अच्छी तरह से अपने काम करना चाहिये:हेड नर्स तू लीछून

2018-09-20 20:36:55
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

अच्छी तरह से अपने काम करना चाहिये:हेड नर्स तू लीछून

तू लीछून चीन के क्वांगशी ज्वान जाति स्वायत्त प्रदेश के नाननिंग शहर के चौथे जन अस्पताल के एड्स विभाग की हेड नर्स हैं, जो ज्वान जाति की एक महिला हैं। उन्होंने अपने सामान्य कार्य में उल्लेखनीय उपलब्धियां प्राप्त कीं। चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने दो बार उनसे भेंट की। हाल ही में तू लीछून ने संवाददाता को इन्टरव्यू देते हुए कहा कि महासचिव शी चिनफिंग राष्ट्रीय एकता व एड्स की रोकथाम कार्य पर बड़ा ध्यान देते हैं, इसलिये हमें अच्छी तरह से अपने काम करना चाहिये।

52 वर्षीय तू लीछून ने कॉलेज से स्नातक होने के बाद नाननिंग शहर के चौथे जन अस्पताल में काम करना शुरू किया। वर्ष 2005 में अस्पताल में एड्स विभाग की स्थापना की गयी। उन्होंने अपनी इच्छा से हेड नर्स करने का आवेदन दिया, और क्वांगशी में एड्स रोग के पहले नर्स दल की स्थापना की। इसके बाद वे डर को दूर करके लगातार एड्स से ग्रस्त रोगियों को शारीरिक देखभाल व मनोचिकित्सा करने का अध्ययन करती थी। साथ ही उन्होंने नर्स के काम में एड्स के संक्रमण की रोकथाम कैसे करने का उपाय भी ढूंढ़ निकाला। उन्होंने अपने काम में बहुत उल्लेखनीय उपलब्धियां हासिल कीं। वर्ष 2012 के दिसंबर में तू लीछून ने चीनी स्वास्थ्य प्रणाली का सर्वोच्च सम्मान बेथून पदक जीता। वर्ष 2015 के 23 सितंबर को उन्हें अंतर्राष्ट्रीय नर्स जगत के सब से ऊँचा पुरस्कार नाइटिंगेल पदक मिला।

नाइटिंगेल पुरस्कार मिलने के बाद महासचिव शी चिनफिंग ने खास तौर पर भीतरी मंगोलिया, क्वांगशी, तिब्बत, निंगश्या, शिंच्यांग पाँच स्वायत्त प्रदेशों से आए राष्ट्रीय एकता के 13 श्रेष्ठ प्रतिनिधियों को पेइचिंग में राष्ट्रीय दिवस मनाने की गतिविधि में भाग लेने का आमंत्रण किया। तू लीछून तो उन में से एक हैं। 30 तारीख को शी चिनफिंग ने उनसे मुलाकात की। जिसने तू लीछून पर गहरी छाप छोड़ी। उन के अनुसार,जब हमने अंदर प्रवेश किया, तो महासचिव ने हमारे साथ एक एक करके हाथ मिलाए। उन्होंने मुझ से पूछा कि आप कहां से आई हैं?किस जाति की हैं?और क्या काम करती हैं?उसी समय मैंने महासचिव से कहा कि आप को बहुत धन्यवाद। आशा है अगर मौका मिला, तो महासचिव जी ज़रूर हमारे सुन्दर क्वांगशी का दौरा करें। उसी समय महासचिव ने जवाब दिया कि हां, ज़रूर। उन के अलावा उन्होंने हर प्रतिनिधियों की बातों को ध्यान से सुना और जवाब दिया। हम बहुत स्नेह लगते हैं।

तू लीछून ने कहा कि महासचिव शी चिनफिंग ने इस मुलाकात में राष्ट्रीय एकता के महत्व पर प्रकाश डाला। जिसने उन पर गहरा प्रभाव डाला। उन्होंने कहा,महासचिव शी ने कहा कि हमारा चीनी राष्ट्र एक परिवार जैसा है। इस बड़े राष्ट्रीय परिवार में 56 जातियां समान सदस्य हैं। राष्ट्रीय एकता विभिन्न जाति की जनता का जीवन शक्ति है। विभिन्न जाति के बंधुओं को एक दूसरे की सहायता देकर एक साथ राष्ट्रीय एकता व देश की एकता की रक्षा करनी चाहिये। महासचिव से मिलने के बाद मैं बहुत प्रभावित हूं। पहले मैं केवल यह जानती थी कि अच्छी तरह से अपना नर्स का काम करना चाहिये। पर यह नहीं जानती थी कि हमारा काम राष्ट्रीय कार्य पर क्या प्रभाव डालते हैं?लेकिन इस बार की मुलाकात के बाद मैं समझती हूं कि हमारा काम राष्ट्रीय क्षेत्रों के स्वस्थ विकास के लिये भी महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर सकते हैं।

इस के बाद तू लीछून ने अपने काम में राष्ट्रीय एकता की रक्षा पर ध्यान दिया। उन्होंने परिचय देते हुए कहा कि नाननिंग शहर के चौथे जन अस्पताल में अल्पसंख्यक जाति के एड्स रोगियों का अनुपात 50 प्रतिशत से अधिक है। वे अपने दल का नेतृत्व करके काम करते समय आदान-प्रदान पर बड़ा ध्यान देती हैं, अल्पसंख्यक जाति के रोगियों की रीति-रिवाज़ों का सम्मान करती हैं। साथ ही रोगियों की कुछ बुरी आदतों को भी ठीक करने की कोशिश की गयी। उन के अलावा एड्स विभाग में स्नेहपूर्ण देवदूत नामक वीचेट समूह की स्थापना भी की गयी। इस में रोगियों को संबंधित ज्ञान व सावधानी का परिचय दिया जाता है। वर्ष 2016 में उन्होंने चीनी नाइटिंगेल स्वयंसेवक नर्स दल और क्वांगशी रेड क्रॉस नाइटिंगेल स्वयंसेवक दल की स्थापना की। अवकाश के समय में वे अकसर जनता के बीच एड्स की रोकथाम से जुड़ी जानकारियों का प्रसार-प्रचार करती हैं, और मादक-पदार्थों का विरोध करने के महत्व को बताती हैं। उन के अलावा उन का अस्पताल देश के एड्स विरोधी प्रशिक्षण अड्डे के रूप में क्वांगशी के 100 से अधिक एड्स के उपचार संस्थानों के चिकित्सकों को प्रशिक्षण देता है।

तू लीछून ने कहा कि अब वे सीमांत क्षेत्रों में अल्पसंख्यक जाति के एड्स चिकित्सा का अध्ययन कर रही हैं। उन के अनुसार,चीन के सीमांत क्षेत्र व अल्पसंख्यक जाति के क्षेत्र में एड्स से पीड़ित लोगों की संख्या ज्यादा है। क्वांगशी सीमांत क्षेत्र में स्थित है। इसलिये यहां एड्स रोगियों की संख्या ज्यादा है। मैंने एक ऐसा अध्ययन किया कि क्वांगशी के अल्पसंख्यक जातीय एड्स रोगियों को कैसे अन्य जातीय रोगियों की तरह देश की कुछ रियायत नीति से लाभ मिल सकेगा। ताकि वे दूर दराज जगहों में भी एड्स के चिकित्सा से जुड़ी जानकारियां प्राप्त कर सकें, समय के अनुसार उचित दवा खा सकेंगे, और स्वास्थ्य बहाल करके सामान्य सामाजिक गतिविधियों में भाग ले सकें।

वर्ष 2017 के 20 अप्रैल को महासचिव शी चिनफिंग ने क्वांगशी का निरीक्षण दौरा किया, और वहां एक बुनियादी प्रतिनिधियों की कार्य बैठक भी आयोजित की। तू लीछून ने इस बैठक में भाग लिया। उन्होंने संवाददाता से कहा कि उसी समय उन्होंने शी चिनफिंग को अपनी कार्य रिपोर्ट पेश की। फिर शी ने उनसे कुछ आश्चर्यजनक सवाल पूछे। उन्होंने कहा,कार्य रिपोर्ट देने के बाद महासचिव शी ने मुझ से चार सवाल पूछे। पहले, एड्स की संक्रमण स्थिति अभी तक बहुत गंभीर है?क्या यह शिथिल हो गयी?दूसरे, वर्तमान में क्या ड्रग सिरिंज का एक साथ प्रयोग करने से एड्स से संक्रमित रोग होते हैं?तीसरे, अब एड्स की मृत्यु दर कितनी है?और चौथे, कॉकटेल नामक चिकित्सा उपाय का परिणाम कैसा है?मैंने नहीं सोचा था कि महासचिव के सवाल इतने पेशेवर हैं। महासचिव के रूप में वे बहुत व्यस्त हैं। पर उन्होंने बहुत पेशेवर सवाल पूछे। तो हम पेशेवर व्यक्तियों को भी अपना काम अच्छी तरह से करना चाहिये।

हालांकि अब तू लीछून के पास बहुत काम हैं, लेकिन उन्होंने नर्सिंग काम कभी नहीं छोड़ा। वे अपने विभाग के सभी कर्मचारियों के साथ लगातार एड्स रोगियों की सेवा कर रही हैं। तू लीछून चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की 19वीं राष्ट्रीय कांग्रेस की प्रतिनिधि बनी। उन्होंने संवाददाता से कहा कि क्वांगशी में एड्स की स्थिति बहुत गंभीर है। पहले पूरे देश में वह दूसरे स्थान पर रहा। पाँच सालों की कोशिश के बाद अब वह तीसरे स्थान पर रहा। उन के अनुसार,हमारे अस्पताल में कुल आठ जातियों के कर्मचारी शामिल हैं। चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की राष्ट्रीय एकता नीति के नेतृत्व में हम मिल-जुलकर सामंजस्यपूर्ण रूप से काम करते हैं, कोशिश करते हैं, और संक्रामक बीमारियों की रोकथाम के लिये सकारात्मक योगदान देते हैं। मैं जानती हूं कि एड्स की रोकथाम व नियंत्रण जनता के स्वास्थ्य व सामाजिक विकास से जुड़ी एक महत्वपूर्ण बात है। एड्स को दूर करना एक कठोर व दीर्घकालीन काम है। भविष्य में हम ज़रूर और अच्छी तरह से जातीय क्षेत्रों में एकता व स्थिरता की रक्षा करेंगे, और जातीय क्षेत्रों के विकास के लिये अपने योगदान देंगे।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories