मार्च में विनिर्माण उद्योग की पीएमआई के बड़े पलटाव से मिले तीन संकेत

2020-04-24 18:04:40
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

मार्च में विनिर्माण उद्योग की पीएमआई के बड़े पलटाव से मिले तीन संकेत

चीनी राष्ट्रीय सांख्यिकी ब्यूरो के सेवा उद्योग सर्वेक्षण केंद्र, चीनी रसद और खरीद संघ द्वारा 31 मार्च को जारी आंकड़ों के अनुसार इस वर्ष के मार्च में चीनी विनिर्माण उद्योग की पीएमआई 52 प्रतिशत रही, जो फरवरी से 16.3 प्रतिशत अधिक रही। विनिर्माण उद्योग की पीएमआई में बड़ा बदला क्यों आया?संबंधित विभागों और विशेषज्ञों ने संवाददाता के साथ इंटरव्यू में इस का कारण बताया। सुनिए विस्तार से।

पहला संकेत है कि उद्यमों के उत्पादन और संचालन की स्थिति फरवरी से स्पष्ट रूप से बेहतर हो रही है।

पीएमआई एक श्रृंखला सूचकांक है,जो पिछले महीने की तुलना में इस महीने में हुआ आर्थिक बदलाव दिखाया गया है। इस सूचकांक में परिवर्तन पिछले महीने के आधार से संबंधित है।

चीनी राष्ट्रीय सांख्यिकी ब्यूरो के सेवा उद्योग सर्वेक्षण केंद्र के प्रधान के विश्लेषण के अनुसार इस वर्ष की शुरूआत से अब तक नोवल कोरोना वायरस का हमारी अर्थव्यवस्था पर गंभीर प्रभाव पड़ा है। विशेषकर फरवरी में पीएमआई इतिहास में सबसे निचले स्तर पर गिर गई, यहां तक कि 2008 के अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय संकट के दौरान की तुलना में भी कम है। अल्पावधि में आर्थिक गतिविधियों में तेजी से अनुबंध हुआ। मार्च में चीन ने महामारी की रोकथाम और नियंत्रण, आर्थिक और सामाजिक विकास पर जोर दिया, जिसमें सकारात्मक उपलब्धियां हासिल हुई। महामारी को रोकने की स्थिति लगातार बेहतर की जा रही है। उद्यमों में उत्पादन तेजी से बहाल हो रहा है।

25 मार्च तक पूरे देश में क्रय प्रबंधकों का सर्वेक्षण किए गए उद्यमों में 96.6 प्रतिशत के बड़े और मध्यम आकार के उद्यमों ने उत्पादन बहाल किया, जो फरवरी से 17.7 प्रतिशत अधिक रही। इसमें 98.7 प्रतिशत विनिर्माण उद्यमों ने उत्पादन बहाल किया, जो 13.1 प्रतिशत अधिक रहा।

आंकड़ों के मुताबिक बाजार में आपूर्ति और मांग में सुधार हुआ है। उत्पादन सूचकांक और नया आदेश सूचकांक 54.1 प्रतिशत और 52 प्रतिशत रही, जो फरवरी से 26.3 प्रतिशत और 22.7 प्रतिशत अधिक रही। उद्यमों की भविष्यवाणी भी बढ़ रही है। विनिर्माण उद्योग में उत्पादन और व्यापार गतिविधियों की अपेक्षित सूचकांक 54.4 प्रतिशत रही, जो फरवरी से 12.6 प्रतिशत अधिक रही।

इस प्रधान ने यह भी कहा कि मार्च में विनिर्माण उद्योग की पीएमआई फरवरी में गिरने की स्थिति पर बढ़ रही है, जिससे यह जाहिर है कि मार्च में उद्यमों के उत्पादन और संचालन की स्थिति स्पष्ट रूप से फरवरी की तुलना में अधिक सकारात्मक बदलाव हुआ है।

123MoreTotal 3 pagesNext

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories