प्रेम भरे स्कूल बैग मित्रता का सेतु है

2018-05-17 14:07:30
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/6

दोस्तों, 26 अप्रैल को चीनी गरीबी उन्मूलन कोष और नेपाल में स्थित चीनी पूंजी वाले उद्यम संघ ने संयुक्त रूप से प्रेम भरे स्कूल बैग, कंप्यूटर कक्षा का दान देने की गतिविधि नेपाल की राजधानी काठमांडू में स्थित फूल चौकी स्कूल में आयोजित की। नेपाल स्थित चीनी राजदूत यू होंग, वाणिज्यिक काउंसिलर च्यांग फ़ेन और नेपाली कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) की उच्च स्तरीय नेता पुमफ़ा भुसाल समेत कई गणमान्य व्यक्तियों ने एक साथ इस दान समारोह में भाग लिया।

फूल चौकी स्कूल वहां की एक सरकारी स्कूल है। जिसकी स्थापना वर्ष 1959 में हुई थी। वर्ष 2015 के 25 अप्रैल को आए 8.1 तीव्रता वाले भूकंप में इस स्कूल की 90 प्रतिशत इमारतें बर्बाद हो गयीं। तीन सालों के बाद स्कूल का वातावरण अभी तक बहुत खराब है। विद्यार्थी स्टेशनरी और शिक्षण उपकरणों की आपात आवश्यकता में हैं। ऐसी स्थिति में नेपाल में स्थित चीनी गरीबी उन्मूलन कोष के शाखा कार्यालय ने इस दान गतिविधि का आयोजन किया। साथ ही नेपाल में स्थित चीनी पूंजी वाले उद्यम संघ ने इसका सकारात्मक समर्थन किया। इस संघ ने फूल चौकी स्कूल को एक कंप्यूटर कक्षा का दान किया, और विद्यार्थियों को अली-पे द्वारा चैरिटी दान के रूप में इकट्ठा हुए 400 प्रेम भरे स्कूल बैगों को दान दिया।

26 अप्रैल को फूल चौकी स्कूल में भीड़-भाड़ थी। विद्यार्थियों ने बहुत खुशी के साथ चीनी दोस्तों का स्वागत किया। अब इस स्कूल में दूसरे साल में पढ़ने वाले विद्यार्थी अरबिंद यादव ने हाथों में बैग लेकर हंसते हुए कहा कि,यह बैग लेकर मुझे बहुत खुशी हुई। इसमें पेंसिल बॉक्स, क्रेयॉन, किताबें और पेंसिल आदि सबकुछ है। मेरे लिये ये बहुत उपयोगी हैं।

जानकारी के अनुसार नेपाल में हुए गंभीर भूकंप के बाद तीन सालों में चीन लगातार अपनी क्षमता के दायरे में बुनियादी सुविधाओं के निर्माण, पहाड़ी क्षेत्रों में राहत कार्य, विरासत साइटों की मरम्मत, आपदा की रोकथाम, चिकित्सा ,स्वास्थ्य आदि पाँच क्षेत्रों में नेपाल की मदद करता रहा है। अब निश्चित सभी 22 कार्यक्रमों को शुरू किया गया है। साथ ही चीनी गरीबी उन्मूलन कोष ने भूकंप के आपात राहत कार्य समाप्त करने के बाद फ़ौरन नेपाल में अपने कार्यालय की स्थापना की। जो नेपाल में स्थित पहली पंजीकृत चीनी गैर सरकारी संगठन बन गया है। तीन सालों में नेपाल के भूकंप ग्रस्त 14 क्षेत्रों में रहने वाले 2 लाख 50 हजार लोगों को चीनी गरीबी उन्मूलन कोष से सहायता मिली है।

नेपाल स्थित चीनी पूंजी वाले उद्यम संघ के बहुत से चीनी दोस्त भी नेपाली जनता के साथ तीन सालों से पहले आए भूकंप से ग्रस्त हैं। उसी समय चीन और नेपाल की जनता भाई जैसे सहयोग करती थी। उन्होंने एक साथ चिकित्सा राहत में काम किया और खराब हुए रास्ते को फिर से बनाया। चीनी उद्यमों ने नेपाली मित्रों को मानवीय सहायता दी, और पैसे और सामग्रियों का दान भी दिया। उन्होंने नेपाल में आपदा के बाद पुनर्निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। 26 अप्रैल को आयोजित दान समारोह में नेपाल स्थित चीनी पूंजी वाले उद्यम संघ के अध्यक्ष वांग ज़ीयांग ने कहा कि संघ लगातार चीनी गरीबी उन्मूलन कोष के साथ सहयोग करके ज्यादा सामाजिक जिम्मेदारी उठाएगा, और नेपाल के विभिन्न जगतों के साथ आपदा के बाद पुनर्निर्माण के लिये ज्यादा योगदान देगा। उन्होंने कहा,तीन सालों में नेपाली सरकार और जनता की सहायता से नेपाल में चीनी पूंजी वाले उद्यम संघ लगातार अपना सामाजिक कर्तव्य निभा रहा है, और निरंतर रूप से आपदा के बाद राहत और सहायता कार्य करता है। जिसे स्थानीय जनता का हार्दिक स्वागत मिला। उनके अनुसार चीनी लोग हमारे रिश्तेदार हैं, और हमारे घनिष्ठ मित्र भी हैं। तीन साल बीत चुके हैं। दुःख मन से दूर हो गया है। इस विशेष दिन में हम हाथ में हाथ डालकर एक साथ प्रेम का विकास करेंगे।

नेपाली कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) की उच्च स्तरीय नेता पुमफ़ा भुसाल ने दान समारोह में परिचय देते हुए कहा कि नेपाल में भूकंप के राहत कार्य तीन चरणों में हुए हैं। पहला चरण भूकंप के बाद बचे लोगों के बचाव और महामारी की रोकथाम की है। दूसरा चरण आपदा ग्रस्त क्षेत्रों के लिये अस्थायी समाधान प्रस्ताव की है। और तीसरा चरण आपदा के बाद पुनर्निर्माण का है। चीन हर चरण में अनुपस्थित नहीं है। चीन हमेशा नेपाली जनता के साथ है। इस बात को नेपाली जनता कभी नहीं भूलेगी। उन्होंने कहा आज चीनी दोस्तों और चीनी पूंजी वाले उद्यमों ने हमें प्रेम भरे स्कूल बैग और कंप्यूटर कक्षा का दान दिया। नेपाल स्थित चीनी दूतावास के अधिकारियों समेत चीनी मेहमानों ने इस समारोह में भाग लिया। मेरे विचार में चाहे दान का विषय क्या है, वह चीनी जनता, चीनी उद्यम व चीन सरकार की मित्रता है। ऐसा करके दोनों देशों की जनता के बीच मित्रता और गहराई है।

नेपाल स्थित चीनी राजदूत यू होंग ने भाषण देते समय कहा कि आपदा के बाद किया गया पुनर्निर्माण एक बड़ा कार्यक्रम है। चीन नेपाल के समर्थन और सहायता के तले लगातार नेपाल के पुनर्निर्माण के लिये मदद देगा। उन्होंने कहा,कल सुबह मैंने एक कविता पढ़ी, जो वर्ष 2015 में रची गयी। इस कविता में हिमालय के दक्षिण में रहने वाली जनता के प्रति हिमालय के उत्तर में रहने वाली जनता का स्नेहपूर्ण अभिवादन दिखाया गया है। कविता में यह लिखा गया है कि हमारे बीच मित्रता भूकंप से टूटी नहीं है। हम शक्तिशाली हाथों से हिमालय के हंसमुख चेहरे को फिर दिखाएंगे। मुझे आशा है कि सभी विद्यार्थी यह जान सकेंगे कि हम हमेशा आप लोगों के साथ होंगे। उम्मीद है कि सभी विद्यार्थी मेहनत से पढ़कर अपने देश के विकास में योगदान करेंगे।

चीनी गरीबी उन्मूलन कोष के नेपाल कार्यालय की प्रधान सुश्री ज़ो चीछ्यांग ने परिचय देते हुए कहा कि चीनी गरीबी उन्मूलन कोष नेपाल के सामाजिक कल्याण मंत्रालय के साथ वर्ष 2018 से वर्ष 2020 तक की तीन वर्षीय परियोजना पर हस्ताक्षर करेगा। वह नेपाल में शिक्षा के समर्थन, महिला के प्रति माइक्रो फाइनेंस के समर्थन और युवा व्यवसाय के समर्थन समेत पाँच कार्यक्रमों में सहायता देगा।

शेयर