बाल पुस्तकों के विकास की दिशा

2017-08-18 13:48:16
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

दोस्तो, 31 मई से 1 जून तक वर्ष 2017 कहानी ड्राइव महासभा पेइचिंग में उद्घाटित हुई। कहानी ड्राइव प्रकाशन उद्योग में सम्मेलन का एक ब्रांड है, जिसकी स्थापना जर्मनी के फ्रैंकफर्ट पुस्तक मेले में हुई। वर्ष 2012 में चीन में प्रवेश किया। अभी तक इसका आयोजन चार बार सफलतापूर्वक किया जा चुका है। 31 मई को आयोजित कहानी ड्राइव महासभा में चीन व जर्मनी के प्रकाशन उद्योग से आए लोगों ने बाल पुस्तकों के विकास पर चर्चा की।

दोस्तों, बाल पुस्तकें व चित्रपूर्ण पुस्तकें अब प्रकाशन व मीडिया उद्योग में विकास का एक इंजन है। चीन में समाज व परिवार बच्चों की शिक्षा पर बड़ा ध्यान देते हैं। खासतौर पर एक परिवार में दो बच्चे की नीति लागू किये जाने के बाद इस बाजार में नयी शक्ति डाली गयी। श्याओ चुंग शीन प्रकाशन-गृह के मुख्य संपादक लू सो ने वर्ष 2017 कहानी ड्राइव महासभा में कहा कि पिछले एक दशक में चीन के बाल पुस्तक बाजार का तेज विकास हुआ है। वर्तमान में बाल पुस्तकों की कुल बिक्री रकम बीस अरब य्वान आरएमबी तक पहुंच गयी। उन्होंने कहा कि,वास्तव में बाल पुस्तक उद्योग व बाल प्रकाशन दोनों बाल उद्योग का एक भाग है। अगर प्रकाशन बाजार की कुल रकम 80 अरब य्वान है, तो इसके हिसाब से बाल पुस्तकों का अनुपात पूरे बाजार का 23 प्रतिशत है। तो बाल पुस्तकों की कुल रकम 16 अरब य्वान है। उनके अलावा डांगडांग व अमेजन को मिलाकर चीनी बाल प्रकाशन बाजार की कुल रकम लगभग 20 अरब है।

बाजार की बड़ी निहित शक्ति से ज्यादा से ज्यादा प्रकाशन-गृह बाल पुस्तकों के प्रकाशन में शामिल करना चाहते हैं। आंकड़ों के अनुसार सारे चीन के 90 प्रतिशत से अधिक प्रकाशन-गृह बाल पुस्तकों का प्रकाशन करते हैं। लू सो ने कहा कि इन्टरनेट के बड़े विकास के युग में बाल पुस्तकों की बिक्री व प्रबंध के सामने नयी चुनौतियां व मौके पैदा होंगे। भविष्य में बिग डेटा के अच्छे प्रयोग से बाल पुस्तकों की सृजन व प्रकाशन को एक नयी मंजिल पर पहुंचाया जाएगा। उन्होंने कहा,भविष्य में डेटा संचय व डेटा ड्राइव के बिना कंपनी की प्रतिस्पर्द्धा शक्ति बहुत कम होगी। इसलिये हमें आज से उपयोगकर्ताओं का संचय करना पड़ता है। यह संचय डांगडांग आदि इंटरनेट कंपनी द्वारा किये गये संचय की तरह नहीं है। वह डेटा उपयोगकर्ताओं द्वारा पुस्तकों का प्रयोग करने से जुड़ी डेटा है। उदाहरण के लिये वे कब किताब पढ़ते हैं?कहां पर रुकते हैं?कहां पर दोबारा पढ़ते हैं?ऐसे डेटा प्राप्त करके आप जान पाएंगे कि उपयोगकर्ताओं को क्या पसंद है?और क्या नहीं पसंद है?क्योंकि बीते समय में हमें केवल व्यक्तिगत पाठकों के आधार पर कुछ असंपूर्ण निष्कर्ष प्राप्त हुए हैं। पर आज बिग डेटा द्वारा हम उपयोगकर्ताओं के ठोस आंकड़े पाकर ज्यादा कारगर निष्कर्ष प्राप्त कर सकते हैं।

लू सो ने बल देकर कहा कि केवल उच्च गुणवत्ता बाल पुस्तकें बाजार पर हावी होंगी। उनका यह विचार ऑस्ट्रिया प्रकाशक मैकल नेउगेबौएर के विचार से मेल खाता है। मैकल द्वारा संचालित मिनेडिशन कंपनी का चित्रपूर्ण पुस्तकें विश्व के विभिन्न देशों में लोकप्रिय हैं। उनके ख्याल से बाल पुस्तकों का कलात्मक मूल्य बड़ी उम्र के लोगों की किताबों से कम नहीं है। उन्होंने कहा,बच्चों के लिये प्रकाशित पुस्तकों की डिज़ाइन, शब्द व कला सबसे अच्छी व प्रभावशाली होना चाहिये। मुझे विश्वास है कि अच्छा चरित्र मां-बाप के जीन से नहीं मिलता, वह केवल शिक्षा लेने से प्राप्त होता है। बच्चे जल्द से जल्द सुन्दर कला व लेख के संपर्क में आएंगे, तो उन्हें वर्तमान व भविष्य में ज्यादा से ज्यादा लाभ मिल सकेगा। वे जानते होंगे कि संस्कृति व कला को कैसे समझ सकते हैं और इनसे मज़ा कैसे ले सकते हैं। अच्छी गुणवत्ता वाली चित्रपूर्ण पुस्तकों को हर कोई पसंद करेगा।

हालांकि देसी बाल पुस्तकों की अपेक्षा चीनी लोगों को विदेशी चित्रपूर्ण पुस्तकें ज्यादा पसंद हैं। क्योंकि चीनी बाल पुस्तकों की गुणवत्ता संतोषजनक नहीं है। पर ध्यानाकर्षक बात यह है कि हाल के कई वर्षों में चीन के प्रकाशन बाजार में कई श्रेष्ठ बाल पुस्तकें बाजार में आई हैं। क्योंकि उच्च गुणवत्ता वाली देसी बाल पुस्तकें छोटे चीनी पाठकों के लिए ज्यादा उचित हैं। इसलिये चीनी माता-पिता ऐसी किताबों का चयन करते हैं। खास तौर पर चीन के प्रसिद्ध लेखक छाओ वनश्वेन को अंतर्राष्ट्रीय एंडरसन पुरस्कार मिलने के बाद यह रुझान और स्पष्ट हो गया। आंकड़ों के अनुसार हाल ही में छाओ वनश्वेन द्वारा लिखी पुस्तकों की बिक्री पुरस्कार मिलने से पहले की 17 गुना हो गयी।

31 मई में आयोजित कहानी ड्राइव महासभा में कलाकार चू इंगछुन ने अपने लिखी कीट के पास और कीट की किताब आदि पुस्तकों का अनुभव साझा किया। गौरतलब है कि चू इंगछुन को कई बार विश्व में सबसे सुन्दर पुस्तक का पुरस्कार प्राप्त हुआ है। उनकी पुस्तकों में कीट की दुनिया को रिकार्ड किया गया, जो बच्चों के लिये प्रकृति को जानने का सबसे अच्छा अध्यापक है। उन्होंने कहा,हर दिन मैं कोई न कोई आश्चर्यजनक कहानी ढूंढ़ता हूं। जब मैंने एक सुन्दर फूल देखा, और कैमरे से इसकी फ़ोटो लेनी चाही। तो अचानक यह फूल चलने लगा। मैं हैरान हुआ। फिर मैंने ध्यान से देखा तो पता लगा कि यह कीट की पूंछ है। अगर दो चींटियां लड़ाई कर रही हैं, तो मैं लंबे समय तक उनकी लड़ाई देखता हूं। ये देखकर मेरे दिमाग में बहुत कहानियां बनती हैं। और कीट के पास नामक इस पुस्तक में ऐसी कहानियां शामिल हैं। चीनी टीवी स्टेशन सीसीटीवी ने इस पुस्तक को चीन की श्रेष्ठ पुस्तक की उपाधि दी। क्योंकि इसमें शामिल कहानियां बहुत दिलचस्प हैं और चित्र भी सुन्दर हैं। इसलिये बहुत-से मीडिल व प्राइमरी स्कूलों ने बच्चों को इस किताब को पढ़ने का प्रोत्साहन दिया।

अरिजनल बाल पुस्तकों के विकास से यह जाहिर हुआ है कि चीन का बाल पुस्तक बाजार और परिपक्व हो गया। वरिष्ठ लोगों ने कहा कि दस वर्षों के तेज विकास के बाद चीन का बाल पुस्तक बाजार बदलने के एक मोड़ पर आ पहुंचा है। यानी विकास के व्यापक तरीके को ज्यादा ठोस बनाएं। विभिन्न पाठकों के प्रति विभिन्न बाजार की स्थापना करें। पुस्तकों की गुणवत्ता को उन्नत करें। अरिजनल पुस्तकों का प्रोत्साहन दें। ताकि चीनी पुस्तक बाजार को विकास का अगला स्वर्णिम दशक मिल सके।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories