एक य्वान का प्रेम नाम का लोकोपकार कार्यक्रम 11 वर्षों में जारी

2018-08-09 17:40:51
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/4

चीन के क्वेईचो प्रांत के सानतू श्वेई जाती स्वायत्त काऊंटी के तूच्यांग कस्बे के च्याचाओ गांव में स्थित च्याचाओ प्राइमरी स्कूल के अध्यापकों और विद्यार्थियों के लिए 24 जुलाई को एक बहुत खुशी का दिन है। चीनी गरीबी उन्मूलन कोष के कार्यकारी उपाध्यक्ष वांग शिंगच्वेई, बाईशेन कंपनी की चीनी शाखा के सार्वजनिक मामलों की प्रमुख अधिकारी वांग लीची और मेनेजर छन वनरेई, तथा बाईशेन कंपनी के चीनी कर्मचारियों के प्रतिनिधि, मीडिया व स्वयंसेवक एक साथ इस ग्रामीण प्राइमरी स्कूल में आ गये। उन्होंने लाखों उपभोक्ताओं व बाईशेन के चीनी कर्मचारियों द्वारा प्रेम से इकट्ठा किये गए पौष्टिक भोजन, उपहार स्कूल के एक सौ से अधिक बच्चों को सौंपा गया।

एक य्वान का प्रेम नाम का लोकोपकार कार्यक्रम वर्ष 2008 में चीनी गरीबी उन्मूलन कोष द्वारा बाईशेन कंपनी की चीनी शाखा की सहायता से शुरू हुआ। इस कार्यक्रम ने गरीब क्षेत्रों में रहने वाले बच्चों को पौष्टिक भोजन देने और पोषण से जुड़ी ज्ञान का प्रसार-प्रचार करने के लिये पूरे समाज में प्रति व्यक्ति से एक य्वान का दान देने का आह्वान किया। अब यह बाईशेन कंपनी की एक सामाजिक जिम्मेदारी कार्यक्रम बन गया। और बाईशेन के अधीन लगभग आठ हजार रेस्तरां और संबंधित नेटवर्क ऑर्डरिंग सिस्टम द्वारा समाज से धन जुटाया जाता है। जिससे एक व्यापक लोकोपकार दान मंच की स्थापना की गयी।

चीनी गरीबी उन्मूलन कोष के कार्यकारी उपाध्यक्ष वांग शिंगच्वेई ने कहा कि इस वर्ष एक य्वान का प्रेम नाम का लोकोपकार कार्यक्रम की 11वीं वर्षगांठ ही है। यह कार्यक्रम व्यापक लोकोपकार को बढ़ावा देने का एक मॉडल बन गया। जिसे जनता की अत्यधिक मान्यता औऱ सकारात्मक भागीदारी मिली है। इसमें भाग लेने वाले नागरिकों की संख्या दस करोड़ से अधिक हो गयी। भागीदारी की यह संख्या व्यापक लोकोपकार कार्यक्रमों में सबसे अधिक है।

बाईशेन कंपनी की चीनी शाखा के सार्वजनिक मामलों की प्रमुख अधिकारी वांग लीची ने कहा कि बिते दस वर्षों में इस लोकोपकार कार्यक्रम ने गरीब क्षेत्रों में रहने वाले लाखों बच्चों के लिये प्रति दिन पौष्टिक भोजन दिया, और निरंतर उन बच्चों की पोषण स्थिति में सुधार किया। पौष्टिक भोजन देने के अलावा इस कार्यक्रम में पोषण और स्वास्थ्य से जुड़े ज्ञान का प्रसार-प्रचार भी शामिल किया गया। पोषण और स्वास्थ्य की ज्ञान पुस्तिका, व्याख्या पढ़ने से गरीब क्षेत्रों में रहने वाले बच्चे बचपन से सही पोषण विचार प्राप्त कर सकते हैं, और धीरे धीरे से उन के घर में भोजन संरचना का समायोजन भी किया जा सकता है। जिससे सारे क्षेत्र में पोषण विचार उन्नत हो जाएगा। दान देने की नयी शुरुआत से बाईशेन चाइना फिर एक बार ज्यादा उपभोक्ताओं को लेकर ज्यादा सामाजिक शक्ति इकट्ठा करके गरीबी क्षेत्रों के बच्चों के लिये पोषण व स्वास्थ्य स्थिति का सुधार करने की कोशिश करेगा।

गौरतलब है कि च्याचाओ प्राइमरी स्कूल क्वेईयांग शहर से 220 किलोमीटर दूर है, और सानतू श्वेई जाती स्वायत्त काऊंटी की कस्बे से भी 45 किलोमीटर दूर है। लेकिन पहाड़ी सड़क बहुत पतली और टेड़ी मेड़ी हैं, इसलिये 45 किलोमीटर के रास्ते को गाड़ी चलाने से आम तौर पर कम से कम डेढ़ घंटे चाहिये। इस स्कूल में पढ़ने वाले बच्चे आसपास के पाँच गांवों से आए हैं। उन में सब से दूर वाला स्कूल से 12 किलोमीटर दूर है। स्कूल में रहने वाले बच्चों की संख्या 90 प्रतिशत से अधिक पहुंची।

शेयर