधि से विदेश में चीनी उद्यमों की सामाजिक जिम्मेदारी दिखायी गयी। वे इस तरह की गतिविधि आयोजित करने से स्थानीय समाज के विकास की सेवा करना चाहते हैं। उन के अनुसार,हम एक तरफ़ केन्या के रेल मार्ग ब्यूरो को संचालन की मदद देते हैं, ताकि ज्यादा से ज्यादा स्थानीय लोगों को रेल मार्ग से सुविधाएं मिल सकें। दूसरी तरफ़ हम आसपास की जनता व स्थानीय संगठनों को यथासंभव मदद देते हैं, और उन के लिये लाभदायक काम करते हैं। विदेशों में चीनी उद्यमों को अपने संचालन को अच्छी तरह से करने के अलावा अपनी सामाजिक जिम्मेदारी भी उठानी चाहिये।

मसाई लोग पूर्वी अफ़्रीका में घुमंतू जीवन बिताते हैं। परंपराओं के अनुसार मसाई पुरुष के वयस्क बनने की रस्म घास के मैदान पर अपने हाथों से एक शेर को मारने से अपना साहस दिखाना है। पर आज मसाई लोगों ने आदिम कबाइली जीवन से बाहर आकर आधुनिक समाज में प्रवेश किया। अन्य केन्या के लोगों की तरह मसाई लोगों के बच्चे भी आधुनिक रेल मार्ग पर अपने भविष्य की खोज कर रहे हैं।

शेयर