चीन का राष्ट्रीय नेत्र दिवस

2018-06-13 17:12:33
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

चीन का राष्ट्रीय नेत्र दिवस

दोस्तो, इस वर्ष के 6 जून को चीन में 23वां राष्ट्रीय नेत्र दिवस था। अपूर्ण आंकड़ों के अनुसार वर्तमान में चीन में निकट दृष्टि दोष से पीड़ित लोगों की संख्या 45 करोड़ से अधिक हो चुकी है। बताया जाता है कि युवा आसानी से निकट दृष्टि दोष के शिकार बन जाते हैं। चीनी राष्ट्रीय चिकित्सा व स्वास्थ्य कमेटी ने 4 जून को आयोजित न्यूज़ ब्रीफिंग में कहा कि इस वर्ष नेत्र दिवस का मुद्दा है वैज्ञानिक रूप से निकट दृष्टि की रोकथाम और बच्चों की आंखों पर ध्यान देना।

पेइचिंग श्येहो अस्पताल की नेत्र-विज्ञान प्रोफ़ेसर सुश्री लुङ छिन ने कहा कि चीनी युवाओं में निकट दृष्टि दोष होने की दर तेजी से बढ़ रही है। असंपूर्ण आंकड़ों के अनुसार प्राइमरी स्कूलों में निकट दृष्टि घटनाओं की दर 30 प्रतिशत है, मिडिल स्कूलों में निकट दृष्टि घटनाओं की दर 60 प्रतिशत तक पहुंची। वहीं हाईस्कूलों में यह दर 80 प्रतिशत तक पहुंची, और विश्वविद्यालयों में लगभग 90 तक हो चुकी है।

चीनी राष्ट्रीय चिकित्सा व स्वास्थ्य कमेटी के चिकित्सा नीति व चिकित्सा प्रबंध ब्यूरो की उप प्रधान सुश्री ज्यो याह्वेई ने कहा कि चीन सरकार व संबंधित विभागों ने युवाओं के नेत्र स्वास्थ पर बड़ा ध्यान दिया, और इसे एक महत्वपूर्ण स्थान पर रखा। उन्होंने शिक्षा मंत्रालय व खेल मंत्रालय आदि विभागों के साथ व्यापक रूप से कदम उठाकर युवाओं की नेत्र संबंधी बीमारियों की रोकथाम में बड़ी कोशिश की। इस की चर्चा में ज्यो ने कहा कि,पहला, नीति की नेतृत्व करने की भूमिका मजबूत करना। वर्ष 2016 में सरकार के संबंधित विभागों ने संयुक्त रूप से बच्चों व युवाओं में निकट दृष्टि दोष की रोकथाम कार्य की राय जारी की। और इस कार्य को मजबूत करने के लिये पाँच आग्रह भी पेश किये । उक्त आग्रह ऐसे हैं कि इसे शिक्षा व स्वास्थ्य के विकास परियोजना में शामिल करना, प्रांतीय विशेषज्ञ दलों की स्थापना करना, व्यापक रूप से इस बीमार की रोकथाम करना, इसे बुनियादी सार्वजनिक चिकित्सा सेवा के आकलन लक्ष्य में शामिल करना, नेत्र स्वास्थ्य फ़ाइलों की स्थापना करना आदि।

सुश्री ज्यो के अनुसार स्कूल विद्यार्थियों के जीवन बिताने का मुख्य स्थल है। इसलिये चीनी राष्ट्रीय चिकित्सा व स्वास्थ्य कमेटी ने शिक्षा मंत्रालय के साथ सिलसिलेवार तैनाती भी की, ताकि विद्यार्थियों के लिये नेत्र स्वास्थ्य का अच्छा वातावरण तैयार किया जा सके। उन्होंने कहा,हमने स्कूल के क्लास रूम में प्रकाश, मेज़ व कुर्सी, ब्लैकबोर्ड, कंप्यूटर का प्रयोग करने का समय और एक दिन में पढ़ाई का समय आदि पर ठोस आग्रह किया है। क्लास रूम में नेत्र स्वास्थ्य के लिये वातावरण का सुधार किया गया। साथ ही विद्यार्थियों को अच्छी तरह से अपनी आंखों का प्रयोग करने की शिक्षा भी दी गयी। जिसने विद्यार्थियों में निकट दृष्टि की रोकथाम करने के लिये सकारात्मक भूमिका अदा की है।

सुश्री ज्यो ने यह भी बताया कि चीन की 13वीं पंचवर्षीय योजना में राष्ट्रीय नेत्र स्वास्थ्य योजना के अनुसार वर्ष 2016 से वर्ष 2020 तक चीन के बच्चों व युवाओं में निकट दृष्टि दोष की जांच व वैज्ञानिक रूप से इसका इलाज करने की गतिविधि की जा रही है। ताकि बच्चे निकट दृष्टि से दूर हो सकें।

हाल ही में चीनी राष्ट्रीय अंधापन विरोधी तकनीक मार्गदर्शक दल द्वारा बनाये गये निकट दृष्टि की रोकथाम गाइड, मंददृष्टि की चिकित्सा गाइड, तिर्यकदृष्टि का चिकित्सा गाइड औपचारिक रूप से जारी किए गए। एक पक्ष में उन गाइडों से चिकित्सा संस्था व नेत्र चिकित्सक सेवा देने में अपनी क्षमता को उन्नत कर सकते हैं। दूसरे पक्ष में विद्यार्थी व उन के मां-बाप इसे पढ़कर सही तरीके से आंखों का प्रयोग करने का विचार भी उन्नत कर सकते हैं। चीनी राष्ट्रीय अंधापन विरोधी तकनीक मार्गदर्शक दल के अध्यक्ष वांग निंगली ने कहा कि निकट दृष्टि को छोड़कर मंददृष्टि भी बच्चों में एक सामान्य नेत्र रोग है। उन के अनुसार,6 से 14 वर्षों तक के चीनी बच्चों में लगभग 3 प्रतिशत बच्चे मंददृष्टि से ग्रस्त हैं। वह छोटे बच्चों की दृष्टि के विकास, और दृष्टि की संज्ञा पर कुप्रभाव डालता है। इसलिये इस बार के गाइडों में मंददृष्टि पर बल दिया गया। यह भविष्य में मंददृष्टि के चिकित्सा बाजार के प्रबंध में ऐतिहासिक महत्व होगा।

 वांग निंगली ने यह भी कहा है कि तिर्यकदृष्टि और मंददृष्टि एक दूसरे से जुड़ते हैं। इसलिये गाइडों में तिर्यकदृष्टि से संबंधित जांच-पड़ताल व चिकित्सा के ठीक ठाक तरीके भी निश्चित किये गये।

चीनी राष्ट्रीय चिकित्सा व स्वास्थ्य कमेटी के चिकित्सा नीति व चिकित्सा प्रबंध ब्यूरो की उप प्रधान सुश्री ज्यो याह्वेई ने कहा कि चीन में हर साल 6 जून को राष्ट्रीय नेत्र दिवस मनाया जाता है। आशा है कि इस दिवस में आयोजित गतिविधियों से आम लोगों में नेत्र स्वास्थ्य से जुड़ी जानकारियों का प्रसार-प्रचार किया जा सकेगा, और नेत्र रोग की रोकथाम करने का विचार उन्नत किया जा सकेगा।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories