लैनथ्येन छुंलैइ प्राइमरी स्कूल के स्तर में हुआ सुधार

2017-11-06 17:00:55
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

लैनथ्येन छुंलैइ प्राइमरी स्कूल के स्तर में हुआ सुधार

चीन के युन्नान प्रांत के लीच्यांग शहर की यूलुङ काऊंटी के ज्यूहो गांव में लैनथ्येन छुंलैइ नामक एक प्राइमरी स्कूल है। वह एक दूर-दराज़ ग्रामीण प्राइमरी स्कूल है। स्कूल से काऊंटी तक गाड़ी से पहुंचने में एक घंटे लगता है। स्कूल में छात्रों के पढ़ने व रहने का वातावरण बहुत सरल था। पांच साल से पढ़ने वाली छात्रा शी श्याओश्या को पूरी तरह स्कूल के बारे में याद है। उन्होंने कहा,पहले हमारे स्कूल में केवल ईंट व लकड़ी वाले पुराने कमरे होते थे। बहुत खराब थे, इसलिये बारिश के दौरान छत से पानी गिरता था। और कुछ टाइलें भी आसानी से गिर जाती थीं। जमीन भी सपाट नहीं थी।

वर्ष 2009 में इस स्कूल को चीनी बाल कोष और वायु सेना के छुंलैइ सहायता कार्यक्रम से पूंजी मिली। इस कार्यक्रम को लागू करने के बाद अब तक सात साल हो चुके हैं। वायु सेना ने यूलुङ काऊंटी के ज्यूहो गांव की लैनथ्येन छुंलैइ प्राइमरी स्कूल को सहायता देकर तीन मंजिल वाली 12 रोशनीदार कक्षाओं का निर्माण किया है। छह सामान्य कक्षाओं के अलावा संगीत व कला कक्षा, कंप्यूटर कक्षा, प्रायोगिक उपकरण कक्षा, पुस्तकालय, खेलकूद उपकरण कक्षा आदि भी मौजूद हैं। जिससे स्कूल की स्थिति में व्यापक सुधार आया है।

लैनथ्येन छुंलैइ प्राइमरी स्कूल के स्तर में हुआ सुधार

वर्तमान में स्कूल में अध्यापकों समेत कुल 12 कर्मचारी हैं। पूरी स्कूल में छह वर्गों में पढ़ने वाले छात्रों की कुल संख्या 154 है। पढ़ाई व जीवन का माहौल सुधरने से बच्चे ज्यादा बेहतर ढंग से शिक्षा ले सकते हैं। यूलुङ काऊंटी के ज्यूहो गांव के लैनथ्येन छुंलैइ प्राइमरी स्कूल के प्रधानाचार्य याओ रेनज्यून ने कहा कि,इस स्कूल बिल्डिंग के बनने के बाद बच्चे विशाल व रोशनीदार वातावरण में पढ़ सकते हैं। यह बहुत अच्छा है। पहले के भवन में कक्षा व छात्रावास के अलावा अन्य सुविधाएं नहीं थी। पर हाल के कई वर्षों में स्कूल में बड़ा बदलाव हुआ है। उदाहरण के लिये भवन में फिल्म आदि देखने के लिए एक थिएटर भी है। जिसमें बच्चे कुछ श्रेष्ठ फिल्में देख सकते हैं। इससे बच्चों को बड़ा लाभ मिलता है। क्योंकि इससे पहले अगर छात्र एक फिल्म देखना चाहते थे, तो टिकट के लिए चालीस या पचास युआन खर्च करने होते थे। अब इस की ज़रूरत नहीं है। मुफ्त में बच्चे गांव में भी अच्छी फिल्में देख सकते हैं।

अब स्कूल की हर कक्षा में मल्टीमीडिया मशीन उपलब्ध है। पढ़ाने वाले उपकरण भी पहले से अधिक आधुनिक हो गए हैं। डिजिटल शिक्षा देने के लिये मजबूत आधार तैयार किया गया है। प्रधानाचार्य याओ रेनज्यून ने कहा,इस वर्ष शिक्षा का एक नया कार्यक्रम शुरू होगा। हम विकसित क्षेत्रों के अध्यापकों की क्लास का हमारे स्कूल में सीधा प्रसारण करना चाहते हैं। हमारे बच्चे पढ़ने के बाद यहां के अध्यापक फिर समीक्षा देंगे और पूरक शिक्षा देंगे। इस तरीके से हम विकसित क्षेत्रों में श्रेष्ठ शिक्षा संसाधनों का प्रयोग कर सारे देश में शिक्षा का संतुलन प्राप्त कर सकेंगे।

लैनथ्येन छुंलैइ प्राइमरी स्कूल के स्तर में हुआ सुधार

उनके अलावा वायु सेना गरीब छात्रों को छात्रवृत्ति भी देती है। वर्ष 2009 से वर्ष 2011 तक स्कूल में कुल 24 छात्राओं को छुनलैइ छात्रा छात्रवृत्ति मिली है। और वर्ष 2014 से वर्ष 2016 तक और 50 बच्चियों को यह सहायता मिली है। छात्रा शी श्याओश्या ने हमें बताया,मुझे दो वर्ग से सहायता मिलने लगी। हर सेमेस्टर में 200 युआन की छात्रवृत्ति दी जाती है। मुझे याद है महिला संघ व वायु सेना के लोगों ने यहां आकर हमें देखा है। समाज के विभिन्न क्षेत्रों से मदद लेकर मैं बहुत खुश हूं। छात्रवृत्ति सीधे हमें मिलती है। मैं इससे कुछ पुस्तकें या शिक्षा सामग्री खरीद सकती हूं।

छुनलैइ सहायता कार्यक्रम शिक्षा के हार्डवेयर उपकरणों का सुधार करने के साथ साथ सॉफ्टवेयर के निर्माण पर भी बड़ा ध्यान देता है। इस कार्यक्रम को लागू करने के बाद स्कूल के कुल 11 शिक्षकों ने पेइचिंग विश्वविद्यालय में प्रशिक्षण लिया है। ग्रामीण स्कूलों के लिए पेइचिंग में प्रशिक्षण लेना बहुत मुश्किल होता है। लेकिन छुनलैइ स्कूल के अधिकतर शिक्षकों को पेइचिंग विश्वविद्यालय में प्रशिक्षण लेने का मौका मिलता है। जिससे अध्यापकों का उत्साह बढ़ गया है। साथ ही उन्होंने शिक्षा के उच्च विचार व तरीका सीखकर अपने स्कूल में शिक्षा की गुणवत्ता को बढ़ाया है। गणित की शिक्षक डाए चेनयून ने अभी अभी   प्रशिक्षण लिया है। उनके अनुसार,इस वर्ष की जुलाई में मैंने छुनलैइ शिक्षक प्रशिक्षण में भाग लिया। प्रशिक्षण में मैंने शिक्षा के बारे में कुछ नयी चीजें सीखी हैं। मैं उन बातों को हमारे स्कूल में प्रयोग करना चाहती हूं। और सभी लोगों के साथ ये विचार-धारा साझा करना चाहती हूं।

लैनथ्येन छुंलैइ प्राइमरी स्कूल के स्तर में हुआ सुधार

छुनलैइ योजना लागू होने के बाद यूलुङ काऊंटी के ज्यूहो गांव में लैनथ्येन छुंलैइ प्राइमरी स्कूल में छात्र परीक्षा में अच्छे अंक हासिल करने लगे हैं। अध्यापक भी शांत से शिक्षा दे सकते हैं। प्रधानाचार्य याओ रेनज्वून ने कहा कि अब छात्रों के व्यापक अंक पूरे गांव में हमेशा पहले स्थान पर रहे। उन्होंने कहा,स्कूल के उपकरणों में सुधार आ चुका है। शिक्षकों की गुणवत्ता भी बढ़ गयी है। इसलिये छात्र भी बेहतर अंक प्राप्त करने लगे हैं। बच्चों के माता-पिता हमारे स्कूल पर बड़ा विश्वास करते हैं। हर अध्यापक पर बहुत उत्तरदायित्व हैं। उन्होंने पेइचिंग में प्रशिक्षण लेकर वापस लौटकर अन्य अध्यापकों को दूसरा प्रशिक्षण दिया, जो स्कूल के विकास के लिये बहुत लाभदायक है। साथ ही अध्यापक अपने ज्ञान को आसपास के स्कूलों के साथ साझा करते हैं। आदान-प्रदान व प्रशिक्षण देकर वे हमारे स्कूल के अच्छे अनुभवों का अन्य स्कूलों में प्रसार-प्रचार करते हैं। यह भी एक बहुत अच्छी बात है।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories