पेइचिंग ओपेरा की कलाकार शी यीहोंग की कहानी

2017-10-15 20:39:00
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

पेइचिंग ओपेरा की कलाकार शी यीहोंग की कहानी

पेइचिंग ओपेरा की कलाकार शी यीहोंग 

शांगहाई के पेइचिंग ओपेरा थिएटर के कलाकारों द्वारा प्रस्तुत “चाँदनी रात में चलते हुए” शीर्षक नाटक हाल में बेल्जियम और फ्रांस में प्रदर्शित किया गया, जिसे यूरोपीय दर्शकों की वाहवाही मिली। इस नाटक की प्रमुख अभिनेत्री, चीनी ओपेरा जगत में उच्च स्तरीय पुरस्कार “बेर फुल पुरस्कार” की विजेता शी यीहोंग ने चाइना रेडियो इन्टरनेशनल को दिए एक इन्टरव्यू में कहा कि चीनी ओपेरा अभिनेता-अभिनेत्री को अंतरराष्ट्रीय मंच पर आत्मविश्वास का परिचय देना चाहिए। आधुनिक पेइचिंग ओपेरा की अभिनेत्री के रूप में उनका अधिकाधिक दर्शकों को पेइचिंग ओपेरा का मनोरंजन करवाने और कला की सुन्दरता दिखाने का उत्तरदायित्व है। 

  “चाँदनी रात में चलते हुए” शीर्षक नाटक प्रदर्शन के दौरान अभिनेत्री शी यीहोंग ने“छांग-अ”के पात्र का अभिनय किया। चीन की पौराणिक कहानी में छांग-अ चांद की देवी है। चीनी पंचांग के अनुसार साल के हर आठवें माह की 15 तारीख को मध्य शरद उत्सव मनाया जाता है। वह चीन के वसंत त्योहार समेत तीन प्रमुख पुरातन परंपरागत त्योहारों से एक है। मध्य शरद उत्सव की रात चीनी लोग सपरिवार मुनकेक और मीठे फल खाते हुए रोशनीदार चांद के सौंदर्य का आनंद उठाते हैं। कभी कभी लोग “छांग-अ के चाँद की ओर उड़ान” नामक पौराणिक कहानी सुनाते हैं।

“चाँदनी रात में चलते हुए” शीर्षक नाटक में पेइचिंग ओपेरा की विभिन्न किस्म की गायन शैली शामिल हुई एक समारोह है, जिसमें प्राचीन काल से लेकर अब तक चीनी लोगों का जन्मस्थान के प्रति लगाव, पारिवारिक प्यार, प्रेम और सुन्दर जीवन के प्रति लोगों की जिज्ञासा जाहिर होती है। अभिनेत्री शी यीहोंग ने इस नाटक समारोह में “छांग-अ” नाम की देवी का अभिनय किया है। उनके विचार में “चाँदनी रात में चलते हुए” नामक इस नाटक समारोह में चांद को केंद्र बनाकर पेइचिंग ओपेरा के माध्यम से दर्शकों को एक नया रूप दिखाया है। ओपेरा के प्रदर्शन के दौरान चिंगहू जैसी गहरी आवाज़ वाले वाद्ययंत्र का प्रयोग नहीं किया गया। इस तरह का नाटक शायद पुराने पेइचिंग ओपेरा प्रेमियों का मनोरंजन न कर पाये, लेकिन यह कहीं न कहीं एक हितकारी नवाचार है। उन्होंने कहा:

पेइचिंग ओपेरा की कलाकार शी यीहोंग की कहानी

शी यीहोंग चांद की देवी“छांग-अ”के पात्र का अभिनय करते हुए

“मुझे लगता है कि हमें पारंपरिक ओपेरा का विकास करते समय नवाचार का भी ध्यान रखना चाहिए। आजकल युवा लोग पारंपरिक पुराने ओपेरा को कम स्वीकार करते हैं। लेकिन पेइचिंग ओपेरा के गायन और कविता के साथ जोड़ना युवा लोग ज्यादा आसानी से स्वीकार कर सकते हैं।”  

पेइचिंग ओपेरा की अभिनेत्री शी यीहोंग चीन में मशहूर ओपेरा कलाकार हैं। उन्होंने मुख्य रचयिता के रूप में शांगहाई संगीत कॉलेज के साथ “सफेद नाग- प्रेम की चार ऋतु” नामक पेइचिंग ओपेरा संगीत नाटक रचा। इस नाटक को चीन में लोकप्रिय सफेद नाग और मानव श्यू श्यान के बीच प्रेमकथा पर बनाया गया है, जिसमें चीनी पारंपरिक पेइचिंग ओपेरा, पश्चिमी सिंफोनी संगीत, मल्टीमीडिया जैसे तत्व शामिल कर एक पौराणिक प्रेम कहानी सुनायी गयी। इस रचना को चीनी संस्कृति मंत्रालय का चौथा “नवाचार पुरस्कार” हासिल हुआ। इसके अलावा, शी यीहोंग ने फ्रांसीसी लेखक विक्टर ह्यूगो के उपन्यास《नोट्रे डेम डे पेरिस》के अनुसार《बेल टॉवर में प्रेम》नामक नाटक बनाया। इस नाटक की कहानी उपन्यास की कहानी के बिलकुल समान है, लेकिन अभिनेता-अभिनेत्री और उनका प्रदर्शन सब चीनी शैली के हैं। शी यीहोंग को आशा है कि इस पेइचिंग ओपेरा के नाटक को यूरोप में प्रदर्शित किया जाएगा। उनका कहना है:

 “शांगहाई में प्रदर्शन के दौरान इस नाटक को देखने के लिए कई विदेशी दर्शक आए हैं। इसे देखकर उन्हें बहुत प्रभावित हुआ। कहते थे कि यह बहुत रुचिकर नाटक है। कुछ लोग दूसरे दिन एक बार फिर इसे देखने आए। उन्होंने कहा कि नाटक प्रदर्शित के दौरान अनुशीर्षक देखने के बिना वे बिलकुल समझ सकते हैं कि अभिनेता और अभिनेत्री क्या गा रहे हैं और क्यों नाच रहे हैं। पेइचिंग ओपेरा शैली का यह नाटक विदेशी ओपेरा से बिलकुल अलग है। यह न तो पश्चिमी संगीत ओपेरा है, और न ही बैले भी है, लेकिन इसकी मानसिक भावना एक ही है। हम चीनी शैली से विदेशी कहानी सुना रहे हैं।”  

पेइचिंग ओपेरा की कलाकार शी यीहोंग की कहानी

शी यीहोंग चांद की देवी“छांग-अ”के पात्र का अभिनय करते हुए

वास्तव में कुछ समय पूर्व अभिनेता शांग छांगरोंग और अभिनेत्री शी यीहोंग द्वारा प्रस्तुत पारंपरिक पेइचिंग ओपेरा《विदाई मेरी उप पत्नी》नामक नाटक को अमेरिका में महानगर कला संग्रहालय में लगातार 12 बार प्रदर्शित किया गया, जिसे स्थानीय लोगों का हार्दिक स्वागत मिया। बता दें कि साल 1987 में दिवंगत चीनी पेइचिंग ओपेरा कलाकार मई लानफांग ने पेइचिंग ओपेरा को अमेरिका में ले लिया। मई शैली के उत्तराधिकारी के रूप में शी योहोंग के विचार में पेइचिंग ओपेरा को देश के बाहर लाना चाहिए, ताकि अधिक से अधिक पश्चिमी लोग चीन की पारंपरिक संस्कृति के बारे में ज्यादा जानकारी हासिल कर सकें। उन्होंने कहा:

 “मुझे लगता है कि मई शैली के उत्तराधिकारी के रूप में पेइचिंग ओपेरा को देश के बाहर पहुंचाना, अधिक से अधिक पश्चिमी लोग पेइचिंग ओपेरा की सुन्दरता का मनोरंजन करवाना हमारा कर्तव्य है।”

मित्रों, पेइचिंग ओपेरा का जन्म छिंग राजवंश में हुआ था, जिसका इतिहास दो सौ से अधिक साल पुराना है। अपने विकास का इतिहास लम्बा नहीं होने के बावजूद पेइचिंग ओपेरा चीन के 5 हज़ार वर्ष की सभ्यता के आधार पर कायम हुआ है। साल 2010 में इसे संयुक्त राष्ट्र के《मानव जाति के गैर-भौतिक सांस्कृतिक अवशेष की सूची》में शामिल किया गया। अंतरराष्ट्रीय मंच पर सक्रिय रही पेइचिंग ओपेरा की कलाकार शी यीहोंग ने कहा:

 “चीनी ओपेरा के अभिनेता-अभिनेत्री को अंतरराष्ट्रीय मंच पर जरूर आत्मविश्वास स्थापित करना चाहिए। शास्त्रीय संगीत ओपेरा और बैले के प्रदर्शन के लिए अभिनेता और अभिनेत्री को लम्बे समय तक प्रशिक्षित किया जाना जरूरी है। पेइचिंग ओपेरा के लिए भी लम्बा समय चाहिए। पेइचिंग ओपेरा दूसरे शास्त्रीय कला के बराबर है। इसके प्रदर्शन के लिए लम्बे समय के प्रशिक्षण के साथ-साथ चीनी संस्कृति से जुड़े प्रशिक्षण की भी आवश्यकता है।”

पेइचिंग ओपेरा की अभिनेत्री के रूप में शी यीहोंग ने कहा कि विदेशी दर्शकों के सही मायने में पेइचिंग ओपेरा को समझने के लिए अच्छी रचना जरूरी है। उनका कहना है:

 “मेरे विचार में दूसरे को छू जाने वाली रचना ऐसी होनी चाहिए कि इसे देखने के बाद मानव जाति की भावना महसूस किया जा सके। यह एक महत्वपूर्ण बात है। जैसा कि《विदाई मेरी उप पत्नी》नाम का नाटक एक अच्छे विषय वाली रचना है। अच्छी गायन शैली अपनाने के साथ ही दूसरों के दिल को छू जाने वाले विषय जरूरी है। इस प्रकार की रचना दर्शकों के मन में प्रवेश कर सकती है।”

 

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories